पंचायती चुनाव 2021 : जिले में 102 गांवों के विकास की बागडोर होगी महिलाओं के हाथ

पंचायती चुनाव 2021 : जिले में 102 गांवों के विकास की बागडोर होगी महिलाओं के हाथ

पंचायती राज एक्ट के तहत 2021 में होने वाले सरपंच के चुनावों को लेकर ड्रा होने के बाद जिले की तस्वीर साफ हो गई है। जिले में इस बार 102 गांव ऐसे हैं जिनमें सरपंच पद महिला के लिए आरक्षित हुआ है। अगले पांच साल इन गांवों में महिलाएं ही विकास की इबारत लिखने का काम करेंगी।

JagranThu, 23 Jul 2020 09:11 AM (IST)

प्रदीप घोघड़ियां, जींद

पंचायती राज एक्ट के तहत 2021 में होने वाले सरपंच के चुनावों को लेकर ड्रा होने के बाद जिले की तस्वीर साफ हो गई है। जिले में इस बार 102 गांव ऐसे हैं, जिनमें सरपंच पद महिला के लिए आरक्षित हुआ है। अगले पांच साल इन गांवों में महिलाएं ही विकास की इबारत लिखने का काम करेंगी।

जींद जिले में 300 ग्राम पंचायतें हैं। वर्तमान में चल रहे सरपंचों का कार्यकाल जनवरी 2021 तक समाप्त हो जाएगा। उसके बाद पंचायती राज एक्ट लागू होने के बाद छठे आम चुनाव होंगे। हालांकि पंचायती राज में भी महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देने को लेकर सरकार का मंथन चल रहा है लेकिन फिलहाल 33 प्रतिशत सीटों पर ही सरपंची के लिए महिलाएं मैदान में उतर रही हैं।

----------

किस गांव में सामान्य श्रेणी से और किस गांव में अनुसूचित जाति से महिला सरपंच होंगी, उसका ब्यौरा ब्लॉक वाइज इस प्रकार है :-

-----

जींद के 66 में से 22 गांवों में होंगी महिला चौधरी

सामान्य श्रेणी से -- बरसाना, बरसोला, बिरौली, बोहतवाला, बराह खुर्द, घिमाना, झांझ कलां, झांझ खुर्द, कैर खेड़ी, कंडेला, किशनपुरा, लोहचब, रधाना, सुंदरपुर, रूपगढ़, खरकरामजी, बराह कलां, ढांडा खेड़ी।

अनुसूचित जाति से -- पोंकरी खेड़ी, तलोढ़ा, गोविदपुरा, ललितखेड़ा ।

------------

अलेवा में 19 में से 7 गांवों में होंगी महिला सरपंच

सामान्य श्रेणी से -- पेगां, दुड़ाना, नगूरां, ढिल्लूवाला, गोहियां, हसनपुर

अनुसूचित जाति से -- खेड़ी बुल्लां

----------------

नरवाना की 37 में से 13 गांवों में होंगी महिला सरपंच

सामान्य श्रेणी से-- ढाकल, दबलैन, दनौदा खुर्द, धरोदी, गुरथली, हथो, जाजनवाला, कलौदा कलां, सैंथली, सिसर।

अनुसूचित जाति से--बिधराना, ईस्माइलपुर, दनौदा कलां

----------------------

उचाना की 47 में से इन 16 गांवों में चौधर होगी महिलाओं के हाथ

सामान्य श्रेणी से -- अलीपुरा, भगवानपुरा, दरोली खेड़ा, धनखड़ी, गैंडा खेड़ा, झील, काब्रच्छा, कहसून, कालता, खटकड़, सूरबरा, उदयपुर।

अनुसूचित जाति से -- खरकभूरा, बुडायन, डूमरखां खुर्द, रोजखेड़ा।

---------

उझाना ब्लॉक के 21 गांवों में से इन 7 गांवों की सरपंच बनेगी महिला

सामान्य श्रेणी से -- लोन, अमीरगढ़, रसीदां, नेपेवाला, धनौरी ।

अनुसूचित जाति से -- खरल, दातासिंहवाला।

--------------

पिल्लूखेड़ा के 27 गांवों में से इन 9 गांव महिला के लिए आरक्षित

सामान्य श्रेणी से -- बनियाखेड़ा, रजाना कलां, बेरी खेड़ा, लुदाना, बूढ़ा खेड़ा, आलनजोगी खेड़ा, मोरखी ।

अनुसूचित जाति से -- मालसरी खेड़ा, कलावती।

---------------

जुलाना के 38 में से 13 गांवों की चौधरी होंगी महिलाएं

सामान्य श्रेणी से -- करेला, नंदगढ़, शामलो खुर्द, मालवी, लिजवाना खुर्द, देवरड़, किलाजफरगढ़, खेमा खेड़ी, रामकली, खेड़ा बख्ता।

अनुसूचित जाति से -- कमाच खेड़ा, फतेहगढ़, देश खेड़ा ।

----------------

सफीदों के 45 में से 15 गांवों की चौधर महिला के हाथ

सामान्य श्रेणी से -- आफताबगढ़, अंटा, छापर, धर्मगढ़, हरिगढ़, जयपुर, कारखाना, खरकड़ा, खातला, रोहड़, रोजला, साहनपुर

अनुसूचित जाति से -- सिवानामाल, करसिधू, बसिनी

पढ़ी-लिखी और जागरूक महिलाएं गांव के विकास के लिए आएं आगे : देवराज दांगी

डीडीपीओ देवराज दांगी ने बताया कि पंचायती राज चुनावों को लेकर तस्वीर साफ हो गई है कि किस गांव में कौन सरपंच पद के लिए मैदान में उतर सकता है। 102 गांवों में सरपंची की कमान महिलाओं के हाथ में होगी, इसलिए इन गांवों में पढ़ी-लिखी व जागरूक महिलाओं को अपने गांव के विकास के लिए आगे आना चाहिए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.