धुंध में 20 मीटर तक दृश्यता हिसार एयरपोर्ट पर एयर टैक्सी के लिए बन सकती है बाधा

एयर टैक्‍सी को हिसार एयरपोर्ट पर मौसम साफ होने तक धुंध के कारण परेशानी होगी

17 जनवरी तक इसी प्रकार से मौसम के बने रहने की संभावना है लिहाजा धुंध हवाई यात्रा में बड़े गतिरोध के रूप से सामने आ रहा है। हालांकि एयर टैक्सी की फ्लाइट रद्द होने की सूचना नहीं मिल रही है। वीरवार को भी इस प्रकार की दिक्कत आई थी

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 12:53 PM (IST) Author: Manoj Kumar

हिसार, जेएनएन। एक दिन पहले धूमधाम से शुरू हुई एयर टैक्सी के रास्ते में शुक्रवार को मौसम आढ़े आ सकता था, मगर धूप निकलने के कारण राहत मिली। शुक्रवार को मौसम की स्थिति सुबह से ही काफी खराब बनी हुई थी और आसमान पर धुुंध छाई हुई थी, जिससे 20 मीटर तक की दृश्यता रही। इतनी दृश्यता के कारण वाहनों को चलने में दिक्कत आ रही है तो हवाई यात्रा के लिए और भी मुसीबतें मौसम पैदा कर रहा है। ऐसे में एयर टैक्सी की दूसरे दिन की फ्लाइट को लेकर असमंजस की स्थिति बनी रही। मगर दोपहर बाद धूप निकलने पर एयर टैक्‍सी ने उड़ान भरी और इसमें हिसार के विधायक कमल गुप्‍ता भी रवाना हुए।

17 जनवरी तक इसी प्रकार से मौसम के बने रहने की संभावना है लिहाजा धुंध हवाई यात्रा में बड़े गतिरोध के रूप से सामने आ रहा है। शनिवार को भी देखने वाली बात रहेगी। हालांकि एयर टैक्सी प्रबंधन की तरफ से फ्लाइट रद होने की सूचना अभी तक नहीं आई है। गौरतलब है कि वीरवार को भी मौसम को लेकर इस प्रकार की दिक्कत सामने आई थी। जिसकी वजह से फ्लाइट दो बजे के आसपास उड़ान भर सकी थी।

आगे कैसा रहेगा मौसम

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने बताया कि आगे 17 जनवरी तक मौसम परिवर्तनशील है। लिहाजा दिन के समय धूप तो रात्रि के समय तापमान में गिरावट दर्ज की जा सकती है। वहीं सुबह व रात्रि को अत्याधिक धुंध भी आ सकती है। इस मौसम को ध्यान में रखते हुए किसान अपनी फसलों का विशेष ध्यान रखें। तापमान को बढ़ाने के लिए खेतों के आसपास धुंआ भी कर सकते हैं।

हिसार में 5.5 डिग्री सेल्सियस पहुंचा रात्रि तापमान

मौसम के आंकड़ों को देखें ताे हिसार में रात्रि तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं नारनाैल में एक दिन पहले तापमान एक डिग्री सेल्सियस के आसपास था जो बढ़कर 6.7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। इसके साथ ही गलन लोगों को अधिक महसूस हो रही है। इसके चलते लोग अलाव व हीटर का प्रयोग कर रहे हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.