गुरुग्राम और सिरसा के बाद अब भिवानी में रोबोटिक सिस्टम मशीन से शुरू हुई सीवरेज की सफाई

सीवरेज सफाई की मशीन कर्नाटक से मंगवाई गई है जिस पर 42 लाख रुपये खर्च किए गए हैं

भिवानी विधायक घनश्याम सर्राफ और जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षण अभियंता जसवंत सिंह नरवाल ने भोजावाली देवी मंदिर के सामने सीवर के मेनहोल की सफाई के लिए मशीन का शुभारंभ किया। यह मशीन एक दिन में 10 से 12 सीवर के मेन होल साफ कर सकती है।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 05:58 PM (IST) Author: Manoj Kumar

भिवानी, जेएनएन। गुरुग्राम और सिरसा के बाद अब भिवानी में भी रोबोटिक मशीन से सीवर के मेनहाेल की सफाई का कार्य आरंभ हो गया है। यह मशीन कर्नाटक से 42 लााख रुपये की लागत से मंगवाई गई है। यहां ट्रायल लेने के बाद इस मशीन ने काम शुरू कर दिया है। विधायक घनश्याम सर्राफ और जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षण अभियंता जसवंत सिंह नरवाल ने भोजावाली देवी मंदिर के सामने सीवर के मेनहोल की सफाई के लिए मशीन का शुभारंभ किया। एक साल तक इस मशीन को कंपनी के इंजीनियर आपरेट करेंगे। यह मशीन एक दिन में 10 से 12 सीवर के मेन होल साफ कर सकती है।

भिवानी शहर में आमतौर पर सीवर जाम रहने की समस्या बनी रहती है। यह मशीन आने के बाद शहर में सीवर जाम होने की समस्या से निजात मिलेगी। सीवर में जहरीली गैस से होने वाले हादसों पर भी ब्रेक लगेगा। विधायक घनश्याम सर्राफ ने कहा कि शहर में सीवरेज जाम रहने की समस्या बहुत हो गई थी। अब नई रोबोटिक मशीन से सीवर के मेन होल की सफाई होगी ओर जल्द ही सीवर समस्या से राहत मिलेगी। इस मौके पर जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षण अभियंता जसवंत सिंह नरवाल, कार्यकारी अभियंता बलविंद नैन, अभियंता विकास ज्याणी और विकास धनखड़, इंजीनियर मुकेश कुमार, अबय कुमार के अलावा कनिष्ठ अभियंता महेंद्र सिंह आदि माैजूद रहे।

केरल से मंगवाई गई है यह रोबोटिक सिस्टम मशीन

जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार भिवानी में मंगवाई गई यह रोबाेटिक सिस्टम मशीन केरल से मंगवाई गई है। इस मशीन के आने से शहर की सीवरेज व्यवस्था दुरुस्त हो जाएगी। शहर वासियों को आए दिन जाम रहने वाली सीवरेज व्यवस्था से निजात मिल सकेगी।

एक साल तक कंपनी खुद संभालेगी मशीन के आप्रेट की जिम्मेदारी

कनिष्ठ अभियंता महेंद्र सिंह ने बताया कि रोबोटिक सिस्टम मशीन ट्रायल के बाद चालू हो गई है। इसे शुक्रवार को भोजावाली देवी मंदिर के  सामने सीवर के मेन होल की सफाई के कार्य के साथ शुरू किया गया है। सीवर चोक होने की समस्या से यह मशीन निजात दिलाएगी।

दर्जनभर सीवर मैन हो चुके अकाल का ग्रास

सीवर में उतरने से जहरीली गैस की वजह से पिछले 10 साल में दर्जन भर सीवर मैन अकाल का ग्रास बन चुके हैं। शहर के औद्योगिक क्षेत्र में सीवर की सफाई करते हुए दो, बीटीएम रोड पर दो, पुराना बस अड्डा क्षेत्र में दो, जोगीवाला मंदिर और श्रीकृष्ण मंदिर के सामाने एक-एक और इसके अलावा भी सीवर मैन कर्मचारी सीवर में उतरने से जहरीली गैस की वजह से अकाल का ग्रास बन चुके हैं।

रोबोटिक सिस्टम मशीन यूं करेगी काम

रोबोटिक मशीन सीवर के मेन होल में उतरेगी। मशीन को कंप्यूटर से कमांड दी जाएगी। यह सीवर के मेन होल में कैमरे से संदेश भेजेगी की सीवर के मेन होल में कितनी रुकावट है। इसके बाद यह मशीन सीवर के मेन होल को साफ करने का काम करेगी। कमांड देकर छोड़ने के बाद मशीन खुद कचरा सीवर से बाहर निकालेगी। इसके साथ ही कचरा डालने के लिए अलग से कर्मचारी तैनात रहेंगे।

----सीवरेज व्यवस्था में सुधार के लिए इस तरह की रोबोटिक मशीन की जरूरत थी। प्रदेश में भिवानी तीसरा शहर है जहां  पर रोबोटिक सिस्टम मशीन आई है। शहर की सीवरेज व्यवस्था को सुधारने में यह मशीन अहम साबित होगी।

--जसवंत सिंह, अधीक्षण अभियंता, जन स्वास्थ्य विभाग।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.