एमडीयू की ऑनलाइन परीक्षाएं 16 जून से शुरू, झज्‍जर में पहली बार आनलाइन परीक्षाएं देंगे विद्यार्थी

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय कॉलेजों की परीक्षाएं आनलाइन माध्यम से ले रहा है। 16 जून से शुरू होने वाली एमडीयू की परीक्षा देने के लिए विद्यार्थियों को परीक्षा संबंधित सभी तैयारी खुद करनी होगा। वह चाहे इंटरनेट परीक्षा सामग्री या फिर आनलाइन कैमरे के समक्ष रहने की।

Manoj KumarTue, 15 Jun 2021 08:59 AM (IST)
झज्‍जर में इससे पहले कॉलेजों व स्कूलों में आफलाइन परीक्षा ही दी थी।

झज्जर, जेएनएन। झज्‍जर में विद्यार्थी 16 जून को पहली बार आनलाइन परीक्षाएं देंगे। इससे पहले कॉलेजों व स्कूलों में आफलाइन परीक्षा ही दी थी। लेकिन कोरोना महामारी के चलते इस बार महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय कॉलेजों की परीक्षाएं आनलाइन माध्यम से ले रहा है। 16 जून से शुरू होने वाली एमडीयू की परीक्षा देने के लिए विद्यार्थियों को परीक्षा संबंधित सभी तैयारी खुद करनी होगा। वह चाहे इंटरनेट, परीक्षा सामग्री या फिर आनलाइन कैमरे के समक्ष रहने की।

परीक्षा को लेकर कॉलेज स्तर पर भी तैयारियां की गई है। वहीं सोमवार को आयोजित की गई माक ड्रिल में भी विद्यार्थियों ने भाग लिया। साथ ही माक ड्रिल के बाद विद्यार्थी भी उत्साहित होंगे। कोरोना महामारी को देखते हुए विद्यार्थियों को एक सहूलियत यह भी दी गई है कि प्रश्न पत्र में दिए गए समान अंकों के सभी प्रश्नों में से पांच प्रश्न हल कर सकते हैं। अलग-अलग यूनिट वाइज एक-एक हल करने की आवश्यकता नहीं है। जो पहले करने होते थे।

आनलाइन परीक्षा के लिए विद्यार्थियों के पास मोबाइल में पर्याप्त डाटा पैक या इंटरनेट कनेक्शन कम से कम 3जी स्पीड का होना चाहिए। स्मार्टफोन, पीसी या लैपटॉप में वीडियो कैमरा व माइक्रोफोन हो। अलग से स्कैनर नहीं है तो फोन में एडोब स्कैन या माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस लेंस इंस्टाल कर लें और इनका उपयोग करना भी सीख लें। विद्यार्थी को स्वयं लाइन लगी हुई ए-4 साइज की शीटों की व्यवस्था करनी होगी। सिंगल साइड की 36 या डबल साइड की 18 शीट से ज्यादा उपयोग नहीं की जा सकती। विद्यार्थी को पेपर शुरू होने से 15 मिनट पहले वीडियो मीट ज्वाइन करनी होगी। इसका लिंक विद्यार्थी के पास भेजा जाएगा। इसके बाद अपने एडमिट कार्ड और फोटो आईडी प्रूफ कैमरा के सामने दिखाना और रोल नंबर बताना होगा।

उत्तर पुस्तिका के पहले पेज पर अपना यूनिवर्सिटी रोल नंबर अंकों व शब्दों में, क्लास, सेमेस्टर, पेपर का नाम, पेपर कोड, उत्तर पुस्तिका में लिखे कुल पेज की संख्या, परीक्षा की तिथि लिखकर हस्ताक्षर करने होंगे। पेपर के दौरान कभी भी कैमरा और माइक्रोफोन बंद नहीं कर सकते। जो विद्यार्थी स्क्रीन पर नजर नहीं आएंगा, उनका पेपर रद्द कर दिया जाएगा। जो विद्यार्थी कैमरे की निगरानी के दौरान अनुचित कार्य करते हुए पकड़ा गया तो उसका पेपर रद कर दिया जाएगा।

परीक्षा के दौरान विद्यार्थी को पांच बार से ज्यादा वार्निंग मिलती है तो यूएमसी बनेगी। पेपर हल करने के बाद विद्यार्थी एडोब स्कैनर या माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस लेंस से अपनी उत्तर पुस्तिका को अच्छी तरह स्कैन करके सभी पेजों की सिंगल पीडीएफ फाइल बनाकर ई-मेल पर भेजेंगे। फाइल पढ़ने लायक हो और 22 एमबी से ज्यादा की ना हो।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.