देश के टाप 100 फार्मेसी कालेज में हरियाणा के तीन, एमडीयू रोहतक ने लगाई बड़ी छलांग

एनआइआरएफ रैंकिंग में हरियाणा के कालेजों ने कमाल कर दिखाया है। एमडीयू का फार्मेसी विभाग रिसर्च में देश में 18वें स्थान पर तो हरियाणा में अव्वल रहा है। गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय और महर्षि मारकंडेश्वर विवि को रिसर्च में पछाड़ दिया है।

Umesh KdhyaniSat, 11 Sep 2021 05:01 PM (IST)
2020 की इंडिया रैंकिंग में महर्षि मारकंडेश्वर विश्वविद्यालय फार्मेसी विभाग हरियाणा में नंबर-1 पर था।

ओपी वशिष्ठ, रोहतक। शिक्षा मंत्रालय ने उच्च शिक्षण संस्थाओं के शैक्षणिक प्रदर्शन के आधार पर नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआइआरएफ) की इंडिया रैंकिंग 2021 में महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के फार्मेसी विभाग ने 31वां स्थान हासिल किया है। देश के टाप 100 फार्मेसी कालेज में हरियाणा के तीन विश्वविद्यालय के फार्मेसी विभाग ने जगह बनाई है।

इनमें रोहतक के अलावा गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय हिसार के फार्मेसी विभाग और महर्षि मारकंडेश्वर विश्वविद्यालय अंबाला के फार्मेसी विभाग शामिल है। खास बात यह है कि 2020 की इंडिया रैंकिंग में महर्षि मारकंडेश्वर विश्वविद्यालय फार्मेसी विभाग हरियाणा में नंबर-1 पर था, जो दो रैंक लुढक कर तीन पर पहुंच गया है। जबकि एमडीयू नंबर-3 से नंबर दो पर पहुंच गया। जीजेयू हिसार का फार्मेसी विभाग दो नंबर से एक पर पहुंच गया है। लेकिन खास बात यह है कि एमडीयू का फार्मेसी विभाग रिसर्च में इन दोनों विश्वविद्यालय के फार्मेसी विभाग से आगे है।

एनआइआरएफ रैंकिंग में फार्मेसी विभाग को अलग कैटेगरी में रखा गया है। इस कैटेगरी में महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय ने 36 रैंक से छलांग लगाते हुए 31 रैंक हासिल की है, जो बड़ी उपलब्धि मानी जाती है। जीजेयू हिसार के फार्मेसी विभाग 31 से 27वें स्थान पर पहुंच गया। अंबाला स्थित महर्षि मारकंडेश्वर विवि के फार्मेसी विभाग 28 से 34वें स्थान पर पहुंच गया, जो विगत वर्ष हरियाणा में पहले स्थान पर था। पंडित भगवत शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय रोहतक का फार्मेसी कालेज टाप 100 संस्थानों में शामिल नहीं है।

रिसर्च और आउटरीच में एमडीयू अव्वल

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय का फार्मेसी विभाग में रिसर्च में लगातार बेहतर रहा है। पिछले चार वर्षों में रिसर्च में स्कोर लगातार बढ़ रहा है। 2018 में रिसर्च में एमडीयू के विभाग को 23.92 स्काेर था, जो 2019 में 33.30, 2020 में 35.82 तथा 2021 में 38.87 हो गया है। जीजेयू का इस वर्ष रिसर्च में 31.40 स्कोर है। इसी तरह आउटरीच में एमडीयू का 49.00 तथा जीजेयू का 45.96 स्कोर रहा।

टीचिंग लर्निंग एंड रिसोर्स में जीजेयू बेहतर

टीचिंग लर्निंग एंड रिसोर्स में जीजेयू का बेहतर प्रदर्शन है। जीजेयू का स्कोर 71.14 तथा एमडीयू का स्कोर 59.64 है। ग्रेजुएशन आउटकम्स में एमडीयू आगे है। एमडीयू का स्कोर 56.72 तथा जीजेयू का 56.51 है। छवि के मामले में जीजेयू 46.25 स्कोर के साथ एमडीयू के 44.04 स्कोर के आगे है। एमडीयू के फार्मेसी विभाग का कुल स्कोर 50.19, जीजेयू का कुल स्कोर 51.28 तथा महर्षि मारकंडेश्वर के फार्मेसी विभाग का कुल स्कोर 49.81 है।

रिसर्च में टाप-10 कालेज को भी पछाड़ा

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के फार्मेसी विभाग का रिसर्च हरियाणा में ही नहीं बल्कि देश में भी बेहतर स्थित में है। हरियाणा के तीन कालेज में जहां नंबर वन है, वहीं देश के 100 संस्थानों में 18वें नंबर पर है। इंडिया रैंकिंग के टाप- 10 संस्थानों की बात करते हैं, एमडीयू रिसर्च में उनके दो संस्थानों रैंक सात और नौ को भी पीछे छोड़ रहा है।

विभाग के प्राध्यापकों व कर्मियों को श्रेयः वीसी

एमडीयू रोहतक के कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा कि एमडीयू के फार्मेसी विभाग का प्रदर्शन नेशनल इंस्टीट्यूट आफ फार्मास्टिकल एजुकेशन एंड रिसर्च के दो संस्थान गुवाहाटी और रायबरेली से भी रिसर्च में आगे रहा है। इसका पूरा श्रेय विभाग के प्राध्यापकों व अन्य कर्मियों को जाता है। जिन कैटेगरी में हम इस बार कम रहे हैं, उनमें बेहतर करने का प्रयास किया जाएगा। उम्मीद है कि अगली बार हम टाप टेन में शामिल होंगे।

 

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.