हिसार में एचआइवी एपीडी के ट्रांसफर के आदेश, मरीजों ने विज से ट्रांसफर रुकवाने के लिए किया ट्वीट

पंचकूला से एचआइवी एपीडी डा. मोनिका कौरा के स्वास्थ्य विभाग द्वारा ट्रांसफर के आदेश जारी कर दिए गए है। एक से दो दिन में ट्रांसफर के आदेश हैं। इस पर मरीजों ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से ट्रांसफर रुकवाने के आदेशों को वापस लेने के लिए ट्वीट किया है।

Manoj KumarPublish:Sun, 05 Dec 2021 11:13 AM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 11:13 AM (IST)
हिसार में एचआइवी एपीडी के ट्रांसफर के आदेश, मरीजों ने विज से ट्रांसफर रुकवाने के लिए किया ट्वीट
हिसार में एचआइवी एपीडी के ट्रांसफर के आदेश, मरीजों ने विज से ट्रांसफर रुकवाने के लिए किया ट्वीट

जागरण संवाददाता, हिसार। हरियाणा राज्य एड्स नियंत्रण सोसायटी पंचकूला से एचआइवी एपीडी डा. मोनिका कौरा के स्वास्थ्य विभाग द्वारा ट्रांसफर के आदेश जारी कर दिए गए है। बताया जा रहा है कि एक से दो दिन में ट्रांसफर के आदेश है। इस पर मरीजों ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से ट्रांसफर रुकवाने के आदेशों को वापस लेने के लिए ट्वीट किया है। ट्वीट में मरीजों का कहना है कि एपीडी डा. मोनिका कौरा ने मरीजों को बच्चों की तरह संभाला है। हरियाणा एड्स नियंत्रण सोसायटी पंचकूला से ट्रांसफर न किया जाएं।

मरीजों ने यह तक ट्वीट किया है कि सभी एचआइवी मरीजों की मांग है कि उनकी मां उनसे ना छिने। एपीडी डा. मोनिका कौरा ने बेहतरीन काम किए है। आपसे विनती है कि उनकी तबादला रोक दिया जाएं। कुछ मरीजों यह तक ट्वीट किया है कि डा. मोनिका कौरा उनके लिए एक अधिकारी नहीं, ब्लकि मां है। उनके बिना सभी मरीज अनाथ हो जाएंगे। मरीजों ने टविट पर डा. मोनिका के कार्यक्रम करते हुए फुटेज भी शेयर की है। मरीजों को स्वास्थ्य मंत्री से काफी उम्मीदें है कि उनका तबादला रोका जाएगा।

हिसार जिले में एचआइवी के करीब 1200 के आसपास मरीज है। यह ऐसे मरीज है, जो एचआइवी से ग्रस्त है।इसमें मरीज समय पर उपचार लेता रहा तो ठीक रहता है। अगर इलाज बीच में छोड़ दिया जाएं तो परेशानी हो सकती है। यह एड्स की शुरूआत स्टेज है। करीब 10 सालों के बाद मरीज एड्स की स्टेज में पहुंचता है। ज्यादातर मरीज एआरटी सेंटर से उपचार लेते है। डा. मोनिका मरीजों से सीधा संवाद रखती है और उनमें जागरूकता पैदा करती है।