top menutop menutop menu

शिक्षा में सुधार की दिशा में निष्ठा प्रोग्राम से बढ़ा कदम : मंजू यादव

संवाद सहयोगी, नारनौंद : बच्चों का चहुमुखी विकास करने के लिए केंद्र सरकार समय समय पर अनेक योजनाएं चला रही है ताकि सरकारी स्कूलों के बच्चे भी सक्षम हो सके। निष्ठा प्रोग्राम से भी शिक्षा की दिशा में अनेक सुधार होंगे और अध्यापक नई नई तकनीकों के माध्यम से छात्रों को शिक्षित करने का काम करेंगे। उक्त शब्द स्टेट रिसोर्स पर्सन की डाइट कोऑíडनेटर मंजू यादव ने 5 दिवसीय ट्रेनिग कैंप के समापन पर कहे। उन्होंने बताया कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय की निष्ठा योजना के अंतर्गत कक्षा 1 से 8 तक पढ़ाने वाले सभी अध्यापकों के व्यवसायिक विकास में सहायक होगी और विद्यार्थियों के अधिगम स्तर में निश्चित रूप से सुधार होगा। इस दौरान उन्होंने सभी अध्यापकों को ट्रेनिग के प्रमाण पत्र भी दिए।

मात्रश्याम डाइट के अधिकारियों के द्वारा खेड़ी के आरोही मॉडल स्कूल, नारनौंद में एक 5 दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया गया था, जिसमें खंड नारनौंद के अंतर्गत आने वाले 150 अध्यापकों ने हिस्सा लिया और निष्ठा योजना के बारे में जानकारी हासिल की। ट्रेनिग इंचार्ज मंजू यादव ने बताया कि 5 दिवसीय ट्रेनिग कैंप के दौरान कस्बे नारनौंद के शिक्षकों को नई तकनीक के बारे में बताया गया ताकि हरियाणा जल्दी से जल्दी सक्षम बन सके। 5 दिवसीय कैंप में सभी उपस्थित शिक्षकों ने बड़े ही ध्यान से रोचक तथ्यों के साथ ट्रेनिग ली। उन्होंने बताया कि 2019 की नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षकों को तैयार करने के लिए यह प्रशिक्षण कार्यक्रम तैयार किया गया था जो पूरी तरह से सफल रहा। खण्ड शिक्षा अधिकारी अमनदीप सिंह ने बताया कि पहली से आठवीं कक्षा तक के बच्चों का स्तर सुधारने, खेल खेल में पढ़ाने व उनकी रुचि के अनुसार उनको आगे बढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग निष्ठा योजना लेकर आया है। केंद्र सरकार की इस योजना से करीब 42 लाख अध्यापकों को शिक्षित किया जाएगा। वहीं हिसार जिले के सभी अध्यापकों को भी इस योजना के माध्यम से ट्रेनिग देकर निष्ठावान बनाया जाएगा। इस दौरान अधिकारियों के द्वारा ट्रेनिग लेने वाले शिक्षकों को एक प्रशंसा पत्र भी दिया गया। इस अवसर पर खण्ड शिक्षा अधिकारी अमनदीप सिंह, डाइट मात्रश्याम से इंचार्ज मंजू यादव, डा. अजय लोहान, रजत बामल,बलबीर सिंह पूनिया,रमेश यादव, मेवा सिंह, स्कूल इंचार्ज चांदनी मेहता, सुरेंद्र बामल, अशोक कुमार, दलबीर पानू, रविन्द्र सिंह, रमेश डीपी, सुनील दलाल, हरिकेश, सुनील, संजय, नीलम, सुखबीर, निशा, सुमन, उर्मिल व कुलदीप आदि मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.