हिसार में सडक़ दुर्घटनाओं में आई कमी, 2019 में 451 तो 2020 में घटकर 355 हुए हादसे

हिसार जिला सभागार में आयोजित बैठक में सडक़ सुरक्षा उपायों की समीक्षा करती उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी।

डीसी ने कहा कि वर्ष 2019 में जिले में सडक़ दुर्घटनाओं के 451 मामले सामने आए थे वर्ष 2020 में यह आंकड़ा घटकर 355 रह गया है। वर्ष 2019 में विभिन्न सडक़ दुर्घटनाओं में 171 लोगों की जान गई थी। वर्ष 2020 में यह संख्या घटकर 140 रह गई है।

Publish Date:Thu, 28 Jan 2021 06:32 PM (IST) Author: Manoj Kumar

हिसार, जेएनएन। उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा है कि जिला हिसार में सडक़ सुरक्षा की दिशा में किए जा रहे विभिन्न प्रयासों के चलते सडक़ दुर्घटनाओं में काफी कमी आई है। वीरवार को जिला सडक़ सुरक्षा समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में जिले में सडक़ दुर्घटनाओं के 451 मामले सामने आए थे, वर्ष 2020 में यह आंकड़ा घटकर 355 रह गया है। इसी प्रकार से वर्ष 2019 में विभिन्न सडक़ दुर्घटनाओं में 171 लोगों की जान गई थी। वर्ष 2020 में यह संख्या घटकर 140 रह गई है।

उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा कि भले ही सडक़ दुर्घटनाओं में कमी आई हो लेकिन दुर्घटनाओं के आंकड़े अभी भी अधिक हैं। इसलिए सडक़ दुर्घटनाओं के मामलों में कमी लाने के लिए सभी संबंधित विभागों को अपनी जिम्मेवारियों का गंभीरता से निर्वहन करना होगा। मानव जीवन अमूल्य है, इसलिए विभाग की लापरवाही से किसी भी व्यक्ति की जान नहीं जानी चाहिए।

बैठक के दौरान उन्होंने यातायात नियमों की उल्लघंना करने वालों के विरूद्घ कड़ाई बरतने के निर्देश दिए। बैठक में उपायुक्त को अवगत करवाया गया कि आरटीए द्वारा पिछले वर्ष नियमों की उल्लघंना करने वाले लोगों के 889 चालान किए गए थे जबकि बीते वर्ष 1418 चालान किए गए हैं।

बैठक के दौरान उपायुक्त ने सभी संबंधित विभागों के विभागाध्यक्षों को निर्देश दिए कि वे जिला सडक़ सुरक्षा समिति की सभी हिदायतों की अनुपालना को सुनिश्चित करें।

इस कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही को सहन नहीं किया जाएगा। लोक निर्माण विभाग तथा राष्टï्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को इस दिशा में पूरी जिम्मेदारी एवं गंभीरता से कार्य करना होगा। बैठक में संबंधित मुद्दों के अंतर्गत सडक़ों, बाजारों व अन्य आवश्यक एवं महत्वपूर्ण स्थानों पर सुरक्षा की दृष्टि से किए जाने वाले प्रबंधों की स्थिति बारे जानकारी ली गई।

उपायुक्त ने नई सर्विस लेन बनाने, खुल्ले मेन हॉल को बंद करने, अतिक्रमण हटाने, ब्लैक स्पॉट चिन्हित कर उन्हें दुरूस्त करने, सडक़ सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाने, चिन्हित जगहों पर स्पीड ब्रेकर बनवाने, ट्रैफिक लाइट व्यवस्था, जैब्रा क्रॉसिंग, चेतावनी बोडर्स, ट्रैफिक चालान, आरटीए चालान, स्वास्थ्य जांच शिविर आदि से संबंधित मामलों की जानकारी लेकर प्रगति की समीक्षा की तथा बेहतर क्रियांवन सुनिश्चित करने के लिए संबंधितअधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

इस अवसर पर आरटीए सचिव सुनील कुमार, हांसी एसडीएम जितेंद्र सिंह, नारनौंद एसडीएम विकास यादव, हिसार एसडीएम अश्वीर नैन, बरवाला एसडीएम राजेंद्र सिंह, डीएसपी जोगेंद्र शर्मा सहित विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.