डीसी ने कहा- समारोह में कोई न डालें व्यवधान किसान नेता बोले- होगा राष्ट्रीय पर्व का सम्मान

डीसी ने कहा- समारोह में कोई न डालें व्यवधान किसान नेता बोले- होगा राष्ट्रीय पर्व का सम्मान

जागरण संवाददाता करनाल डीसी निशांत कुमार यादव ने शनिवार को लघु सचिवालय के सभागार में

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 05:41 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, करनाल: डीसी निशांत कुमार यादव ने शनिवार को लघु सचिवालय के सभागार में आमंत्रित विभिन्न किसान नेताओं से आग्रह किया कि 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर किसानों की ओर से किसी प्रकार का व्यवधान न हो। न ही काले झंडे दिखाए जाएं और न ही भीड़ एकत्रित कर नारे लगाए जाएं।

यदि कोई ऐसा करेगा तो उसके खिलाफ सख्ती से निपटा जाएगा। इस कार्यक्रम में ध्वजारोहण, परेड और सराहनीय कार्य करने वाले व्यक्तियों और युद्ध वीरांगनाओं को सम्मानित किया जाएगा। बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रम और झांकियों का प्रदर्शन नहीं होगा। कार्यक्रम में हरियाणा के सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल ध्वजारोहण करेंगे।

समारोह में बाधा डालना तिरंगे का अपमान: डीसी

डीसी ने कहा कि 26 जनवरी हमारा राष्ट्रीय पर्व है। इसके आयोजन में किसी प्रकार की बाधा डालना राष्ट्र के साथ-साथ तिरंगे का अपमान है, जो किसी भी सूरत में नहीं होना चाहिए। उन्होंने किसानों से कहा कि आप जिम्मेदार वर्ग से हैं और प्रशासन को पूरा यकीन है कि आप ऐसा नहीं करेंगे। वार्ता करते हुए उन्होंने पिछले दिनों जिला के कैमला में हुए एक राजनीतिक कार्यक्रम में किसानों के विरोध प्रकरण का जिक्र किया और कहा कि प्रशासन को यह कार्यक्रम शांतिपूर्वक करने की उम्मीद थी, किसानों ने भी कार्यक्रम में किसी प्रकार का व्यवधान न डालने का भरोसा दिलाया था, लेकिन बावजूद इसके कुछ लोगों ने वहां उपद्रव मचाया। जिला और उपमंडल स्तर पर होगा समारोह

डीसी ने किसानों को बताया कि गणतंत्र दिवस पर न केवल करनाल मुख्यालय, बल्कि जिला के असंध, घरौंडा और इंद्री उपमंडल में भी गणतंत्र दिवस समारोह मनाया जाएगा। सभी जगहों पर प्रशासन की ओर से कानून व शांति बनाए रखने तथा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। डीसी की अपील पर किसानों की सहमति

किसान नेताओं की उपायुक्त के साथ वार्ता सौहार्दपूर्ण हुई, विभिन्न किसान संगठनों के उपस्थित नेताओं की ओर से गन्ना किसान संघर्ष समिति के प्रधान और किसान नेता रामपाल चहल ने डीसी को पूर्ण भरोसा दिलाया कि 26 जनवरी का अपमान हमारा अपमान होगा। कोई भी किसान यूनियन इसमें किसी तरह का व्यवधान नहीं डालेगी। किसान नेता ने कहा कि हम किसान हैं, हमारा प्रदर्शन दिल्ली में है और वह भी शांतिपूर्वक रहेगा। हम करनाल में भी राष्ट्रीय पर्व पर पूरी तरह से वफादार रहेंगे। इसकी हम नैतिक जिम्मेदारी लेते हैं।

इस अवसर पर किसान नेता अजय राणा, मंजीत चौगामा, सतीश कलसौरा, सुरेंद्र कलसौरा, जेपी शेखपुरा, यशपाल राणा और जोगिद्र सिंह मौजूद रहे। राष्ट्रीय पर्व मनाना नैतिक और वैधानिक जिम्मेदारी: एसपी

एसपी गंगाराम पूनिया ने कहा कि 26 जनवरी एक राष्ट्रीय पर्व है, इसे शांतिपूर्वक मनाने के लिए सबकी नैतिक और वैधानिक जिम्मेदारी बनती है। तिरंगे का सम्मान होना चाहिए। गणतंत्र दिवस समारोह को शांतिपूर्वक संपन्न करने के लिए पुलिस की ओर से कड़े इंतजाम किए गए हैं। इसके लिए एडवाइजरी भी जारी की जा रही है

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.