भौंगरा गांव में नहीं रहेगी पानी की किल्लत, बनेगा जलघर

संवाद सूत्र, उचाना : भौंगरा गांव के ग्रामीणों की वर्षो पुरानी जलघर की मांग पूरी हो गई है। जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा गांव में जलघर बनाने के साथ-साथ जहां पीने के पानी की किल्लत है, उस एरिया में पाइप लाइन बिछाने पर दो करोड़ रुपये की राशि खर्च करेगा। पंचायत ने जलघर निर्माण के लिए चार एकड़ जमीन दी है। इस सप्ताह कार्य शुरू हो जाएगा। ग्रामीण कई वर्षो से केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र ¨सह और विधायक प्रेमलता से जलघर बनाने की मांग कर रहे हैं।

बरसोला माइनर से आएगा जलघर में पानी

उचाना कलां गांव के पास बरसोला माइनर से भौंगरा के जलघर में पानी जाएगा। माइनर से करीब तीन किलोमीटर दूरी पर बनने वाले इस जलघर में पाइप लाइन बिछा कर नहर का पानी लाया जाएगा। इसमें एक टैंक बनेगा। इससे पानी को फिल्टर कर गांव में सप्लाई किया जाएगा। भौंगरा में इस समय खापड़ जलघर से पानी सप्लाई होता है। खुद का जलघर बनने के बाद गांव में पानी की किल्लत दूर होगी।

बहुत पुरानी है मांग

कुलबीर, नरसी, बलदेवा, नरेंद्र आदि ग्रामीणों ने कहा कि गांव में जलघर बनाने की मांग बहुत पुरानी है। गर्मी के मौसम में पीने के पानी की किल्लत अधिक हो जाती है। खापड़ से पानी सप्लाई आती है। गांव में जलघर बनाने की वर्षो पुरानी मांग केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र ¨सह, विधायक प्रेमलता के प्रयासों से पूरी हो गई है।

जमीन खाली होते ही काम होगा शुरू

पंचायत द्वारा चार एकड़ जमीन जलघर निर्माण के लिए दी है। जलघर निर्माण, पीने के पानी की पाइप लाइन बिछाने पर दो करोड़ की राशि विभाग द्वारा खर्च की जाएगी। इस सप्ताह निर्माण कार्य जलघर निर्माण का शुरू हो जाएगा।

सतीश, जेई, जन स्वास्थ्य विभाग, उचाना

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.