रात को युवक की हत्या, सुबह परिजनों ने लगाया जाम

जागरण संवाददाता, करनाल

रांवर गांव में मंगलवार रात को कुछ लोगों ने युवक पर चाकू से हमलाकर दिया। परिजनों ने खून से लथपथ हालत में उसे कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक के भाई नसीब ने बताया कि वह मंगलवार रात 10 बजे दुकान पर गया था। उसका भाई राजीव (28) भी घर से सामान लेने दुकान पर गया हुआ था। उनके सामने ही पर्व ने पीछे से राजीव के हाथ पकड़ लिए। विक्की ने चाकू से वार शुरू कर दिए। उन्होंने शोर मचाया तो दोनों बुलेट पर मेरठ की तरफ भाग गए। युवक की मौत से गुस्साए परिजनों ने बुधवार सुबह आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मेरठ रोड स्थित रांवर चौक पर जाम लगा दिया। करीब आधा घंटा मेरठ रोड जाम रहा। सूचना के बाद डीएसपी विरेंद्र ¨सह मौके पर पहुंचे और परिजनों को आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन देकर यातायात सुचारू करवाया। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। खून से लथपथ पड़ा रहा राजीव, लोगों ने बंद कर लिए दरवाजे

परिजनों ने कहा कि वारदात के बाद राजीव खून से लथपथ हालत में सड़क में पड़ा रहा। लोगों ने अपने-अपने घर के दरवाजे बंद कर लिए। दुकानदार दुकानें बंद करके इधर-उधर खिसक गए। छोटा भाई नसीब राजीव को उठाकर घर लेकर पहुंचा। इसके बाद वह उसे गंभीर हालत में उपचार के लिए ले अस्पताल लेकर गए। जहां उसने दम तोड़ दिया। एसपी के आश्वासन के बाद उठाया शव

युवक की हत्या से गुस्साए ग्रामीणों ने इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में चौपाल में पंचायत की। परिजनों ने मोर्चरी हाउस से शव उठाने ने इंकार कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद भी कई घंटे तक मृतक का शव नहीं उठाया। इसके बाद ग्रामिणों की पांच सदस्यीय कमेटी एसपी से मिली। एसपी ने कमेटी को 24 घंटे में आरोपियों की गिरफ्तारी, एससी/एसटी एक्ट के अलावा विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज करने आश्वासन दिया। इसके बाद शव को पोस्मार्टम हाउस से उठाया गया। जाम करने पर 50-60 पर केस दर्ज

बुधवार को रांवर गांव के लोगों ने राजीव के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए एनएच 709ए (मेरठ रोड) पर जाम लगाकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। करीब आधे घंटे के जाम से सड़क पर वाहनों की लाइन लग गई। सदर थाना पुलिस ने जाम ग्रामिणों पर यातायाता बाधित करने के आरोप में 50 से 60 ग्रामिणों पर केस दर्ज किया है। छह माह की गर्भवती है मृतक की पत्नी

नसीब ने बताया कि राजीव मजदूरी करके परिवार का गुजारा चला रहा था। उसका एक बेटा पांच साल का है। पत्नी छह माह की गर्भवती है। उसका आरोपियों के साथ उठना बैठना भी नहीं था। न ही उन लोगों के साथ उसका कोई झगड़ा था। इसके बाद भी उस पर चाकू से हमला कर दिया गया। ग्रामीणों ने पंचायत में की ¨नदा, बोले हर वर्ष हो रही हत्याएं

राजीव की हत्या से रांवर गांव में दहशत का माहौल है। करीब दो से तीन-घंटे तक चौपाल में ग्रामिणों ने पंचायत की। ग्रामिणों ने कहा कि गांव में हत्याएं बढ़ रही हैं। लोग रात को घरों से बाहर निकलने से भी डरने लगे हैं। जिन लोगों ने इस वारदात को अंजाम दिया है। वह आपराधिक प्रवृत्ति के हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.