हरियाणा के शहरों में एलइडी लाइट लगाने का दिया टेंडर, डेढ़ साल से एजेंसी का अता पता तक नहीं

प्रदेश के सभी शहरों में एलइडी बल्ब लगाने के लिए राजस्थान की एक निजी कंपनी को टेंडर दे दिया। टेंडर में यह शर्त थी कि कोई भी नगरपरिषद व नगरपालिका अपने स्तर पर एक भी बल्ब नहीं लगाएगी। अगर बल्ब लगना होगा तो एजेंसी ही लगाएगी।

Manoj KumarWed, 09 Jun 2021 05:45 PM (IST)
हरियाणा के शहरों में एलईडी बल्‍ब लगवाने का प्रोजेक्‍ट सिरे नहीं चढ़ पाया

फतेहाबाद [विनोद कुमार] करीब डेढ़ साल पहले सरकार ने प्रदेश के सभी शहरों में एलइडी बल्ब लगाने के लिए राजस्थान की एक निजी कंपनी को टेंडर दे दिया। टेंडर में यह शर्त थी कि कोई भी नगरपरिषद व नगरपालिका अपने स्तर पर एक भी बल्ब नहीं लगाएगी। अगर बल्ब लगना होगा तो एजेंसी ही लगाएगी। इसके लिए स्थानीय निकाय विभाग ने सभी नगर परिषद व नगरपालिका अधिकारियों के पास पत्र भेजकर आदेश दे दिए थे कि वो अपने स्तर पर एक भी बल्ब शहर में ना लगवाए।

इस आदेश के बाद अधिकारियों ने कुछ समय के लिए एक भी एलइडी बल्ब नहीं लगवाया। लेकिन जैसे जैसे समय गुजरता गया तो कुछ स्थानों पर बल्ब भी लगवाने पड़े। लेकिन वो हर महीने खराब हो रहे है। इसके अलावा नगर पार्षदों के विरोध का सामना भी करना पड़ रहा है। यहीं कारण है कि एलइडी बल्ब को लेकर अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है।

फतेहाबाद जिले में फतेहाबाद, टोहाना, भूना व रतिया नगरपरिषद व नगरपालिका कार्यकाल 12 जून को समाप्त हो रहा है। यहां के पार्षद पिछले डेढ़ साल से एक भी बल्ब अपने वार्ड में नहीं लगवा पाए है। ऐसे में उनका विरोध भी है। पार्षद खुद दावा कर रहे है कि कितनी बार लिखित में शिकायत दी कि उनके वार्ड में कम से कम बल्ब तो लगवा दे ताकि अंधेरे से छुटकारा मिल सके।

फतेहाबाद शहर को मिलनी है 4200 एलइडी

शाम होते ही शहर के कुछ क्षेत्र अंधेरे में डूब जाते है। इसका मुख्य कारण स्ट्रीट लाइटें न होना है। शहर में 3200 नई एलइडी लाइटें लगनी है। इसके अलावा 9्र00 बल्ब पीले लगे हुए है जो बदलने है। ऐसे में फतेहाबाद शहर में 4200 एलइडी लगनी है। लेकिन यह तभी होगा जब एजेंसी आएगी। अधिकारियों ने करीब डेढ़ साल पहले इसका प्रपोजल तैयार कर लिया है। कहां- कितनी एलइडी लगानी है इसका डाटा अधिकारी अपनी जेब व मोबाइल में लेकर घूम रहे है। लेकिन एजेंसी का कोई अतापता नहीं है कि कब आएगी।

जिले के शहरों में लगने वाली एलइडी लाइटों का ब्योरा

फतेहाबाद शहर में लगनी एलइडी लाइटें : 4200

कितने पोल पर लगे हुए है पीले बल्ब : 900

कितनी नई एलइडी लाइट लगनी है : 3300

टोहाना में लगनी है एलइडी लाइटें : 3500

जाखल शहर में लगनी एलइडी लाइटें : 2000

भूना में लगनी एलइडी लाइटें : 1500

रतिया में लगनी एलइडी लाइटें : 2500

 

----पूरे प्रदेश में एलइडी लाइटें लगाने का टेंडर एक एजेंसी को दिया गया है। हमारे पास पहले पत्र आ गया है कि आप अपने स्तर पर शहर में एक भी स्ट्रीट लाइट नहीं लगवा सकते है। लेकिन जहां जरूरत अधिक है वहां अपने स्तर पर स्ट्रीट लाइटें लगवा रहे है। लेकिन सभी जगह पर एलइडी लगाने का काम एजेंसी करेगी। यह एजेंसी कब आएगी कुछ पता नहीं है।

अमित कौशिक, कार्यकारी अभियंता, नगरपरिषद फतेहाबाद।

-----हमारे वार्ड में स्ट्रीट लाइटें लगवाने के लिए नगरपरिषद के चक्कर काट चुके है। अधिकारी का एक ही जवाब होता है कि हम कुछ नहीं कर सकते है। हमारे कार्यकाल का डेढ़ साल तो एलइडी का एक बल्ब लगाने में निकल गया है। ऐसे में हम कैसे कह सकते है कि हमने विकास कार्य करवाए है। नप अधिकारियों के पास पावर होनी चाहिए कि कम से कम शहर में स्ट्रीट लाइटें तो लगवाए।

रणजीत सिंह ओड, पार्षद प्रतिनिधि वार्ड नंबर 6 फतेहाबाद।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.