हिसार के गांव पातन में जमीन के विवाद को लेकर आगजनी व तोड़फोड़ के बाद गांव में तनाव, पुलिस तैनात

हिसार के गांव पातन में जमीनी विवाद में क्षतिग्रस्‍त किया हुआ ट्रैक्‍टर

बवाल के बाद गांव में तनाव का माहौल बना हुआ है। जिस जगह पर आगजनी और तोड़फोड़ हुई वहां पर अभी भी पुलिस बल तैनात है। लगातार 45 मिनट तक दोनों पक्षों की ओर से ईंटे बरसती रहीं। तीन वाहनों का जला दिया गया तो पुलिस पीसीआर भी क्षतिग्रस्‍त हुई।

Manoj KumarSun, 18 Apr 2021 03:05 PM (IST)

हिसार, जेएनएन। हिसार में गंगवा से सटे गांव पातन में शनिवार को देर रात पंचायती जमीन पर कब्जे को लेकर हुए बवाल के बाद गांव में तनाव का माहौल बना हुआ है। जिस जगह पर आगजनी और तोड़फोड़ हुई वहां पर अभी भी पुलिस बल तैनात है। लगातार 45 मिनट तक दोनों पक्षों की ओर से ईंटे बरसती रहीं। तीन वाहनों का जला दिया गया तो पुलिस पीसीआर भी क्षतिग्रस्‍त हुई।

एक पक्ष का आरोप है कि गांव के नंबरदार ने अन्‍य लोगों के सााथ मिलकर पंचायती जमीन के साथ लगती वक्फ बोर्ड की जमीन पर 15 साल से पत्नी बच्चों के साथ रह रहे अनुसूचित जाति के परिवार को घर से निकाल दिया। नंबरदार ने परिवार के साथ मारपीट भी की और जबरन घर से सामान बाहर फेंककर घर को ताला लगा दिया। इसके बाद ग्रामीणों तक यह मामला पहुंचा। गांव में अनुसूचित जाति व अन्य समाज के लोगों ने पंचायत की ओर विरोध करने का फैसला लिया और मकान में फिर से पीड़ित संजय कुमार व उसके परिवार को भेज दिया।इसके बाद शाम को नंबरदार के आदमी फिर से गांव में आए गए। इस दौरान सरपंच व ग्रामीणों ने पुलिस को फोन कर गांव में तनाव होने की सूचना दी। देखते ही देखते दोनों पक्षों के लोग आमने-सामने हो गए।

वहीं दूसरी ओर नंबरदार पक्ष का कहना है कि भाईचारे में प्रयोग करने के लिए कई साल पहले बुजुर्गों ने अनुसूचित जाति के परिवार को जगह दी थी। जिसे अब खाली करने के लिए कहा गया था। मगर इस पर वे नहीं माने और हम पर हमला कर दिया। अनुसूचित जात‍ि वर्ग ने पहले से ही हमला करने की साजिश रच रखी थी।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ग्रामीणों व दूसरे पक्ष के लोगों ने एक दूसरे पर पथराव शुरू कर दिया। यहां तक की वाहनों को भी आग लगा दी गई। दोनों पक्षों के बीच हुए झगड़े में एक पक्ष ने दूसरे पक्ष की बोलेरों और मोटसाइकिल को आग लगा दी। देखते ही देखते मंगाली और बालसमंद से भी पुलिस फोर्स को स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए भेजा गया। पुलिस ने स्थिति पर निंयत्रण पाने के लिए लाठीचार्ज तक किया।

डीआइजी सहित 500 पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे

रात साढ़े आठ बजे घटना की जानकारी मिलते ही डीआइजी बलवान सिंह राणा मौके पर पहुंचे। मंगाली, आजाद नगर और बालसमंद से करीब 500 पुलिसकर्मियों को स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए भेजा गया। पूरा गांव छावनी में तबदील कर दिया गया। रात 11 बजे तक डीआइजी बलवान सिंह राणा स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए जुटे रहे। पुलिस गांव के लोगों व सरपंच प्रतिनिधि विजय कुमार के साथ बातचीत कर मामले को शांत करवाने को जुटी रही।

हर थाने व चौकी से पुलिस फोर्स को भेजा

पातन में स्थिति इतनी तनावपूर्ण में नाइट कफ्यू की भी परवाह ना करते हुए दोनों पक्षों के बीच बवाल जारी रहा। बवाल के कारण हिसार शहर के हर चौकी व थाने से इंचाजों को डीआइजी ने मौके पर बुला लिया। इसके अलावा सभी डीएसपी भी मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभालने में जुटे रहे।

बाहरी लोगों ने माहौल खराब किया : सरपंच प्रतिनिधि

गांव पातन के सरपंच प्रतिनिध संजय कुमार ने बताया कि वक्फ बोर्ड और पंचायत जमीन के पास एक परिवार कई सालों से रह रहा है। गांव का संजय कुमार अनुसूचित जाति से है और गांव के नंबरदार के पिता ने मकान संजय को दिया था और संजय ने बदले में कुछ धनराशि भी चुकाई थी। मगर अब नंबरदार ने मकान पर कब्जाने की नियत से आज सुबह और फिर शाम को हमला कर दिया।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.