बरसात में धुल गए व्यवस्था के आश्वासन, जलभराव से ग्रामीण परेशान

वीरवार को भी दूसरी दिन हुई तेज बरसात के कारण हुडा सेक्टर 19 में जलभराव की स्थिति बनी। जलभराव की समस्या से यहां पर भी लोगों को खासी परेशानी झेलनी पड़ी। इसी परेशानी को देख वार्ड नंबर 10 के निवर्तमान पार्षद प्रतिनिधि व हुडा वेलफेयर एसोसिएशन के वरिष्ठ उपप्रधान भीम सेन अग्रवाल ने डीजल पंप लगवाकर पानी की निकासी करवाई। भीम सेन अग्रवाल ने बताया कि मानसून के समय बरसात होने पर जलभराव की समस्या जरूर होती है।

JagranFri, 30 Jul 2021 06:00 AM (IST)
बरसात में धुल गए व्यवस्था के आश्वासन, जलभराव से ग्रामीण परेशान

जागरण संवाददाता, कैथल : वीरवार को भी दूसरी दिन हुई तेज बरसात के कारण हुडा सेक्टर 19 में जलभराव की स्थिति बनी। जलभराव की समस्या से यहां पर भी लोगों को खासी परेशानी झेलनी पड़ी। इसी परेशानी को देख वार्ड नंबर 10 के निवर्तमान पार्षद प्रतिनिधि व हुडा वेलफेयर एसोसिएशन के वरिष्ठ उपप्रधान भीम सेन अग्रवाल ने डीजल पंप लगवाकर पानी की निकासी करवाई। भीम सेन अग्रवाल ने बताया कि मानसून के समय बरसात होने पर जलभराव की समस्या जरूर होती है। यदि अधिक तेज बरसात हो जाए तो जलभराव होना स्वाभाविक है। इसलिए उन्होंने हुडा निवासियों की समस्या को कम करने के प्रयास से डीजल पंप लगवा पानी की निकासी का प्रबंध करवाया है।

शिमला के ग्रामीणों ने जताया रोष

संस, कलायत : चंडीगढ़-हिसार राष्ट्रीय मार्ग स्थित गांव शिमला की गलियों में जलभराव हो गया है। गलियों और घरों में कई-कई फीट पानी जमा है। ग्रामीण ईश्वर सिंह, जगदीश, महावीर, मुकेश, जगबीर, गुरमेल, नरेश, नसीब, रामपाल, रामदिया, मेवा व बलबीर ने बताया कि पानी को रोकने के लिए ग्रामीणों ने अपने स्तर पर घरों के आगे मिट्टी के बांध भी बनाए। लेकिन तेज बहाव और जल स्तर के कारण इनके ये प्रबंध नाकाम साबित हो गए है। कलायत में बरसात के पानी की निकासी न होने के कारण खुद एसडीएम कार्यालय और बाढ़ नियंत्रण कक्ष के परिसर में जल भराव का संकट खड़ा हो गया है।

बरसाती पानी की निकासी न होने के विरोध में पबनावा के ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

ढांड: बरसाती पानी की निकासी ना होने के कारण पबनावा गांव की गलियों में जलभराव हो गया है। जिसके विरोध में भाकियू प्रदेश महासचिव भूरा राम पबनावा के नेतृत्व में ग्रामीणों ने पंचायत घर में एकत्रित होकर जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। प्रेमो देवी, सुकमा देवी, सिगारी, ओमी देवी, लीला देवी, रानी, महिद्रो, मीतो, भूरा राम ने बताया कि गलियों एवं घरों में आठ दिनों से पानी भरा हुआ है। गंदे पानी से गलियों में बदबू फैल रही है और लोगों का घरों में रहना मुश्किल हो गया है। पानी निकासी के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को गुहार भी लगा चुके हैं, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। शुक्रवार तक पानी निकासी की समस्या का समाधान नहीं किया तो शनिवार को कैथल-कुरुक्षेत्र रोड को जाम करेंगे।

जाखौली दाबदल में निकासी न होने से गलियों में जलभराव

संस, राजौंद: गांव जाखौली दाबदल में पानी निकासी न होने के कारण बारिश का पानी गलियों व घरों में घुसा गया है। ग्रामीण करतार सिंह, राजू, कर्मबीर, सतीश, कर्मबीर सिंह, रामकुमार, रमेश ने बताया कि गांव में पानी निकासी न होने के कारण पानी उनके घरों में घुस गया। जिससे उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दूसरा गांव में स्थित तालाब का पानी ओवरफ्लो हो चुका है जिससे तालाब का पानी भी गलियों में भर गया है। पानी निकासी को लेकर प्रशासन को अवगत करवा चुके हैं, लेकिन पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं की।

गुहणा गांव के घरों में भी घुसा बारिश का पानी

संस, कैथल: गुहणा गांव के घरों में बारिश का पानी घुस गया है। गुहणा निवासी अनिल ने बताया कि नालियों की सफाई नहीं होती है। बरसात होते ही घरों पर पानी घुस जाता है। आने जाने में परेशानी होती है। घरों में रहना मुश्किल हो गया है।

फतेहपुर-पूंडरी रोड पर पेड़ गिरने से बनी रही जाम की स्थिति

संस, पूंडरी: पूंडरी फतेहपुर मुख्य मार्ग पर वीरवार सुबह रघुनाथ मंदिर के पास एक पेड़ गिर गया। जिस कारण सुबह से लेकर दोपहर तक इस मार्ग पर आने जाने वालों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। किसान भवन के पास भी एक पेड़ गिर गया। जिसके कारण फतेहपुर पूंडरी मार्ग की एक साइड बंद हो गई और वाहनों को दूसरी साइड से निकलना पड़ा। दोपहर करीब एक बजे वन विभाग के कर्मचारियों ने पेड़ काटकर रास्ता खोला। बारिश के कारण पहले ही सड़क की दोनों साइडों पर पानी जमा था और लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। वहीं पेड़ गिरने से सुबह से दोपहर तक लोगों को सड़क की एक साइड से गुजरना पड़ा, जिस कारण इस मार्ग पर जाम की स्थिति बनी रही। पूंडरी की कालोनियों में जलभराव हो गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.