पंचत्तव में विलिन हुए कोविड शवों का संस्‍कार करने वाले कोरोना योद्धा प्रवीन प्रधान, हर आंख हुई नम

कोरोना संक्रमित शवों का संस्‍कार करने वाले प्रवीन प्रधान की आखिरी विदाई पर आंखें नम हो गई

कोरोना पॉजिटिव शवों का अंतिम संस्कार करने वाली टीम इंचार्ज प्रवीन कुमार का बीते दिन निजी अस्पताल में निधन हो गया था। वे करीब 300 शवों का अंतिम संस्‍कार करवा चुके थे। खुद संक्रमित हुए तो तीन घंटे तक बेड नहीं मिला था।

Manoj KumarTue, 18 May 2021 01:22 PM (IST)

हिसार। जेएनएन। हिसार में नगर पालिका कर्मचारी संघ प्रधान व कोरोना पॉजिटिव शवों का अंतिम संस्कार करने वाली टीम इंचार्ज प्रवीन कुमार का बीते दिन निजी अस्पताल में निधन हो गया था। वे करीब 300 शवों का अंतिम संस्‍कार करवा चुके थे। खुद संक्रमित हुए तो तीन घंटे तक बेड नहीं मिला, ऑक्‍सीजन लेवल गिर गया और उनका निधन हो गया। मंगलवार सुबह ऋषि नगर स्थित श्मशान घाट में प्रवीन कुमार के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार चिकित्सकों की देखरेख में किया गया।

ये वहीं श्‍मशान घाट है जहां प्रवीन दूसरों को मोक्ष की राह दिखाते रहे। अंतिम संस्कार में महापौर गौतम सरदाना, पार्षद अनिल जैन, अमित ग्रोवर, पार्षद प्रतिनिधि पंकज दीवान, डा रमेश पूनिया, नूर मोहमद, जयवीर वर्मा व नगर पालिका कर्मचारी संध के स्टेट कर्मटी व जिला कमेटी के पदाधिकारी आदि मौजूद रहे।

महापौर गौतम सरदाना ने कहा कि प्रवीन और मैं दोनों बचपन के दोस्त थे। साथ खेले और बड़े हुये। आज एक अजीज दोस्त व साथी को खोना बहुत दुखदायी है। प्रवीन इस तरह हमें छोड़ जाएगा, यह कभी सपने में भी नहीं सोचा था। वह एक सच्चा कोरोना योद्धा था। नगर नगम प्रशासन व मुझे निजी तौर पर जो क्षति हुई है। उसकी भरपाई नहीं की जा सकती है। शहरवासियों से अपील करता हूं कि कोरोना संक्रमण को लेकर कोई ढिलाई न करें, सरकार की हिदयतों का पालन करें। आपकी सतर्कता ही आपकी सुरक्षा है।

निगमायुक्त अशोक कुमार गर्ग ने कहा कि निगम कर्मचारी प्रवीन कुमार का अकस्मात निधन होना बेहद कष्टदायक है। इस मुश्किल दौर में कोरोना योद्धा के रूप में निस्वार्थ सेवा की हैँ । कर्मचारी संघ के प्रधान के रुप मे हमेशा सकारात्मक रवैये से कर्मचारियों के हितोपदेश के लिए प्रयासरत रहते थे। परिवार को व निगम को व निगम कर्मचारियों, विशेषतौर पर सफाई कर्मचारियों को उनके जाने से भारी क्षति हुई है। हमारी प्रार्थना है कि भगवान प्रवीन की आत्मा को शांति प्रदान करें। 

पार्षद अनिल जैन ने कहा कि प्रवीन सच्चा कोरोना योद्धा था। मैं 20 साल से ज्यादा वक्त से प्रवीन को जानता था। जब प्रवीन के जाने की सूचना मिली तो यकीन ही नहीं हुआ कि ऐसा भी हो सकता है। भगवान प्रवीन की आत्मा को शांति प्रदान करें। 

पार्षद अमित ग्रोवर ने कहा कि प्रवीन जैसा हंसमुख इंसान यू चला जाएगा। इसका विश्वास ही नही हो रहा है। वह मेरे बडे भाई जैसे थे और हमेशा मदद के लिये तत्पर रहते थे। पार्षद प्रतिनिधि पंकज दीवान ने कहा कि प्रवीन को कई सालों से जानता हूं। वह एक सच्चा दोस्त और अच्छा कर्मचारी था। हर वक्त वह कार्य के लिये तत्पर रहता था। भगवान प्रवीन की आत्मा को अपने चरणों में स्थान दें।

सर्व कर्मचारी संध प्रधान सुरेंद्र मान ने कहा कि कर्मचारियों का नेता होने के साथ साथ वह सच्चा कोरोना योद्धा था। आज उसको खोना संगठन के लिये बडी क्षति है। भगवान उसकी आत्मा को अपने चरणों में स्थान दे और परिवार को दुख सहन की शिक्‍त प्रदान करें।

नगर पालिका कर्मचारी संध के मुख्य संगठनकर्ता सचिव राजेश बागडी व जिलाध्यक्ष सुनील कांगडा ने कहा कि प्रवीन जैसे साथी को खो देंगे, यह कभी सपने में भी नहीं सोचा था। आज भी यकीन नहीं होता है कि प्रवीन हमारे बीच नहीं है। वह हमारा हौंसला था और सच्चा कोरोना योद्धा था। भगवान प्रवीन की आत्मा को अपने चरणों स्थान दे और उसके परिवार को दुख सहन की ताकत दे।

अंतिम संस्कार में स्टेट कमेटी के सहसचिव पुरुषोतम दानव, बहादुर गढ ईकाई सदस्य राजपाल,सर्वकर्मचारी संघ के अशोक सैनी, नरेश गौतम, दीपक लोट, ईकाई हांसी  प्रधान व जिला उप प्रधान विकास, पूर्व पार्षद मान सिंह चौहान आदि ने शोक प्रकट किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.