गुहला में 487 लाभार्थियों को मिली अपने मकान की सौगात

नगर पालिका चीका की ओर से 487 लाभर्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत मकान बनाने के लिए पहली दूसरी व तीसरी किस्त के रूप में अब तक 10 करोड़ 69 लाख 90 हजार रुपये की राशि दी जा चुकी है। एसडीएम गुहला नवीन कुमार ने कहा कि नए मकान बनाने के लिए सरकार की तरफ से कुल दो लाख 50 हजार रुपये की राशि तीन किश्तों में जारी की गई। चीका नपा क्षेत्र में नए मकान बनाने के लिए प्रथम किस्त के लिए 454 प्रार्थियों को चार करोड़ 54 लाख रुपये की राशि जारी की गई है।

JagranTue, 27 Jul 2021 06:44 AM (IST)
गुहला में 487 लाभार्थियों को मिली अपने मकान की सौगात

गुहला-चीका (वि): नगर पालिका चीका की ओर से 487 लाभर्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत मकान बनाने के लिए पहली, दूसरी व तीसरी किस्त के रूप में अब तक 10 करोड़ 69 लाख 90 हजार रुपये की राशि दी जा चुकी है। एसडीएम गुहला नवीन कुमार ने कहा कि नए मकान बनाने के लिए सरकार की तरफ से कुल दो लाख 50 हजार रुपये की राशि तीन किश्तों में जारी की गई। चीका नपा क्षेत्र में नए मकान बनाने के लिए प्रथम किस्त के लिए 454 प्रार्थियों को चार करोड़ 54 लाख रुपये की राशि जारी की गई है। दूसरी किस्त के लिए 425 प्रार्थियों को चार करोड़ 25 लाख रुपये और तीसरी किस्त 308 प्रार्थियों को 15 लाख 40 हजार रुपये के रूप में राशि जारी की गई है। प्रथम व द्वितीय किस्त में एक-एक लाख रुपये और तृतीय किस्त के रुप में 50 हजार रुपये दिए गए है। उन्होंने कहा कि मकान की मरम्मत के लिए 33 प्रार्थियों को पहली किस्त के रुप में 11 लाख 80 हजार रुपये, 25 प्रार्थियों को दूसरी किस्त के रुप में 15 लाख रुपये और सात प्रार्थियों को तीसरी किस्त के रुप में दो लाख 10 हजार रुपये दिए गए हैं।

बरसात के दिनों में काफी परेशानी होती थी सरकार ने दी रहने के लिए छत : प्रवीन कौर

वार्ड-पांच की निवासी प्रवीन कौर का कहना है, मेरे पति मजदूरी का कार्य करते हैं, जिससे वह मकान बनाने में असमर्थ थे। पहले हमें कच्चे मकान में रहना पड़ रहा था और बरसातों के दिनों में काफी परेशानी होती थी। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान बनाने के लिए नगरपालिका में मैंने प्रार्थना पत्र दिया था, जिससे सरकार की योजना के तहत ढाई लाख रुपये की राशि दी गई और मेरा बहुत जल्दी एक अच्छा मकान बनकर तैयार हो गया।

भला हो प्रधानमंत्री आवास योजना का : निशा

प्रधानमंत्री आवास के एक और लाभार्थी निशा पत्नी सलीम निवासी वार्ड-तीन ने बताया कि मेरे पति की आय का साधन इतना सीमित है कि अपना मकान बनाने की शायद सोच भी नहीं सकती थी। ये तो भला हो प्रधानमंत्री आवास योजना का जिसने हम जैसे मजबूर लोगों की सुध ली और हम इस काबिल बन सके कि आज इस योजना के तहत मिली राशि से पक्का मकान बनाकर उसमें जिदगी बसर कर रहे हैं।

यह योजना न होती तो शायद कच्चे मकान में कटती जिदगी : राजकुमार

दिन भर की जी तोड़ मेहनत कर पसीना बहाने के बाद अपने व अपने बच्चों को लिए दो वक्त की रोटी जुटाने वाला दिहाड़ी दार मजदूर राजकुमार भी अब इस योजना से पक्का मकान बनाकर रह रहा है। उसने बताया कि अगर प्रधानमंत्री आवास योजना हम जैसे लोगों के लिए जमीन पर न उतरती तो शायद जिदगी भर कच्चे मकान में रहकर अपना समय काटना पड़ता। आज अगर पक्की छत है तो बारिश, लू और तुफान की कोई चिता नहीं है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.