पंजाब के करीब 10 हजार किसानों ने डाला हरियाणा बॉर्डर पर डेरा, बोले- अब यहीं धरना देंगे

हरियाणा के डबवाली बार्डर पर धरने पर बैठे पंजाब से आए किसान

भाकियू (उग्राहां) पंजाब के वरिष्ठ उपप्रधान झंडा सिंह ने कहा कि आगे नहीं जाने दिया तो वे यहीं रुककर लगातार 7 दिनों तक प्रदर्शन करेंगे। उनका प्रदर्शन 24 घंटे चलेगा। दो अलग-अलग जत्थे दिन-रात प्रदर्शन करेंगे। सात दिनों में 1 लाख किसान पहुंचेंगे। 168 घंटे बाद वे अगली रणनीति बनाएंगे।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 07:00 PM (IST) Author: Manoj Kumar

डबवाली, जेएनएन। दिल्‍ली कूच के लिए बृहस्पतिवार को हरियाणा सीमा पर पंजाब के करीब साढ़े 10 हजार से ज्यादा किसानों ने डेरा जमा लिया है। नए खेती कानून लागू करने पर किसानों में मोदी सरकार के खिलाफ गुस्सा नजर आ रहा है। किसान केंद्र के साथ-साथ हरियाणा की मनोहर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करके रोष जताते हुए कानूनों को वापिस लेने की मांग कर रहे हैं।

किसानों का नेतृत्व भाकियू (उग्राहां) पंजाब के वरिष्ठ उपप्रधान झंडा सिंह जेठूके कर रहे हैं। किसान जल्दबाजी में नजर नहीं आ रहे हैं। उनका कहना है कि दिल्ली कूच करने के लिए हरियाणा में प्रवेश की अनुमति सरकार से मांगी गई थी। लेकिन हरियाणा सरकार ने लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन करते हुए उनका रास्ता रोक लिया। झंडा सिंह के अनुसार वे यहीं रुककर लगातार 7 दिनों तक प्रदर्शन करेंगे। उनका प्रदर्शन 24 घंटे चलेगा। दो अलग-अलग जत्थे दिन-रात प्रदर्शन करेंगे। सात दिनों में करीब 1 लाख किसान पहुंचेंगे। 168 घंटे बाद वे अगली रणनीति बनाएंगे।

-----------

पंजाब की सीआइडी से इनपुट ले रही हरियाणा पुलिस

डबवाली के बठिंडा नाका पर हजारों किसान पहुंचेंगे, इसकी भनक पहले ही लग गई थी। हरियाणा पुलिस ने पंजाब की सीआइडी से इनपुट लिया था। सीआइडी ने बताया था कि 1 लाख किसान पहुंच सकते हैं। हालांकि हरियाणा पुलिस इसे हलके में ले रही थी। बृहस्पतिवार को पहले दिन ही साढ़े 10 हजार से ज्यादा किसान पहुंचे तो हरियाणा पुलिस के हाथ-पांव फूल गए। वहीं पंजाब पुलिस ने किसानों को कुछ नहीं कहा। एतिहात के तौर पर पंजाब क्षेत्र में स्थित दुकानों को बंद करवाया गया। आंदोलन के संबंध में हरियाणा पुलिस फूंक-फूंककर कदम रख रही है।

------------

हरियाणा से आ रही लंगर सेवा, पंजाब के किसान भी कम नहीं

हजारों किसान उमडऩे से बठिंडा रोड किसान हाईवे में तबदील हो गया है। आंदोलनरत किसान सात दिनों की भोजन सामग्री खुद ही लेकर पहुंच रहे हैं। खाना पकाने के लिए यहां ज्वलनशील सामग्री लाई जा रही है तो वहीं हरियाणा के साथ लगते गांवों से लंगर पहुंच रहा है। यहां तक की पंजाब पुलिस के जवान भी किसानों के साथ लंगर छकते नजर आ रहे हैं। हरियाणा किसान एकता किसानों के लिए गांव-गांव से लंगर इक्ट्ठा करके पहुंचा रहे हैं।

------------

डीसी-एसपी देख रहे हालात

किसान आंदोलन के कारण डबवाली चॉक सा हो गया है। शहर में दुकानदारी ठप पड़ गई है तो वहीं सीमा पर हालात क्षण भर में खराब हो सकते हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए बृहस्पतिवार सुबह डीसी प्रदीप कुमार, एसपी भूपिंद्र सिंह ने बठिंडा नाका का दौरा किया। कालांवाली के एसडीएम निर्मल नागर डयूटी मजिस्ट्रेट के तौर पर डयूटी दे रहे हैं, तो वहीं डीएसपी डबवाली कुलदीप बेनीवाल योजनाबद्ध तरीके से कार्य कर रहे हैं।

------------

हर स्थिति से निबटने के लिए तैयार

'' किसान पंजाब एरिया में आंदोलन कर रहे हैं। अगर वे हरियाणा सीमा में प्रवेश करेंगे तो हम घुसने नहीं देंगे। हरियाणा सरकार के आदेशों की पालना कर रहे हैं। अभी तक स्थिति कंट्रोल में हैं। हम पूरी नजर रख रहे हैं। मौका पर वज्रा, वाटर कैनन समेत पुलिस तैनात है।

                                                                                               - कुलदीप बेनीवाल, डीएसपी, डबवाली।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.