आदेशों के बावजूद धुआं उगल रही चिमनियां

सरकार और पर्यावरण विभाग के आदेशों के बावजूद फैक्ट्रियों की चिमनियां लगातार धुआं उगल रही है। हाइवे से लेकर ओद्यौगिक क्षेत्र में कई स्थानों पर सरकारी आदेशों की अवमानना दिखाई दी। कोहंड के पास इंडस्ट्रियल एरिया में अज्ञात फैक्ट्री मालिकों ने सैकड़ों क्विटल प्लास्टिक के कचरे को आग ला दी।

JagranSat, 04 Dec 2021 07:24 PM (IST)
आदेशों के बावजूद धुआं उगल रही चिमनियां

संवाद सहयोगी, घरौंडा: सरकार और पर्यावरण विभाग के आदेशों के बावजूद फैक्ट्रियों की चिमनियां लगातार धुआं उगल रही है। हाइवे से लेकर ओद्यौगिक क्षेत्र में कई स्थानों पर सरकारी आदेशों की अवमानना दिखाई दी। कोहंड के पास इंडस्ट्रियल एरिया में अज्ञात फैक्ट्री मालिकों ने सैकड़ों क्विटल प्लास्टिक के कचरे को आग ला दी। इतना ही नहीं रोक के बावजूद फैक्ट्री मालिक अपनी फैक्ट्रियों में कोयला व पराली फूंक रहे है। पर्यावरण की बिगड़ती स्थिति के बावजूद लोग प्रदूषण का स्तर कम करने को लेकर गंभीर दिखाई नहीं दे रहे। प्रदूषण बढ़ते स्तर को देखते हुए सरकार और पर्यावरण विभाग ने एनसीआर के चार जिलों में स्कूलों को बंद करने के आदेश जारी किये है। जबकि प्रदेश के चौदह जिलों में निर्माण कार्यो व जेनरेटर चलाने पर प्रतिबन्ध लगाया है। हालांकि सरकार के ये आदेश धरातल पर असरदार होते दिखाई नहीं दे रहे। सांसों के लिए घातक हो रहे धुएं को उगल रही फैक्ट्रियां बदस्तूर चल रही है। वहीं कई स्थानों पर कचरे में आगजनी की घटनाओ ने भी प्रदूषण के स्तर को बढ़ाने का काम किया है। शुक्रवार की शाम नेशनल हाइवे पर स्थित एक साल्वेंट प्लांट में बड़ी मात्रा में पराली फूंकी गई। इस प्लांट में बायलर पराली की आग से चलाया जा रहा था। फैक्ट्री की चिमनी से लगातार निकल रहा धुएं का गुब्बार सरकार के आदेशों की धज्जियां उड़ाता दिखा। हालांकि प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए कोयला व पराली के ईंधन से चलने वाली यूनिटों को बंद रखने के निर्देश दिए गये है। वही कोहंड के पास स्थित इंडस्ट्रियल क्षेत्र में अज्ञात फैक्ट्री संचालकों ने प्लास्टिक कचरे के बड़े ढेर को फूंक दिया। प्रतिबन्ध के बावजूद कचरा फूंकने की घटनाओं में कमी नहीं रही। इस संबंध में जब प्रदूषण विभाग के एक्सईएन एसके अरोडा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि सरकार और पर्यावरण विभाग ने प्रदूषण के लेवल को कम करने के लिए एनसीआर के चौदह जिलो में सिविल कंस्ट्रक्शन वर्क व जेनरेटर चलाने पर बैन लगाया गया है। विभाग द्वारा जारी की गई हिदायतों का उल्लंघन करने वाले लोगो के खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.