इंतजार खत्म, स्वास्थ्य केंद्रों पर आज लगेगी कोरोना की वैक्सीन

इंतजार खत्म, स्वास्थ्य केंद्रों पर आज लगेगी कोरोना की वैक्सीन

कोरोना वैक्सीन लगाने का इंतजार शनिवार को खत्म हो जाएगा। कोरोना महामारी से बचाव के लिए शुरूआत से ही हम सावधानियां बरतते आए हैं लेकिन अब वैक्सीन से कोरोना पर सीधा वार होगा। कोरोना का टीका लगाने का कार्यक्रम शनिवार को दो स्वास्थ्य केंद्रों से शुरू होगा।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 06:33 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, कैथल : कोरोना वैक्सीन लगाने का इंतजार शनिवार को खत्म हो जाएगा। कोरोना महामारी से बचाव के लिए शुरूआत से ही हम सावधानियां बरतते आए हैं, लेकिन अब वैक्सीन से कोरोना पर सीधा वार होगा। कोरोना का टीका लगाने का कार्यक्रम शनिवार को दो स्वास्थ्य केंद्रों से शुरू होगा।

वैक्सीनेशन कार्यक्रम के लिए जाट शाइनिग स्टार पब्लिक स्कूल कैथल और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सीवन में हेल्थ केंद्र स्थापित किए गए हैं। कैथल में विधायक लीला राम तो सीवन में डीसी सुजान सिंह इस कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। एक सेंटर पर 100 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगेगा। कोरोना टीकाकरण की शुरूआत के दौरान केवल डाक्टर ही नहीं, बल्कि स्वास्थ्य विभाग में कार्य कर रहे चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को भी टीका लगाया जाएगा। यहां पहला टीका जिला इम्यूनाइजेशन आफिसर डा.संदीप जैन को लगाया जाएगा।

टीकाकरण कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। पहली बार कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण कार्यक्रम आयोजित होने को लेकर हेल्थ सेंटरों में अस्पताल जैसी सुविधाएं दी गई है। वैक्सीन के कार्यक्रम को लेकर दो टीमों का गठन किया गया है, जिसमें दस अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं।

वैक्सीन के दौरान किसी भी प्रकार की परेशानी आने पर भी शहर में दो एईएफआइ सेंटर बनाए गए हैं। इन सेंटरों में विशेषज्ञों की टीम जांच करेगी कि दिक्कत वैक्सीन लगाने से आई है या कोई और कारण हैं। वैक्सीन लगाने के कार्यक्रम को लेकर सिविल सर्जन डा. ओमप्रकाश का कहना है कि टीकाकरण कार्यक्रम को जिला प्रशासन के सहयोग से स्वास्थ्य विभाग की ओर से तैयारी पूरी कर ली गई हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से 200 स्वास्थ्यकर्मियों की ड्यूटियां लगाई गई हैं।

प्रथम चरण में वैक्सीन

की 8700 डोज मिली :

डीसी सुजान सिंह ने बताया कि टीकाकरण के लिए प्रथम चरम में वैक्सीन की 8700 डोज जिला प्रशासन को मिल चुकी है, जिसे कोल्ड चेन केंद्र में सुरक्षित रखा गया है। टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा ड्राई रन किया जा चुका है। उसी के अनुरूप स्वास्थ्य कर्मी टीकाकरण का कार्य करेंगे।

सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण होगा। जिला में सरकारी व प्राइवेट संस्थानों के 6750 स्वास्थ्य कर्मियों को पंजीकृत किए गए हैं। इनमें 5 हजार 223 सरकारी व एक हजार 527 प्राइवेट संस्थानों के स्वास्थ्य कर्मी हैं। दवाई रखने के लिए जिला में कुल 29 कोल्ड चेन प्वाइंटस बनाए गए हैं, जहां पर सभी इंतजाम पुख्ता किए गए हैं।

इस तरह होगा कोविड-19 वैक्सीनेशन :

सिविल सर्जन डा. ओमप्रकाश ने बताया कि सबसे पहले केंद्र के प्रवेशद्वार पर पुलिस कर्मियों द्वारा पंजीकृत व्यक्तियों की जांच की जाएगी और कंप्यूटर में फीड डाटा बेस से मिलान किया जाएगा। उसके बाद वैक्सीनेशन अधिकारी के पास पहुंचने के बाद संबंधित व्यक्ति को प्रतीक्षा कक्ष में बैठाया जाएगा। इसके बाद उस व्यक्ति को टीकाकरण कक्ष में भेजा जाएगा, जहां पर डाटा बेस जांच की जाएगी और सही पाने पर उसका टीकाकरण किया जाएगा।

टीकाकरण होने के बाद संबंधित व्यक्ति को 30 मिनट के लिए दूसरे कक्ष में आब्जर्वेशन में रखा जाएगा, जहां पर स्वास्थ्य कर्मी मौजूद होंगे। यदि किसी व्यक्ति को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी नहीं होती तो, उसे जांच करके घर भेज दिया जाएगा। किसी व्यक्ति को सिरदर्द, बुखार की समस्या होती है, तो उसे तुरंत उपचार दिया जाएगा। ठीक होने पर स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस में घर तक छोड़ने की व्यवस्था की जाएगी।

गर्भवती महिलाओं, 18 वर्ष के कम आयु के बच्चों को नहीं दी जाएगी वैक्सीन

कलायत : कलायत एसएमओ डा. प्रदीप नागर ने बताया कि गर्भवती महिलाओं और 18 वर्ष आयु वर्ग से कम बच्चों को कोरोना वैक्सीन नहीं दी जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने जो कार्ययोजना तय की गई है उसके अनुसार पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीकाकरण किया जाएगा। दूसरे चरण में 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण किया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.