पशुपालन, बागवानी व मछ्ली पालन की योजनाएं पूरी होने के बाद क्षेत्र का होगा चहुंमुखी विकास : कृषि मंत्री जेपी दलाल

प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि लोहारु हल्के में कृषि पशुपालन बागवानी व मछ्ली पालन की योजनाओ को पूर्ण मूर्त रूप मिलने के बाद इस क्षेत्र का चहुंमुखी विकास होगा। किसान व युवा वैज्ञानिकों से नवीनतम जानकारी लेकर आय व रोजगार बढ़ाएंगे जिससे क्षेत्र में खुशहाली आएगी। लोहारु हल्का विकास में अग्रणी बनेगा।

JagranSun, 28 Nov 2021 09:12 PM (IST)
पशुपालन, बागवानी व मछ्ली पालन की योजनाएं पूरी होने के बाद क्षेत्र का होगा चहुंमुखी विकास : कृषि मंत्री जेपी दलाल

संवाद सहयोगी, सिवानीमंडी: प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि लोहारु हल्के में कृषि, पशुपालन, बागवानी व मछ्ली पालन की योजनाओ को पूर्ण मूर्त रूप मिलने के बाद इस क्षेत्र का चहुंमुखी विकास होगा। किसान व युवा वैज्ञानिकों से नवीनतम जानकारी लेकर आय व रोजगार बढ़ाएंगे, जिससे क्षेत्र में खुशहाली आएगी। लोहारु हल्का विकास में अग्रणी बनेगा। उन्होंने कहा कि गरीब व मजदूर के जीवन को खुशहाल बनाने के लिए भी सरकार ने अनेक योजनाएं लागू की हैं। गरीबों को उनका हक दिया जा रहा है। कृषि मंत्री जेपी दलाल रविवार को अपने जनसंपर्क अभियान के दूसरे दिन गिगनाउ,बरालू,ढाणा,दमकोरा, पाजू,बहल,सिधनवा, कासनी, गोपालवास,शहर्यारपुर, घंघाला, गढवा, बख्तावरपुरा, खेड़ा, रूपाणा, सिवानी व ढाणी किशनलाल आदि गांवो में नुक्कड़ सभाओं को सम्बोधित कर लोगो से रूबरू होकर उनकी समस्याएं सुन रहे थे। उन्होंने गांव पाजु में सरसो की फसल का निरीक्षण भी किया और अधिकारियो को आवश्यक निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि गांव गोकुलपुरा में चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार का 100 एकड़ से ज्यादा भूमि में रीजनल सेंटर , बहल में 50 करोड़ की लागत से लाला लाजपत राय पशु विश्वविद्यालय का केंद्र, सेरला में 4 एकड़ भूमि पर विटा का प्लांट , खरखड़ी में 120 एकड़ भूमि पर महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय,करनाल का रीजनल केंद्र , सिवानी के गरवा में मछली पालन केंद्र का निर्माण कार्य प्रक्रिया में प्रस्तावित है। गिगनाऊ में इंडो इजरायल बागवानी उत्कृष्ट केंद्र का निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। बरालु में अनाज भंडारण के लिए गोदाम बनाए जायेंगे।लोहारू में बकरी प्रजनन केंद्र का निर्माण करवाया जा रहा है ।इन परियोजनाओं का निर्माण कार्य पूर्ण होने के उपरांत किसान व इस व्यवसाय से जुड़े लोग वैज्ञानिकों से नई नई जानकारी लेकर रोजगार व आय बढ़ाने में सहायक सिद्ध होंगे।लोहारू के किले को पुरातत्व संग्रहालय के अधीन लेकर दर्शनीय स्थल बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार अपने खर्चे पर एमआईकाढ़ा सकीम के तहत किसानों को सिचाई सुविधाएं प्रदान करने के लिए पंचायती भूमि पर जोहड़ खुदवाकर बड़े बड़े टैंक बनवाए जाएंगे। इनपर सोलर सिस्टम लगवाकर सूक्ष्म सिचाई योजना से किसानों को सिचाई सुविधा मुहैया करवाई जायेगी।उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों से किसान तो खुश हैं, लेकिन विपक्ष को यह सब रास नहीं आ रहा है । उन्होंने किसानों से अनुरोध व आह्वान किया है कि खेती की ज्योत घटती जा रही है, खेती की लागत बढ़ती जा रही है। इसलिए किसान परंपरागत खेती की बजाय बागवानी, सब्जी, मशरूम, सूअर पालन, मुर्गी पालन, भेड़ पालन, मधुमखी पालन व मच्छली पालन आदि के व्यवसाय को अपनाएं ताकि उनकी आय व रोजगार बढ़ सके। उन्होंने कहा कि किसानों को सूक्ष्म सिचाई योजना का अपनाना चाहिए, जिस पर सरकार द्वारा सब्सिडी दी जा रही है। इससे उत्पाद और आय बढ़ेगी और पानी की बचतहोगी।उन्होंने बरालू मे राजेश की लड़की की शादी में निजी कोष से 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की ओर गावों में बढ़ रही चोरी की घटनाओं की जांच सीआईए से करने के निर्देश दिए । कृषि मंत्री ने शादी समारोह में भी शरीक हुए और नव विवाहितों को आशीर्वाद दिया। इस अवसर पर पूर्व चेयरमैन राजीव श्योराण,पूर्व चेयरमैन अनिल झाझड़िया, चैयरमैन सुरेश खटक व रमेश पोपली, सुनील थेबड, रविन्द्र मंडोली, लालसिंह बड़वा, कैप्टन रामफल श्योरान,वीरेंद्र मंडोली निजी सचिव जेपी दुबे, कृष्ण हेतमपुरिया, संजय राहड़, सतपाल सुधीवास,संदीप वर्मा बडवा, उमेद मतानी, नवीन सुरतपुरिया,कमल सैनी , राजबीर दलाल सहित अनेक पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.