हिसार के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर स्वास्थ्य सुविधाएं व सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश

कोरोना महामारी के मद्देनजर स्वास्थ्य सुविधाएं तथा विभिन्न प्रबंधों को लेकर दिशा-निर्देश देते डिप्‍टी स्‍पीकर रणबीर गंगवा

वैश्विक कोरोना महामारी के मद्देनजर गठित की गई जिला परामर्शदात्री समिति ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर चिंता जताते हुए स्वास्थ्य सुविधाएं तथा सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए है। गांवों में लोग बुखार या जुकाम होने पर न के बराबर सैंपलिंग करवा रहे हैं।

Manoj KumarThu, 06 May 2021 05:19 PM (IST)

हिसार, जेएनएन। शहरों की तरह की अब गांवों में कोरोना फैल रहा है। ऐसे में वैश्विक कोरोना महामारी के मद्देनजर गठित की गई जिला परामर्शदात्री समिति ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर चिंता जताते हुए स्वास्थ्य सुविधाएं तथा सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए है। डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा की अध्यक्षता वाली समिति ने इस संबंध में वीरवार को प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की।

इस दौरान सरकारी अस्पतालों में 100 बिस्तर बढ़ाए जाने की संभावनाओंं पर भी मंथन किया गया। स्वास्थ्य विभाग की और से समिति सदस्यों को अवगत करवाया गया कि यदि अतिरिक्त ऑक्सीजन उपलब्ध हो तो सरकारी अस्पतालों में बिस्तर बढ़ाए जा सकते है।

इस अवसर पर डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा, विधायक डॉ. कमल गुप्ता, मण्डलायुक्त चन्द्रशेखर व उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने जिंदल मॉर्डन स्कूल में अस्थाई अस्पताल का भी दौरा किया। इस दौरान वहां चल रहे विभिन्न कार्यो की प्रगति की समीक्षा की गई। अस्थाई अस्पताल में स्थापित काफी बिस्तरों तक ऑक्सीजन आपूत्र्ति कनेक्शन कर दिए गए हैं। समिति सदस्यों ने कहा कि इस अस्पताल के सभी प्रबंधों को जल्द से जल्द पूरा किया जाए। इसके लिए अलग-अलग शिफ्ट में 24 घंटे कार्य किया जाए। 

ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण के मामलों पर डिप्टी स्पीकर ने कहा कि पूरे जिले में ऐसे गांवों को चिन्हित किया जाए जहां महामारी का प्रकोप ज्यादा है। उन्होंने कहा कि अकेले  नलवा हल्के में ऐसे अनेक गांव है जहां पर संक्रमण के ज्यादा फैलाव की सूचनाएं उनके पास है। इनमें तलवण्डी बादशाहपुर, स्याहड़वा, बुर्रे, दुपेटा, गावड़, गंगवा, मिंगनी खेड़ा, पनिहार, शाहपुर आदि गांवों में रोजाना नए संक्रमण मामले चिंताजनक ढंग से बढ़ रहे है।

इसलिए जिले के ऐसे सभी गावों में अविलंब सैंपलिंग बढ़ाई जाए। इसी प्रकार से जिले में कोरोना वैक्सीनेशन के कार्य में भी तेजी लाई जाए। उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा कि लुवास में एक हजार अतिरिक्त सैंपल की जांच के लिए प्रयोगशाला जल्द संचालित हो जाएगी। इससे सैंपल की रिपोर्ट आने में कम समय लगेगा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.