बहादुरगढ़ के परीक्षित वर्मा ने वजन घटाने के लिए शुरू की दौड़, अब बने मैराथन चैंपियन

परीक्षित वर्मा ने वजन घटाने के लिए तीन साल पहले दौड़ लगानी शुरू की थी और अब वे मैराथन के चैंपियन बन गए हैं। हाल ही में उन्होंने दिल्ली के एनइबी स्पोर्ट्स की ओर से 24 घंटे इंडिया ओपन रन में 12 घंटे में 80 किलोमीटर रन पूरी की है।

Manoj KumarWed, 08 Dec 2021 08:23 PM (IST)
10 किमी मैराथन से लेकर अब 80 किमी तक दौड़ चुके, अब 100 किमी दौड़ने की तैयारियों में जुटे परीक्षित

जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़: बहादुरगढ़ के सेक्टर छह निवासी परीक्षित वर्मा ने वजन घटाने के लिए तीन साल पहले दौड़ लगानी शुरू की थी और अब वे मैराथन के चैंपियन बन गए हैं। अब तक मैराथन के 76 इवेंट में भाग ले चुके हैं। हाल ही में उन्होंने दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में एनइबी स्पोर्ट्स की ओर से 24 घंटे इंडिया ओपन रन में 12 घंटे में 80 किलोमीटर की रन पूरी की है। परीक्षित बताते हैं कि वर्ष 2018 में उनका वजन 125 किलोग्राम था। कालेज में उनकी हंसी होती थी। उनके पिता नगर परिषद के पूर्व वाइस चेयरमैन धर्मवीर वर्मा ने उन्हें दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर की नौकरी के लिए तैयारी करने की बात कही थी। इसके लिए वजन घटाना था और दौड़ भी निर्धारित अवधि में पूरी करनी थी।

उस दौरान मैं 100 मीटर भी आसानी से नहीं दौड़ पाता था। ऐसे में मैंने दौड़ का अभ्यास शुरू किया। परीक्षित ने बताया कि एक दोस्त की प्रेरणा से मैंने मैराथन दौड़ लगानी शुरू की और उनमें भाग लेने लगा। सबसे पहले वर्ष 2018 में मैंने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम दिल्ली में हुई बोर्न टू रन में भाग लिया और 10 किलोमीटर की रन पूरी की। डाइट पर कंट्रोल करके, वेट ट्रेनिंग करते हुए दौड़ लगाते-लगाते उसने अपना वजन करीब 40 किलो तक घटा लिया है। अब मेरा वजन करीब 85 किलो है। वह बचपन से बास्केट बाल प्लेयर, बाक्सर, साइकिलिस्ट व स्वीमर भी है, मगर दौड़ लगानी उसने वर्ष 2018 में शुरू की थी। इसमें मेरे पिता धर्मवीर वर्मा, कोच आकाश व कुलश्रेष्ठ और मेरी सहयोगी करुणा अग्रवाल ने सहयोग दिया। मैंने अप्रैल 2019 में अमृतसर में हुई 21 किमी, 31 जनवरी 2020 को लखनऊ सर्किट रन में छह घंटे दौड़ कर 45 किमी और 13 मार्च 2020 को चंडीगढ़ स्टेडियम रन में 12 घंटे में 55 किमी की दौड़ पूरी की थी।

वर्ष 2020 में कोरोना के लाकडाउन के दौरान मैंने घर पर ही रहते हुए दौड़ का अभ्यास किया। मेरे कोच आकाश व कुलश्रेष्ठ ने दौड़, स्ट्रेचिंग, वेट ट्रेनिंग की वीडियो डालकर मुझे अभ्यास के लिए प्रेरित किया था। उसके बाद अब मैंने कुछ दिन पहले दिल्ली में हुई 80 किमी की दौड़ 12 घंटे में पूरी की है। 29 वर्षीय परीक्षित ने मैराथन प्रतियोगिता को बढ़ावा देने के लिए अपनी सहयोगी करुणा अग्रवाल के साथ मिलकर सितंबर 2021 में ही द रनिंग लायंस बहादुरगढ़ का गठन किया है। उनके संगठन की ओर से बहादुरगढ़ की एचएल सिटी में परीक्षा हाफ मैराथन का सफल आयोजन भी किया गया था।

परीक्षित बताते हैं कि वे अब 100 किमी दौड़ लगाने का लक्ष्य पूरा करेंगे। इसके लिए अभ्यास में जुट गए हैं। परीक्षित बताते हैं कि अभ्यास के तौर पर मैंने पहले सप्ताह में 150 किमी और दूसरे सप्ताह में 200 किमी दौड़ पूरी करने का लक्ष्य रखा है। इसमें उनका सहयोग द रनिंग लायंस की संस्थापक करुणा अग्रवाल और चीफ मेंबर्स कर्मवीर, हेमंत, चेतन, रोहित आदि करेंगे। ये भी अच्छे धावक हैं। फिटनेस मोटीवेटर करुणा अग्रवाल ने बताया कि परीक्षित वर्मा बहुत ही होनहार धावक हैं। उनमें काफी प्रतिभा है। वे आगे चलकर मैराथन के क्षेत्र में बहादुरगढ़ व प्रदेश का नाम रोशन करेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.