लॉकडाउन में भी बेपरवाह लोग, कोई दूध का बर्तन लेकर तो कोई दवा की पर्ची लेकर बाहर निकला

जागरण संवाददाता हिसार कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए लॉकडाउन लगाया गया है। हि

JagranThu, 06 May 2021 07:49 AM (IST)
लॉकडाउन में भी बेपरवाह लोग, कोई दूध का बर्तन लेकर तो कोई दवा की पर्ची लेकर बाहर निकला

जागरण संवाददाता, हिसार : कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए लॉकडाउन लगाया गया है। हिसार में कोरोना भयवाह रूप ले रहा है। मगर लोग अब भी लापरवाह बने हुए हैं। बुधवार को पुलिस की भी ज्यादा सख्ती देखने को मिली। मगर लोगों ने जिस तरह के बहाने बनाए उनके आगे पुलिस भी बेबस नजर आई। किसी ने कहा बच्चा घर पर भूखा है उसके लिए दूध लेने जा रहा हूं। किसी ने दवा की पर्ची दिखाते हुए कहा कि मां बीमार है उसके लिए दवा लेने जा रहा हूं। तो किसी ने कहा बस स्टैंड पर रिश्तेदार आया हुआ है रिक्शा नहीं मिल रहा तो लेने जा रहा हूं। किसी ने कहा घर में सब्जी नहीं है दाल खा-खा कर तंग आ गया हूं। सब्जी लेने जाना है। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने आज सख्ती भी की। हर चौक-चौराहे से लेकर लिक रास्तों पर भी पुलिस तैनात रही। पुलिस ने बेवजह घूमने वालों के चालान भी काटे। खुद डीआइजी बलवान सिंह और एएसपी उपासना सड़कों पर निकले और नाकों की चेकिग की।

-----------

कैमरी रोड नाका : दोपहर 12 बजे- नाके पर पांच पुलिसकर्मी तैनात रहे। गांव की तरफ से एक ऑटो आता है पुलिसकर्मी ऑटो में तीन लोगों को देखकर रूकवाकर पूछते हैं कहां जाना है और कहां से आ रहे हूं। ऑटो में बैठे व्यक्ति ने कहा कि वह गांव से आ रहे हैं और उनको बस स्टैंड जाना है। इसके बाद पुलिस ने उसी गांव के एक व्यक्ति को बुलाकर नाके पर पूछा कि यह तुम्हारे गांव के हैं। व्यक्ति ने कहां हां, इसके बाद पुलिस ने ऑटो को जाने दिया। गंगवा रोड नाका : दोपहर 12:30 बजे- एक बाइक सवार व्यक्ति दूध का बर्तन लेकर आता है। यहां पुलिस नाके पर रूकवा कर पूछती है और बाहर निकलने का कारण पूछती है। व्यक्ति ने कहा कि घर में बच्चा भूखा है आज दूध वाला घर नहीं आया तो बाजार से दूध लेकर आ रहा हूं। पुलिस को मजबूरन व्यक्ति को जाने देना पड़ा। इसी तरह एक आदमी को स्कूटी पर नाके पर रोका तो उसने कहा साहब सब्जी लेने जा रहा हूं। पत्नी रोजाना दाल बनाती है अब और नहीं सहा जाता। मुझे जाने दिया जाए। पुलिस ने कहा कोरोना हो गया तो दाल ही खानी पड़ेगी। भलाई इसी में है कोई रेहड़ी आए तब सब्जी ले लेना। पुलिस ने व्यक्ति को वापस भेज दिया। फव्वारा चौक पर खुद जांच करने पहुंचे डीआइजी

वहीं, फव्वारा चौक पर वाहनों के बढ़ते आवागमन को देखते हुए डीआइजी बलवान सिंह राणा ने खुद मोर्चा संभाला और वाहनों को वापस लौटाया। लोगों ने तरह-तरह के बहाने बनाए मगर डीआइजी ने एक नहीं सुनी। इसके बाद वहां मौजूद पत्रकारों से भी डीआइजी से बातचीत की और शहर की स्थिति जानी। इतना ही नहीं डीआइजी ने ड्यूटी दे रहे कर्मचारियों का हौंसला बढ़ाया। डीआइजी बोले- बिना मूवमेंट पास के बाहर ना निकलें

कोरोना महामारी के बढ़ते हुए प्रभाव को रोकने के लिए डीआइजी बलवान सिंह राणा ने पत्रकार वार्ता के माध्यम से आमजन से अपील की है कि कोई भी नागरिक बिना की किसी उचित कारण के अपने घर से ना निकले। अगर फिर भी आपात स्थिति में या किसी उचित कारण के घर से निकलना पड़े तो हरियाणा सरकार द्वारा जारी किए गए सरल पोर्टल से अपना पास जारी कर उसके साथ आवागमन करें। लॉकडाउन के दौरान बिना मूवमेंट पास के आवागमन करने वालो के खिलाफ आइपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई कर वाहन को जब्त किया जाएगा। डीआइजी ने सभी थाना व चौकी प्रभारियों को निर्देश दिए गए हैं कि लॉकडाउन के दौरान बिना मूवमेंट पास के आवागमन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ नियमनुसार सख्त कार्रवाई करें। लॉकडाउन के दौरान होने वाली किसी भी तरह की कालाबाजारी को रोकने के लिए उप पुलिस अधीक्षक अभिमन्यु लोहान की अध्यक्षता में एक विशेष पुलिस टीम का गठन किया गया है। आमजन से अपील है कि अगर किसी भी नागरिक को किसी भी तरह की कालाबाजारी का पता चलता है तो पुलिस कंट्रोल रूम के नंबर 100 व 01662-237150 पर सूचित करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.