महामारी एक्ट के तहत आरटी-पीसीआर टेस्ट के रेट किए निर्धारित : डीसी

डीसी सुजान सिंह ने कहा कि सरकार ने महामारी एक्ट 1897 के तहत प्रदत शक्तियों का प्रयोग करते हुए जनहित में आरटी-पीसीआर टेस्ट के रेट पुन निर्धारित किए हैं।

JagranSat, 15 May 2021 06:07 AM (IST)
महामारी एक्ट के तहत आरटी-पीसीआर टेस्ट के रेट किए निर्धारित : डीसी

जागरण संवाददाता, कैथल : डीसी सुजान सिंह ने कहा कि सरकार ने महामारी एक्ट 1897 के तहत प्रदत शक्तियों का प्रयोग करते हुए जनहित में आरटी-पीसीआर टेस्ट के रेट पुन: निर्धारित किए हैं। प्राइवेट लैब संचालकों को तत्काल प्रभाव से सरकार द्वारा पुन: निर्धारित किए गए रेट के हिसाब से ही आरटी-पीसीआर टेस्ट करना होगा। डीसी ने कहा कि आरटी-पीसीआर के सैंपल प्राइवेट अस्पताल, लैब या उनके द्वारा संचालित केंद्र पर अधिकतम रेट 450 रुपये निर्धारित किए हैं। मरीज के घर से सैंपल लेने की अधिकतम दर 650 रुपये निर्धारित की गई है।

उन्होंने कहा कि ये अधिकतम रेट हैं और निर्धारित दरों में टैक्स, परिवहन, पैकिग आदि सब शामिल हैं। डीसी ने कहा कि प्राइवेट लैब संचालकों को कोविड-19 का सैंपल लेते समय सरकार की ओर से कोविड प्रॉटोकॉल के तहत जारी गाइडलाइन की भी अनुपालना करनी होगी।

डीसी ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव ही बेहतर इलाज है। इसलिए शासन-प्रशासन की ओर से जनहित में समय-समय पर जारी की जा रही गाइडलाइन की अनुपालना करें। अतिआवश्यक होने पर घर से बाहर मास्क लगाकर निकलें। बार-बार हाथ धोते रहें। दो गज की शारीरिक दूरी बनाएं रखें। खुले में न थूकें। खांसी, बुखार, सांस लेने में परेशानी या कोरोना संक्रमण के अन्य लक्षण प्रतीत होने पर तुरंत अपने डाक्टर से परामर्श करें या स्वास्थ्य केंद्र पर पंहुचकर अपना टेस्ट करवाएं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना टीकाकरण व टेस्टिग निश्शुल्क की जा रही है। बाक्स-

जिले में 13 गंभीर बीमारी से ग्रस्त मरीजों के घर पहुंचाई गई ऑक्सीजन :रामजी लाल

जिले में होम आइसोलेशन में रह रहे 13 मरीजों के घर ऑक्सीजन पहुचाई गई है। अब तक 41 लोगों ने ऑक्सीजन के लिए पोर्टल पर आवेदन किया था, 28 व्यक्तियों की मांग ठीक नहीं पाई गई, जिन्हें रिजेक्ट किया गया और जरूरतमंद व्यक्तियों को ऑक्सीजन घर पर ही मुहैया करवाई गई। ऑक्सीजन लेने के लिए सरकार द्वारा बनाए गए पोर्टल आक्सीजनएचआरवाइडाटइन पर अपना पंजीकरण करवाना होगा। रेडक्रॉॅस सचिव रामजी लाल ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों के द्वारा पोर्टल पर आवेदन किया जा रहा है, उस पर त्वरित कार्य करते हुए समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से ऑक्सीजन के सिलेंडर पहुंचाने की व्यवस्था की गई है, इससे संबंधित व्यक्तियों को घर द्वार पर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों को घर-घर ऑक्सीजन पहुंचाने में एनजीओ और समाजसेवी संस्थाएं अहम योगदान दे रही है। उन्होंने भी लोगों से अपील करते हुए कहा कि जरूरतमंद होम आइसोलेट व्यक्ति ही पोर्टल पर ऑक्सीजन के लिए आवेदन करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.