फतेहाबाद में कोरोना की नई लहर से निपटने की तैयारी, अब हर दिन लिए जाएंगे 1200 सैंपल

नए वैरिएंट ओमिक्रोन की सूचना के बाद जिला स्वास्थ्य विभाग भी सचेत हो गया है। स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर जो काम चल रहे थे उसमें तेजी लाने के आदेश जारी कर दिया गया है। इसके अलावा जिले में अब कोरोना का एक भी नए केस नहीं है।

Manoj KumarMon, 29 Nov 2021 05:32 PM (IST)
फतेहाबाद में अगले महीने शुरू होगी कोरोना सैंपल जांच की लैब, मशीन भी पहुंची

जागरण संवाददाता, फतेहाबाद : कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन की सूचना के बाद जिला स्वास्थ्य विभाग भी सचेत हो गया है। स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर जो काम चल रहे थे उसमें तेजी लाने के आदेश जारी कर दिया गया है। इसके अलावा जिले में अब कोरोना का एक भी नए केस नहीं है। पिछले दिनों दो विद्यार्थी कोरोना पाजिटिव मिले थे। लेकिन सोमवार को इन विद्यार्थियों ने कोरोना का मात दे दी और उनका क्वारंटाइन भी पूरा हो गया है। जिससे स्वास्थ्य विभाग को राहत मिली है। लेकिन कोरोना के नए वैरिंएंट को लेकर जिला स्वास्थ्य विभाग सचेत नजर आ रहा है। अब जिले में हर दिन 1200 सैंपल लेने के आदेश दे दिए है।

अब मौजूदा समय में केवल 300 से 500 सैंपल लिए जा रहे है। ऐसे में इन सैंपलों को बढ़ाने के आदेश दिए है। इसके लिए सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की तरफ से खंड अधिकारियों को पत्र जारी कर दिया गया है। अस्पताल में आने वाले मरीजों के साथ स्कूलों व बाजारों में जाकर कोरोना के सैंपल लिए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग का मानना है कि रैंडम सैंपल लेने के बाद पता चलता रहेगा कि जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति कैसी है।

कोरोना सैंपल जांच लैब समय पर नहीं हो सकी शुरू

कोरोना की दूसरी लहर समाप्त होने के बाद फतेहाबाद जिले में कोरोना सैंपल जांच के लिए लैब का शुभारंभ किया गया। यह लैब गांव बड़ोपल के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बनाई गई है। स्वास्थ्य विभाग को नवंबर महीने में इसका काम पूरा करना था। लेकिन सामान समय पर न खरीदने के कारण इसमें देरी हुई है। अब कोरोना के जितने भी सैंपल लिए जा रहे है वो अग्रोहा या फिर सिरसा भेजे जा रहे है। ऐसे में दिसंबर में यह टेस्ट लैब शुरू हो जाएगी। जिसके बाद तीन दिन में मिलने वाली रिपोर्ट 10 से 12 घंटे में मिलेगी।

आइसीयू भी बनकर नहीं हुई तैयार

नागरिक अस्पताल में 10 बेड की आईसीयू तैयार करने का काम पीडब्ल्यूडी बीएडंआर को दिया गया है, इस पर करीब डेढ़ करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं। अत्याधुनिक आईसीयू में आक्सीजन पाइप लाइन बिछाने व अन्य उपकरणों के कनेक्शन जोड़ने का काम पूरा हो चुका है। लेकिन अभी तक एयर और वैक्यूम जनरेटर नहीं आए हैं। ये जनरेटर यूएसए से आने है। इनके आने के बाद ही फाइनल कनेक्शन होंगे। नागरिक अस्पताल में आईसीयू तक गंभीर मरीजों को पहुंचाने के लिए लिफ्ट भी लगाई जा रही है। लिफ्ट पर करीब 20 लाख रुपये की लागत आनी है। लिफ्ट लगाने का काम करीब दो माह पहले शुरू हुआ था लेकिन अभी बीच में अटका हुआ है। लोक निर्माण विभाग ही लिफ्ट लगा रहा है। लिफ्ट इंस्टाल हो चुकी है लेकिन सप्लाई की केबल नहीं डली है। इसके बाद ही लिफ्ट शुरू हो पाएगी।

आक्सीजन प्लांट बनकर तैयार, मरीज आने के साथ ही शुरू हो जाएंगे जागरण फतेहाबाद

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जिले में फतेहबाद, रतिया व टोहाना के नागरिक अस्पताल में आक्सीजन प्लांट लगाए गए है। इनका काम पूरा हो गया है। टेस्टिंग होने के साथ ट्रायल भी पूरा हो गया है। आक्सीजन की गुणवता की जांच भी थर्ड पार्टी कर चुकी है। अधिकारियों का दावा है कि जैसे ही कोरोना के मरीज भर्ती किए जाएंगे आक्सीजन प्लांट शुरू कर दिए जाएंगे। यहां पर बिजली कनेक्शन व जरनेटर तक की सुविधा मिल गई है।

अब जाने जिले में कोरोना की स्थिति

जिले में अब तक लिए गए कोरोना सैंपल : 334391

जिले में मिले कोरोना मरीज : 17838

जिले में एक्टिव केस : 000

जिले में ठीक हुए मरीज : 17353

जिले में कोरोना से मौत : 485

- -- - जिले में कोरोना के सैंपल बढ़ाने के आदेश दिए हैं। अब हर दिन 1200 से 1500 सैंपल लिए जाएंगे। अस्पताल में आए मरीजों के सैंपल लेने के साथ ही स्कूलों में विद्यार्थियों के सैंपल लिए जाएंगे। आक्सीजन प्लांट बनकर तैयार है। मरीज आने के बाद इन प्लांटों को शुरू कर दिया जाएगा।

डा. मेजर शरद तूली, नाेडल अधिकारी फतेहाबाद।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.