Private hospitals protest: हिसार के 400 अस्पतालों में 2 बजे तक ओपीडी बंद, सिविल अस्पताल की ओर दौड़े मरीज

आइएमए के आह्वान पर हिसार में निजी अस्पतालों में ओपीडी बंद रही। हिसार में 400 निजी अस्पताल इसमें शामिल हुए। सिविल अस्पताल में सामान्य दिनों में करीब 600 ओपीडी आ रही थीं। वहीं शुक्रवार को दोपहर तक 800 से ज्यादा ओपीडी स्लिप काटी गईं।

Umesh KdhyaniFri, 18 Jun 2021 12:49 PM (IST)
हिसार में निजी अस्पताल में ओपीडी बंद होने के कारण पसरा सन्नाटा।

हिसार, जेएनएन। आइएमए के आह्वान पर शुक्रवार को हिसार के 400 निजी अस्पतालों में सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक ओपीडी बंद रखी गई। इस दौरान ओपीडी बंद रहने से सिविल अस्पताल में अचानक भीड़ बढ़ गई। क्योंकि ओपीडी बंद रहने से निजी अस्पतालों में पहुंच रहे मरीजों को उपचार नहीं मिल पाया। इसलिए वे उपचार के लिए सिविल अस्पताल पहुंचे।

सिविल अस्पताल में सामान्य दिनों में करीब 600 ओपीडी आ रही थीं। वहीं शुक्रवार को दोपहर तक 800 से ज्यादा ओपीडी स्लिप काटी गईं। गौरतलब है कि आइएमए ने निजी अस्पतालों में बढ़ती हिंसात्मक गतिविधियों पर विरोध जताया था। साथ ही बाबा रामदेव के वैक्सीन न लगवाने को लेकर दिए गए बयान पर भी रोष प्रकट किया था। आइएमए हरियाणा के आदेशों पर प्रदेश के सभी जिलों में आइएमए से जुड़े निजी अस्पतालों में ओपीडी कुछ घंटे तक बंद रखने का फैसला किया गया था। आइएमए ने 14 से 18 जून तक ओपीडी का टाइम घटाया था। विरोध स्वरूप 14 से 17 जून तक ओपीडी सुबह 8 से 10 बजे तक बंद रखी गई। वहीं आज 18 जून को ओपीडी सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक बंद रखी जा रही है। इसके चलते मरीज इलाज के लिए सिविल अस्पताल की ओर दौड़े। 

अंदरखाते मरीजों का किया चेकअप

हालांकि इस दौरान कुछ अस्पताल अंदर खाते मरीजों का चेकअप करते नजर आए। इस दौरान आइएमए के अस्पताल संचालक उपायुक्त, विधायक, एसपी, आइजी को ज्ञापन देंगे। आइएमए पदाधिकारियों का कहना है कि हिसार में भी पिछले कुछ दिनों में निजी अस्पतालों में हिंसात्मक घटनाएं हुई हैं। इनमें अस्पतालों के अंदर घुस कर तोड़फोड़ की गई है। इसलिए अस्पतालों के लिए कानून मैं संशोधन कर गैर जमानती धारा जोड़ी जाए। ताकि अस्पताल में बढ़ रही हिंसात्मक गतिविधियों पर रोक लगी रहे।

 

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.