झज्‍जर में युवक ने चौबारे में फांसी का फंदा लगाकर की आत्महत्या, पिता बोले- मानसिक रोगी था

एक युवक ने अपने चौबारे में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। जब सुबह परिवार वालों ने देखा तो पाया कि युवक फांसी के फंदे पर लटका हुआ है। जिसका पता लगते ही परिवार वालों ने इस घटना की सूचना पुलिस को दी।

Manoj KumarSun, 28 Nov 2021 04:05 PM (IST)
झज्‍जर में एक युवक ने फांसी लगा अपनी जीवन लीला समाप्‍त कर ली

संवाद सूत्र, साल्हावास : साल्हावास में एक युवक ने अपने चौबारे में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। जब सुबह परिवार वालों ने देखा तो पाया कि युवक फांसी के फंदे पर लटका हुआ है। जिसका पता लगते ही परिवार वालों ने इस घटना की सूचना पुलिस को दी। मृतक के पिता के बयान दर्ज किए गए हैं। बयानों के आधार पर इत्फाकिया कार्रवाई की गई। मृतक की पहचान करीब 24 वर्षीय प्रदीप पुत्र धर्मबीर के रूप में हुई है। पुलिस को दिए बयान में धर्मबीर ने बताया कि उसका बेटा 24 वर्षीय प्रदीप मेहनत मजदूरी करता था। प्रदीप को एक बच्चा भी है। कड़ी मेहनत करके अपने परिवार का पालन पोषण कर रहा था।

जबकि, पिछले कुछ दिनों से वह मानसिक रूप से परेशान भी था। जिसे देखकर ऐसा प्रतीत होता है मानसिक परेशानी के चलते प्रदीप ने शनिवार-रविवार रात को चौबारे में फांसी का फंदा लगा लिया। जब सुबह परिवार वाले चौबारे में पहुंचे तो देखा कि प्रदीप फांसी के फंदे पर लटका है। परिवार वालों ने प्रदीप को संभाला और फांसी से नीचे उतारा। लेकिन तब तक प्रदीप की मौत हो चुकी थी। इस घटना की सूचना पुलिस को दे दी। पुलिस ने कागजी कार्रवाई करते हुए शव को पोस्टमार्टम के बाद स्वजनों को सौंप दिया।

- जांच अधिकारी एएसआइ सुखपाल ने बताया कि उन्हें साल्हावास में युवक द्वारा फांसी लगाने की सूचना मिलते ही टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच आरंभ कर दी। मृतक प्रदीप के पिता धर्मबीर के बयान दर्ज किए हैं। जिनमें मानसिक परेशानी के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या करना बताया है। बयानों के आधार पर इत्फाकिया कार्रवाई की गई है।

कंपनी में ड्यूटी पर गए कर्मचारी की मौत

गांव कोका स्थित एक निजी कंपनी में काम पर गए कर्मचारी की मौत हो गई है। गांव माछरोली निवासी अमित ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उसका भाई 45 वर्षीय कमल किशोर गांव कोका स्थित निजी कंपनी में काम करता था। शनिवार को वह ड्यूटी पर गया हुआ था तो अचानक तबीयत खराब हो गई। जब उसे उपचार के लिए अस्पताल में लेकर आए, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जांच अधिकारी एसआइ ओमसिंह ने बताया कि मृतक कमल किशोर के स्वजनों के बयान दर्ज किए हैं। बयानों के आधार पर हृदय गति रुकने से मौत होना प्रतीत हो रहा है। जिसके आधार पर इत्फाकिया कार्रवाई की गई है। शव को पोस्टमार्टम के बाद स्वजनों को सौंप दिया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.