ठेकेदार ने कर्मचारियों का नहीं जमा करवाया ईपीएफ, हड़ताल पर गए कर्मचारी

जागरण संवाददाता, जींद : नागरिक अस्पताल में आउटसोíसंग के तहत लगे कर्मचारियों का ठेकेदार द्वारा ईपीएफ में गड़बड़ी का मामला सामने आया है। ईपीएफ जमा नहीं होने के साथ-साथ कर्मचारियों को पिछले तीन माह से वेतन भी नहीं मिलने के विरोध में शुक्रवार को अस्पताल में लगे 185 कर्मचारी हड़ताल पर चले गए। इससे अस्पताल की व्यवस्था बिगड़ गई। हड़ताल पर जाने वाले कर्मचारियों में सफाई कर्मी, वार्डन हेल्पर, सिक्योरिटी गार्ड, कंप्यूटर ऑपरेटर शामिल रहे।

कर्मचारी ने आरोप लगाया कि ठेकेदार ने सिविल सर्जन कार्यालय से मिलीभगत कर उनकी राशि हड़प ली है। इसके बाद कर्मचारी शिकायत लेकर सिविल लाइन थाने में पहुंचे और उसके खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की। धरने का नेतृत्व कर रहे रमेशचंद्र ने बताया कि जिले में स्वास्थ्य विभाग में आउटसोíसंग के तहत करीब 500 कर्मचारी काम कर रहे हैं। ठेकेदार ने इन कर्मचारियों का ईएसआइ, ईपीएफ जमा नहीं करवाया है। पिछले दिनों इसकी शिकायत श्रम विभाग को भी दी थी। इसके बाद दो डॉक्टरों की कमेटी ने मामले की जांच की थी।

जांच के दौरान सामने आया था कि ठेकेदार ने करीब साढ़े तीन लाख रुपये का ईपीएफ जमा नहीं करवाया है। शिकायत करने पर ठेकेदार भड़क गया और कर्मचारी राजवंती और सोनिया को नौकरी से निकाल दिया। इसी तरीके से ठेकेदार ने अलेवा, नरवाना, उचाना, सफीदों, जुलाना के 75 कर्मचारियों को निकला दिया था। उन्होंने हाईकोर्ट की शरण ली। कोर्ट ने इन कर्मचारियों के पक्ष में फैसला दिया। इसके बावजूद तीन माह से उनको वेतन नहीं मिल रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.