top menutop menutop menu

डिप्टी सीएम के इलाके में सीवरेज जाम, विधायक निवास के पास पेयजल लाइन लीकेज, समाधान में इंजीनियर फेल

जागरण संवाददाता, हिसार : शहर में सीवरेज व पेयजल लाइन को दुरुस्त कर पाने में इन सेवाओं से जुड़े इंजीनियर असफल हो रहे हैं। उनकी कार्यप्रणाली कितनी बेहतर है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का आवास जिस अर्बन एस्टेट-टू में है, उस सेक्टर में सीवरेज लाइन व्यवस्था बदहाल है। मकान नंबर 600 से 800 की लाइन में सीवरेज का पानी घरों में बैक मार रहा है। सेक्टरवासी हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) के जेई से लेकर प्रशासक तक समस्या समाधान के लिए गुहार लगा चुके हैं लेकिन समाधान नहीं हो पा रहा। वहीं पेयजल लाइन की बात करें तो जनस्वास्थ्य विभाग के कागजों में भले ही जनता शुद्ध पेयजल पी रही हो लेकिन सच ये है कि वार्ड-20 में विधायक घर के पास से लेकर न्यू अग्रसेर कालोनी तक कई जगह पेयजल की लीकेज लाइन को पिछले एक सप्ताह में इंजीनियर दुरुस्त नहीं करवा पाए हैं। कई जगह लाइन की जांच के बाद भी अभी तक उन्हें लीकेज प्वाइंट नहीं मिला है, जिसके कारण वार्ड-20 के सैकड़ों लोग के घरों में दूषित पेयजल सप्लाई हो रहा है।

-------------

प्रशासक से मिले अर्बन एस्टेट-टू निवासी, एक बार फिर मिला आश्वासन

अर्बन एस्टेट-टू की आरडब्ल्यूए के महासचिव राकेश आर्य, कोषाध्यक्ष वीरेंद्र गुप्ता और डा. वैभव बिदानी ने एचएसवीवी के प्रशासक से मुलाकात की। उन्हें मकान नंबर 600 से 800 तक की सीवरेज लाइन जाम होने की स्थिति से अवगत करवाया। राकेश आर्य ने बताया कि उस दौरान प्रशासक ने एसई, एक्सईएन और जेई से जवाब मांगा। उन्होंने टेंडर लगे होने की बात कही। लेकिन हैरानी की बात यह है कि बरसात का मौसम आ चुका है अभी तक टेंडर लग रहे हैं तो सफाई कब होगी। प्रशासक ने हमें आश्वासन दिया है कि जल्द लाइन सफाई के टेंडर का प्रोसेस सीरे चढ़ाया जाएगा।

------------------

आरडब्ल्यूए ने एचएसवीपी अफसरों को उनकी गली की समस्या दिखा कहा-यह तो ठीक कर लो

आरडब्ल्यूए के पदाधिकारी बोले कि अर्बन एस्टेट टू में एचएसवीपी के एक्सईएन से लेकर दूसरे अधिकारी तक के मकान र्ह। उनकी गली में सीवरेज समस्या है। कई बार उनकी गली में भी पानी भरा रहता है। हमने उन्हें उनकी गली में जलभराव की स्थिति दिखाते हुए आग्रह कर चुके है कि कम से कम अपनी गली को तो दुरुस्त कर लो। वे आज तक अपनी गली को ही दुरुस्त नहीं कर पा रहे हैं।

------------------------

सालों से विधायक के घर के पास की लीकेज नहीं हुई दुरूस्त

विधायक के घर से चंद कदमों की दूरी पर बालसंमद रोड से घोड़ाफार्म लाइन की ओर वाले मार्ग के कोने पर पिछले कई सालों ने जनस्वास्थ्य विभाग पेयजल लाइन तो कभी सीवरेज लाइन की समस्या के समाधान के लिए उस सड़क को खोदता रहता है। इस बार पेयजल लाइन की लीकेज की समस्या आई हुई है। पार्षद की मानें तो अधिकारी उनके वार्ड में 8 दिन से लीकेज नहीं तलाश पा रहे हैं। हालात ये हैं कि न्यू अग्रेसर कालोनी, विद्यानगर में कई गलियों में दूषित पेयजल सप्लाई हो रहा है। वहीं भामाशाह की कई गलियों और विवेक विहार सहित आसपास के क्षेत्र में पेयजल की समस्या आई हुई है।

-------------------

चीफ इंजीनियर तक पहुंचा मामला

जनस्वास्थ्य विभाग के अफसरों से बार-बार गुहार लगाने के बावजूद महावीर कालोनी में चहल पार्क के पास सीवरेज समस्या का समाधान नहीं होने पर अब लोगों ने उनके मुख्यालय में बैठे अफसरों से गुहार लगानी शुरू कर दी है। भाजपा के युवा नेता मनोज कुमार ने बताया कि डीसी से लेकर जनस्वास्थ्य विभाग के चीफ इंजीनियर से बातचीत की और चहल पार्क के पास सीवरेज लाइन दुरुस्त करने की मांग की।

---------------

वार्ड-20 में 8 दिन से गड्ढे खोदकर पेयजल लाइन लीकेज की तलाश की जा रही है। लेकिन अभी तक घरों में दूषित पानी सप्लाई होने के प्वाइंट को जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी तलाश नहीं पाए हैं। मेरे वार्ड में कई कालोनी की गलियों में पानी नहीं पहुंच रहा तो किसी में दूषित पानी आ रहा है। समस्या समाधान कब होगा कोई नहीं जानता। अफसर अभी तक कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए है।

- अंबिका शर्मा, पार्षद वार्ड-20

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.