पराली में आग लगाने वाले किसानों पर होगी कार्रवाई : ईश्वर सिंह

पराली में आग लगाने वाले किसानों पर होगी कार्रवाई : ईश्वर सिंह
Publish Date:Wed, 23 Sep 2020 09:21 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, कैथल : राजस्व विभाग की ओर से पटवार भवन में नंबरदार और पटवारियों की मीटिग हुई। मीटिग की अध्यक्षता नायब तहसीलदार ईश्वर सिंह ने की। बैठक में विशेष तौर से नंबरदारों को निर्देश दिए कि वे धान की पराली में आग की घटना रोकने में सहयोग करें। उन्होंने कहा की किसान पराली में आग ना लगाएं। कैथल ब्लॉक के 16 गांव को रेड जोन घोषित किया गया है जहां सबसे ज्यादा आग की घटनाएं हो चुकी हैं। इस बार इन गांव पर खासतौर से सख्ती रहेगी। सरकार और एग्रीकल्चर विभाग की ओर से किसानों को सीएचसी के जरिए यंत्र दिए गए हैं। किसान इन यंत्रों का प्रयोग उचित प्रबंधन करें। हमारा फर्ज बनता है कि प्रदूषण ना फैलाएं। किसान मशीनों से बिजाई करें अगर कोई किसान पराली में आग लगाते पाया गया तो प्रदूषण विभाग की ओर से चालान किया जाएगा। तहसीलदार ने चेकिग के लिए कमेटी गठित की। कमेटी के सदस्य हर रोज गांव में जाकर चेकिग करेंगे। गांव में कोई भी आग की घटना होने पर नंबरदार तुरंत प्रशासन को सूचित करें। कोई नंबरदार इस काम में कोताही ना बरतें। इस मौके पर कानूनगो कमल नैन, सुखबीर राणा, रामनिवास, राजेश, बलवंत शर्मा, सुखविद्र सिंह, सन्नी देओल पटवारी, सुरेंद्र सिंह मौजूद थे।

ये गांव हैं रेड जोन में शामिल

गांव बुढाखेड़ा, पाडला, दयोरा, सांगन, चंदाना, जसवंती, खुराना, पट्टी अफगान, मानस, बरोट, सिरटा, टीक, गुहणा, नौच, धनौरी और बरटा को रेड जोन में शामिल किया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.