फतेहाबाद में मानसून की रिकॉर्ड बरसात, 1998 में हुई थी ऐसी बारिश, स्कूलों की छुट्टी

फतेहाबाद में मानसून खूब मेहरबान हुआ है। 33 साल बाद ऐसी बारिश हुई है। तीन दिनों से झमाझम जारी है। धर्मशाला रोड पर चार फुट तक पानी भरा। दुकानों में सामान खराब हो गया। वहीं और बारिश मुश्किलें खड़ी कर सकती है।

Umesh KdhyaniFri, 30 Jul 2021 03:31 PM (IST)
फतेहाबाद में बारिश के कारण कमर तक पानी भर गया है।

-धर्मशाला रोड पर चार फुट तक भरा पानी, दुकानों में सामान हुआ खराब

-इंटरनेट मीडिया पर लोगों अधिकारियों व राजनेताओं पर कार्रवाई की रखी मांग

-पिछले दो सालों से इस सड़क से नहीं निकल रहा पानी, पिछले साल एक युवक की भी हो चुकी है मौत

-खेतों में भी दो फुट तक भरा पानी, अगर और तेज बरसात हुई तो खराब हो सकती है बरसात

-फतेहाबाद शहर में 1988 में हुई थी ऐसी बरसात

जागरण संवाददाता, फतेहाबाद। पिछले तीन दिनों से जिले में झमाझम बरसात हो रही है। कुछ जगह पर हल्की तो कुछ जगह पर तेज बरसात हो रही है। लेकिन शुक्रवार अलसुबह हुई रिकार्ड बरसात से पूरे क्षेत्र को जलमग्न कर दिया। सबसे बुरा हाल फतेहाबाद शहर का हुआ।

अरोड़वंश धर्मशाला में पिछले तीन दिनों से जलनिकासी नहीं हो रही, ऐसे में शुक्रवार को हुई बरसात के कारण यहां पर तीन से चार फुट तक पानी भर गया है। जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाए गए पंप सेट भी पानी में डूब गए हैं। ऐसे में शहरवासियों ने मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को टवीट करके इस समस्या से निजात दिलाने की मांग की है। वहीं अरोड़वंश धर्मशाला रोड की अनेक दुकानों में पानी भर जाने के कारण लाखों रुपये का सामान भी बर्बाद हो गया है। वहीं बरसात के कारण शहर में तीन जगह मकान की छते भी गिर गई, लेकिन किसी तरह जान माल का नुकसान नहीं हुआ है। वहीं खेतों में पानी भर जाने के कारण किसान भी परेशान है।

शुक्रवार सुबह 3 बजे भट्टूकलां व फतेहाबाद खंड के गांवों में बरसात शुरू हो गई। लगातार चार घंटे की बरसात ने रिकार्ड ही तोड़ दिया। शहर में 80 एमएम बरसात दर्ज की गई है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का दावा है कि वर्ष 1988 में ऐसी बरसात हुई थी जो अब हुई है। जिससे पूरे शहर की सड़कें व जलमग्न हो गई। सुबह 10 बजे बरसात रुकने के बाद शहरवासियों ने राहत की सांस ली, लेकिन घरों से पानी निकालने में ही जुटे रहे। 

फतेहाबाद में जलभराव के कारण सड़कों पर डूबे रिक्शा।

तीन करोड़ खर्च, पानी निकासी का नहीं प्रबंध

करीब दो साल पहले नगरपरिषद ने अरोड़वंश धर्मशाला रोड पर जल निकासी के लिए पाइप लाइन डालने के लिए रुपये दिए थे। लेकिन जनस्वास्थ्य विभाग ने यहां पर सीवरेज लाइन को ही जलनिकासी में बदल दिया। वहीं पानी का बहाव भी उल्टा कर दिया। जिससे अब पूरे अरोड़वंश धर्मशाला रोड पर पानी भर गया है। ऐसे में पिछले एक साल सांसद भी कई बार मुद्​दा उठा चुकी है लेकिन जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों पर कोई असर तक नहीं है। वहीं पहले जो कार्यकारी अभियंता थे उनका तबादला भी हो गए। ऐसे में जिला प्रशासन कार्रवाई करे तो किसी पर करे। 

स्कूलों की छुट्टी

जिले में झमाझम बरसात होने के बाद फतेहाबाद शहर के सभी स्कूलों की छुट्टी कर दी गई। शहर में राजकीय कन्या स्कूल व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल के बाहर दो से तीन फुट तक पानी भरा हुआ है। ऐसे में स्कूलों की छुट्टी कर दी। प्राइवेट स्कूल संचालकों ने सुबह ही मैसेज कर दिया था कि शुक्रवार को स्कूल नहीं लगेंगे।

फतेहाबाद में तीन दिन से बारिश जारी है। सड़कें तालाब बन गई हैं। चार फीट तक पानी भरा है।

भट्टू क्षेत्र में भी रिकार्ड बरसात

पिछले एक महीने से भट्टूकलां में अच्छी बरसात नहीं हुई थी। लेकिन शुक्रवार तड़के 2 बजे ही झमाझम बरसात होने से पानी भर गया है। यहां भी 70 एमएम बरसात दर्ज की गई है। खेतों में दो से तीन फुट तक पानी है। किसानों का मानना है कि अगर और बरसात आ गई तो नरमे की फसल पानी से जल जाएगी। इसके अलावा नहरे भी उफान पर आ गई है। ऐसे में ग्रामीणों ने सिंचाई विभाग से अपील की है कि नहरों का पानी कम किया जाए ताकि कोई नुकसान न हो।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.