बैंक में नौकरी लगवाने का झांसा देकर नौ लाख रुपये हड़पे

बैंक में नौकरी लगवाने का झांसा देकर नौ लाख रुपये हड़पे

पंजाब नेशनल बैंक में चपरासी लगवाने का झांसा देकर नौ लाख रुपये हड़प लिए हैं।

JagranSun, 18 Apr 2021 07:00 AM (IST)

जागरण संवाददाता, जींद : पंजाब नेशनल बैंक में चपरासी लगवाने का झांसा देकर नौ लाख रुपये हड़पने पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने बाप-बेटे के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में ख्यानत का मामला दर्ज किया है। गांव पांडू पिडारा निवासी प्रदीप ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह पीएनबी बैंक का खाता है। इसलिए उसका बैंक में आना जाना रहता है। इसके चलते बैंक में क्लर्क गांव मनोहरपुर निवासी दलबीर से जान पहचान हो गई। वर्ष 2019 में दलबीर ने बताया कि रोहतक पीएनबी में चपरासी की नौकरी निकली हुई है। उसकी अधिकारियों के साथ अच्छी जान पहचान है और वह बैंक में नौकरी लगवा देगा। दलबीर के झांसे में आकर उसने अपने ममेरे भाई गांव निदाना निवासी सोमबीर को नौकरी लगवाने के लिए कहा। जिसकी एवज में दलबीर तथा सुमित को नौ लाख रुपये की राशि आरजीटीएस व नकदी के माध्यम से दे दी गई। बावजूद इसके सोमबीर की नौकरी नहीं लगी। नौकरी न मिलने पर जब उन्होंने राशि वापस मांगी तो दलबीर ने उसे चेक दे दिए। जो बैंक में लगाए जाने पर बाउंस हो गए। बाद में दलबीर ने खाते में राशि न होने के कारण चेक बाउंस होने की बात कही और साथ ही बाउंस चेक वापस मांगते हुए नौ लाख रुपये एक माह में नकद देने की बात कही। बावजूद इसके उन्होंने राशि को नहीं लौटाया। जब राशि के लिए दबाव बनाया तो उसे बुरा अंजाम भुगतने की धमकी दी गई। सिविल लाइन थाना पुलिस ने प्रदीप की शिकायत पर दलबीर तथा सुमित के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। महिला एएसआइ के आठ लाख हड़पने पर दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

जागरण संवाददाता, जींद : महिला थाना में तैनात महिला एएसआई से आठ लाख रुपये लेकर हड़पने, राशि वापस मांगने पर धमकी देने पर सिविल लाइन थाना पुलिस महिला समेत दो लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

पुलिस कालोनी निवासी सुनीता ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह महिला थाना में एएसआई के पद पर कार्यरत है। पुलिस कालोनी में ही एएसआई की पत्नी साक्षी की मार्फत उसकी जान पहचान गांव निर्जन निवासी जितेंद्र फोर से हुई। जितेंद्र व साक्षी ने उसे गुमराह कर लगभग आठ लाख रुपये की राशि ले ली और कुछ समय के बाद राशि ब्याज समेत चुकाने की बात कही। जिस पर उसने साक्षी व जितेंद्र पर राशि वापस लौटाने के लिए दबाव बनाया तो आरोपित ने उसे चेक दे दिए। जो बैंक में लगाए जाने पर बाउंस हो गए। जब उसने जितेंद्र व साक्षी से चेक बाउंस होने पर राशि लौटाने के लिए कहा तो दोनों ने उसे बुरा अंजाम भुगतने की धमकी दी और राशि लौटाने से मना कर दिया। सिविल लाइन थाना पुलिस ने एएसआइ सुनीता की शिकायत पर जितेंद्र व साक्षी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.