मुंढाल में दिल्ली कूच कर रहे किसानों के ट्रैक्टरों के पीछे दौड़े पुलिस कर्मी, हुई तीखी बहस

पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए लाठी चार्ज नहीं लिया लेकिन हलका बल प्रयोग किया।

हिसार जिले के मुंडाल में किसानों को रोकने के लिए पुलिस कर्मी काफी दूर तक ट्रैक्टरों के पीछे दौड़े व चलते हुए ट्रैक्टरों पर चढ़कर चाबियां निकाल ली। जिसके बाद किसान भड़क गए और पुलिस के साथ तीखी नोकझोंक हुई।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 06:37 PM (IST) Author: Manoj Kumar

हांसी [मनप्रीत सिंह] दिल्ली कूच कर रहे किसानों को पुलिस ने दिल्ली रोड़ पर स्थित मुंढाल चौक पर रोक लिया। ट्रैक्टरों में भरकर जा रहे किसानों को रोकने के लिए पुलिस कर्मी काफी दूर तक ट्रैक्टरों के पीछे दौड़े व चलते हुए ट्रैक्टरों पर चढ़कर चाबियां निकाल ली। जिसके बाद किसान भड़क गए और पुलिस के साथ तीखी नोकझोंक हुई। पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए लाठी चार्ज नहीं लिया लेकिन हलका बल प्रयोग किया। आखिर किसानों का जत्था पीपला पुल के नजदीक हाइवे के किनारे धरने पर बैठ गया।

भिवानी, तोशाम, हांसी, नारनौंद, हिसार आदि जिलों के कई गांवों के किसानों ने मुंढाल चौक पर एकत्रित होने का ऐलान कर रखा था। धीरे-धीरे किसान चौक पर जुटने शुरु हुए और दिल्ली की तरफ निकल पड़े। गांव से निकलते ही पुलिस फोर्स ने उन्हें रोकने का दो बार प्रयास किया, लेकिन किसान आगे बढ़ते गए। आखिर पुलिस ने किसानों को आगे जाने से रोक दिया। सूचना मिलते ही भारी संख्या में पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई।

एसएचओ दौड़े ट्रैक्टरों के पीछे

जैसे ही मुंढाल चौक पर किसानों ने ट्रैक्टरों को दिल्ली की तरफ बढ़ाना शुरु किया तो मौके पर मौजूद भिवानी के एसएचओ विद्यानंद अगुवाई कर रहे ट्रैक्टर की चाबी को निकालने के लिए ट्रैक्टर के पीछे दौड़ पड़े। पुलिस कर्मी भागकर ट्रैक्टर पर चढ़ गए और किसी तरह से ट्रैक्टर को रुकवाया। करीब एक कि.मी तक ट्रैक्टरों के पीछे पुलिस कर्मी दौड़े। ट्रैक्टर जैसे-जैसे आगे बढ़ रहे थे पुलिस अधिकारियों के पसीनें छूट रहे थे। आखिर किसी तरह पुलिस ने स्थिति पर काबू पाया। किसानों व पुलिक के बीच यहां हलकी झड़प भी हुई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.