उचाना में एसडीएम ने मंडी में पहुंचकर जांची धान की नमी

पीआर धान की फसल न खरीदने के लगाए आरोपों पर एसडीएम डा. राजेश कोथ ने खुद पुरानी मंडी फायर बिग्रेड के पास वाली मंडी में जाकर पीआर धान की नमी की जांच की।

JagranWed, 27 Oct 2021 10:43 PM (IST)
उचाना में एसडीएम ने मंडी में पहुंचकर जांची धान की नमी

संवाद सूत्र, उचाना : किसानों द्वारा नमी के नाम पर पीआर धान की फसल न खरीदने के लगाए आरोपों पर एसडीएम डा. राजेश कोथ ने खुद पुरानी मंडी, फायर बिग्रेड के पास वाली मंडी में जाकर पीआर धान की नमी की जांच की। यहां पर धान में नमी 20 से 24 तक मिली।

एसडीएम ने कहा कि नमी वाली धान किसान न लेकर आए। जो भी धान सरकारी नियमानुसार है उसको आते ही खरीदा जाएगा। मंगलवार तक 80 हजार क्विंटल के करीब पीआर धान की खरीद हो चुकी है। बीते साल से ये काफी अधिक है। उन्होंने कहा कि किसान सूखी, साफ पीआर धान लेकर मंडी आए ताकि आढ़ती, किसान, मजदूर सुखी हो। सुखी, साफ पीआर किसान लेकर आएंगे तो उनकी आते ही मंडी में सरकारी भाव पर बिकेगी। जो किसानों की मांग पीआर धान की बोली जल्दी शुरू करवाने की है उसको लेकर मार्केट कमेटी सचिव को निर्देश दे दिए गए है।

मंडी के प्रधान, आढ़ती, किसान सब सहयोग सीजन में करें। पीआर धान की बिजाई इस बार बीते साल से अधिक हुई है। नमी वाली पीआर मंडी किसान लेकर आते है तो उसको सुखाने में समय लग जाता है। किसान एक बात का ध्यान जरूर रखे कि वो नमी, बिना सफाई वाली पीआर धान लेकर न आए। इससे उनको फसल बेचने में परेशानी होगी। किसानों को आढ़ती भी अपील करें कि वो नमी वाली पीआर धान न लेकर आए। एसडीएम ने कहा कि किसान को किसी तरह की परेशानी नहीं आने दी जाएगी। वो हर रोज पीआर धान की आवक, खरीद सहित अन्य के बारे में जानकारी मार्केट कमेटी सचिव से लेते रहते है।

इस मौके पर मार्केट कमेटी सचिव नरेंद्र कुंडू, एफसीआई परचेज दिनेश कुमार, एआर रमेश खटकड़, बलराज श्योकंद, रामदत्त शर्मा डाहोला, सुरेश सुरबरा मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.