यात्रियों को जमालपुरशेखां रेलवे स्टेशन पर है ट्रेन का इंतजार, दो साल से नहीं लगे रेलगाड़ियों के ब्रेक

रेलवे विभाग ने 04571 स्पेशल गाड़ी भिवानी से धूरी 04572 धूरी से सिरसा 04573 सिरसा से लुधियाना 04574 लुधियाना से भिवानी 04575 हिसार से लुधियाना 04576 लुधियाना से हिसार शुरु की थी। इनमें से किसी भी गाड़ी का जमालपुर शेखां रेलवे स्टेशन पर कोई भी ठहराव नहीं है।

Naveen DalalPublish:Wed, 22 Dec 2021 07:25 PM (IST)Updated:Wed, 22 Dec 2021 07:25 PM (IST)
सांसद सुनीता दुग्गल सहित विभिन्न संगठन भी सरकार और विभाग से लगा चुके हैं गुहार।

सतभूषण गोयल, टोहाना। रेलवे विभाग ने कोरोना काल के चलते लगभग पौने दो वर्ष पहले हिसार- लुधियाना के बीच रल आवागमन बंद कर दिया था। इस साल छह माह पहले हिसार- लुधियाना रेल मार्ग पर विभाग ने डेढ़ वर्ष बाद तीन रेलगाडिय़ां शुरु की थी, लेकिन जमालपुरशेखां के रेलवे स्टेशन पर उनका ठहराव न होने के कारण आज भी टोहाना सहित, गांव जमालपुर शेखां तथा आसपास के क्षेत्र रतिया, कुलां व फतेहाबाद के लोग इस गाड़ी का जमालपुरशेखां रेलवे स्टेशन पर ठहराव होने की बाट जोह रहे है।

टोहाना उपमंडल का दूसरा रेलवे स्टेशन जमालपुर शेखां, रेलगाडिय़ों के ठहराव को तरस रहा

जमालपुर शेखां रेलवे स्टेशन जोकि टोहाना शहर के दूसरे बड़े रेलवे स्टेशन के नाम से जाना जाता है। इस रेलवे स्टेशन से टोहाना सहित आसपास के क्षेत्रों से लाकडाउन से पहले लगभग दो हजार यात्री प्रतिदिन अप-डाऊन करते थे। जबकि विभाग द्वारा गाडिय़ां शुरु करने के बाद ठहराव ना किये जाने से अब जाखल, उकलाना, बरवाला से आने वाले विद्यार्थियों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं आमजन तथा नौकरी करने वालों को लंबे रास्ते से बसों के द्वारा मंहगी यात्रा करनी पड़ रही है। जबकि जमालपुर शेखां से हिसार व लुधियाना आने-जाने वालों के लिए यह गाडिय़ां एक उत्तम साधन था। टोहाना से भी सैकड़ों यात्री प्रतिदिन इस रेलगाड़ी का लाभ उठाते थे।

ये शुरू की थी रेलगाड़िया

उल्लेखनीय है कि रेलवे विभाग ने 04571 स्पेशल गाड़ी भिवानी से धूरी, 04572 धूरी से सिरसा, 04573 सिरसा से लुधियाना, 04574 लुधियाना से भिवानी, 04575 हिसार से लुधियाना, 04576 लुधियाना से हिसार शुरु की थी। इनमें से किसी भी गाड़ी का जमालपुर शेखां रेलवे स्टेशन पर कोई भी ठहराव नहीं होने से लोगों ने रेलमंत्री से इन गाडियों के ठहराव की मांग की थी। लेकिन रेलमंत्री सहित किसी ने इस समस्या की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। जबकि सांसद सुनीता दुग्गल ने संसद में जमालपुर शेखां की आवाज को उठाया था, लेकिन रेलवे विभाग ने उसे भी अनदेखा कर दिया। सांसद सुनीता दुग्गल द्वारा भी संसद में जमालपुरशेखां रेलवे स्टेशन पर गाडियों के ठहराव की मांग उठाई थी। जिससे टोहाना क्षेत्रवासियों को आस जगी थी कि अब तो जल्द गाडिया रुकने लगेगी। लेकिन सांसद की आवाज को भी विभाग ने अनदेखा कर दिया। जबकि इस संदर्भ में हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल, रेलयात्री संघ, श्रीशनिदेव मंदिर सभा, ग्रामीण कालेज सहित कई संगठन रेलमंत्री के नाम से ज्ञापन देकर गांव जमालपुर शेखां के रेलवे स्टेशन पर गाडिय़ों के ठहराव की मांग कर चुके है।

सैकड़ों यात्री आते है स्टेशन पर

उल्लेखनीय है कि फतेहाबाद, रतिया व कुलां में रेल सेवा ना होने के कारण ज्यादातर इन गांवों के लोग हिसार, लुधियाना व जम्मू-कटरा व अमृतसर जाने के लिए जमालपुरशेखां रेलवे स्टेशन से ही रेलगाडिय़ों में सवार होते थे। उन लोगों को भी रेलवे विभाग द्वारा की जा रही अनदेखी से भारी निराशा हुई है।

समस्या के समाधान के लिए सुनिता दुग्गल ने किए कई प्रयास

मैंने यह मुद्दा उठाया था। अधिकारियों ने कहा था कि यह मांग जायज है और इस पर जल्द ही समाधान करेंगे। वे एक बार फिर इस मुद्दे को उठाएगी ताकि लोगों की समस्या का समाधान हो सके।

सुनीता दुग्गल, सांसद।

Tags

खास आपके लिए

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.