हिसार में क्‍यों बढ़े इतने कोरोना मरीज, जानें मुख्‍य 4 कारण, लापरवाही पड़ सकती है भारी

हिसार में क्‍यों बढ़े इतने कोरोना मरीज, जानें मुख्‍य 4 कारण, लापरवाही पड़ सकती है भारी
Publish Date:Sun, 20 Sep 2020 10:18 AM (IST) Author: Manoj Kumar

हिसार [सुभाष चंद्र] जून माह से लॉकडाउन खुलने के बाद जिले में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। बावजूद इसके लोग नियमों की पालना को लेकर गंभीर नहीं हैं। लापरवाही का ही नतीजा है कि पिछले एक सप्ताह मे जिले में एक हजार से अधिक मामले सामने आए हैं। वहीं पिछले 17 दिन में 24 मौतें भी हुई हैं।

जिले में शुरुआती एक हजार मामले मिलने मे 3 फरवरी से 3 अगस्त यानि 7 महीने लग गए थे। अगस्त में कोरोना के मामले दोगुनी तेजी से बढ़े। अगस्त के सिर्फ 25 दिनों में जिले में एक हजार मामले आए। वहीं सितंबर में तो संक्रमण ने और तेजी पकड़ी, सिर्फ 11 दिन में एक हजार मामले और बढ़ गए। वहीं इसके बाद अगले एक हजार केस आने में सिर्फ 7 दिन का समय लगा। अब जिले में कोरोना के कुल 4688 मामले हैं। यह जिले की 17 लाख 50 हजार की आबादी का 0.25 फीसद है।

जिले की आबादी के अनुसार कोरोना रिपोर्ट

जिले की आबादी - 17 लाख 50 हजार

कुल कोरोना केस  - 4539 -  आबादी का 0.25 फीसद

कुल सैंपल - 85104 - आबादी का 4.86 फीसद

कुल मौत - 40 - आबादी का 0.002 फीसद

कुल स्वस्थ - 3190 - रिकवरी रेट 70.31 फीसद

जिले में कोरोना के आंकड़े -

महीना - कोरोना के केस

मार्च - 01

अप्रैल - 01  

1 मई - 04

1 जून - 53

1 जुलाई - 232

1 अगस्त - 966

1 सितंबर -  2442

18 सितंबर - 4537

19 सितंबर - 4688

हिसार में कोरोना का पहला मामला सामने आया - 31 मार्च

जिले में प्रति एक हजार मामले - अगले एक हजार कब जुड़े - कितने दिन में एक हजार मामले आए

पहले एक हजार मामले आए - 3 अगस्त - 193 दिन (21 फरवरी से 3 अगस्त)

दूसरे एक हजार मामले आए - 27 अगस्त - सिर्फ 25 दिन में

तीसरे एक हजार मामले आए - 7 ङ्क्षसतबर - सिर्फ 11 दिन में

कोरोना से मौत के आंकड़े -

जिले में कोरोना से पहली मौत - 23 अप्रैल

1 मई - 01

1 जून - 01

1 जुलाई - 07

1 अगस्त - 10

1 सितंबर - 16

18 सितंबर - 40

19 सितंबर- 41

जिले में कोरोना संक्रमण बढऩे की चार बड़ी वजह

दूसरे जिलों से आने वालों पर रोक ना लगना

जिले में कोरोना संक्रमण बढऩे का सबसे बड़ा कारण बाहरी जिलों से आने वाले लोगों पर रोक ना लगना है। जिसके चलते जिले में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े। जिले में शुरुआती 500 केस में अधिकतर जिले से बाहर से आए लोगों के थे।

शादी समारोह में नियम से अधिक लोगों का एकत्रित होना

डोगरान मोहल्ला में एक शादी समारोह में नियमों से अधिक लोग एकत्रित हुए। जिससे हिसार समेत हांसी, सिरसा, फतेहाबाद, राजस्थान तक के लोग शामिल हुए। इस शादी में शामिल करीब 140 लोग कोरोना संक्रमित मिले। इससे जिले में जुलाई महीने में संक्रमण के केस बढ़े।

मास्क, सैनिटाइजर व शारीरिक दूरी के नियमों को तोडऩा

बस स्टेंड, बसों में, बाजारों में और सरकारी कार्यालय जैसे हाउस टेक्स ब्रांच और ई-दिशा केंद्र सहित सरकारी व निजी अस्पतालों में शारीरिक दूरी के नियमों का पालन नहीं हो रहा। वहीं कोरोना से बचने के लिए बनाए गए नियम मास्क, सैनिटाइजर का प्रयोग नहीं किया जा रहा।

कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आए लोगों का सैंपलिंग से बचना -

जिले में कोरोना संक्रमण बढऩे का एक और बड़ा कारण यह है कि यदि कोई कोरोना पॉजिटिव मिलता है तो उसके संपर्क में आए लोग सैंपलिंग से बच रहे हैं, जिसके चलते संक्रमण फैल रहा है। शहर की एक निजी मिल में ऐसा ही मामला सामने आया था, जब एक वर्कर के पॉजिटिव मिलने पर भी साथी कर्मचारियों ने कोरोना का सैंपल नहीं करवाया।

----जिले में कोरोना संक्रमण को बढऩे से रोकने के लिए सैंपलिंग बढ़ाई गई है। जिससे कोरोना की वास्तविक स्थिति का अंदाजा लगेगा। इसके साथ-साथ हेल्थ वर्करों से सर्वे शुरू करवाया गया है। जिससे कोरोना मरीजों के बारे में पता लगाकर संक्रमण पर काबू पाया जाएगा।

- डा. प्रियंका सोनी, उपायुक्त, हिसार

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.