पिस्तौल के बल पर लूट करने वाले दो युवक गिरफ्तार

करीब एक महीने पहले पिस्तौल के बल पर एक दुकानदार से पांच हजार व मोबाइल फोन लूटे थे।

JagranFri, 24 Sep 2021 11:13 PM (IST)
पिस्तौल के बल पर लूट करने वाले दो युवक गिरफ्तार

संस,नारनौंद : करीब एक महीने पहले पिस्तौल के बल पर एक दुकानदार से पांच हजार व मोबाइल फोन छीनने के दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। दोनों को गिरफ्तार करके हांसी की कोर्ट में पेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपितों की पहचान नारनौंद निवासी वार्ड 11 के विकास उर्फ आकाश व साहिल उर्फ बागड़ी जिन्होंने 29 अगस्त की रात को मोटरसाइकिल पर सवार दुकानदार सूर्य प्रकाश निवासी गढ़ी अजिमा को पिस्तौल दिखाकर पांच हजार नगदी व एक मोबाइल पिस्तौल दिखा कर लूट लिया था। पुलिस ने साइबर सेल की सहायता से दोनों आरोपितों की पहचान की और जिनको शुक्रवार को गांव के ही बस स्टैंड से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। दोनों आरोपितों को हांसी की कोर्ट में पेश किया गया जहां से दोनों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर लाया गया है। रिमांड के दौरान पुलिस लूटी गई राशि व मोबाइल फोन बरामद करेगी। इस संबंध में थाना प्रभारी उमेद सिंह ने बताया कि दोनों आरोपितों को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लाया गया है रिमांड के दौरान लूट की राशि बरामद व अन्य साथियों के बारे में भी पूछताछ की जाएगी।

पुलिस ने भारी मात्रा में की अवैध शराब बरामद

संस,नारनौंद : नारनौंद पुलिस पिछले काफी समय से अवैध शराब पर लगाम लगाने के लिए अभियान चलाए हुए हैं। इसी कड़ी में पुलिस ने एक युवक से 39 बोतल देसी शराब बरामद करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने एक गिरफ्तार किया गया जिस की पहचान राज कुमार निवासी ढाणी कुम्हारन के रूप में हुई जिसके कब्जे से 39 बोतल देसी शराब बरामद हुई जिसके खिलाफ थाना नारनौद में आबकारी अधिनियम संशोधित 2020 के तहत कार्यवाही की गई है। जिस को गिरफ्तार करके माननीय न्यायालय में पेश करके जेल भेज दिया है।

स्कूली छात्रों ने दिखाई हरियाणवी संस्कृति की झलक

संस,नारनौंद : हरियाणा के स्कूली छात्रों में हुनर की कोई कमी नहीं है। अगर बच्चों को उनके टैलेंट के आधार पर आगे बढ़ाया जाए तो उनका भविष्य उज्जवल होने से कोई नहीं रोक सकता। उक्त शब्द नारनौंद के खंड शिक्षा अधिकारी अमनदीप ने कल्चरल फेस्ट 2021 के सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान बच्चों को संबोधित करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि हरियाणवी संस्कृति को बढ़ावा देने और बच्चों के हुनर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान देने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन करवाया जाता है। इस दौरान एकल नृत्य, सामूहिक नृत्य व रागिनी प्रतियोगिताओं में स्कूली बच्चों ने दमखम दिखाया। प्रतियोगिता में करीब 12 स्कूलों से 75 प्रतिभागियों ने भाग लिया। इस दौरान मेडम उर्मिल, सुमित्रा देवी, सुशीला व मेडम सरोज ने निर्णायक मंडल की भूमिका निभाई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.