Jam on KMP: केएमपी पर आंदोलनकारियों का डेरा, सवारी वाहन निकाले, सैकड़ों मालवाहक वाहन फंसे

केएमपी पर जाम में पंजाब और हरियाणा के दूसरे जिलों से कई वाहन फंसे रहे।

केएमपी पर किसानों ने 24 घंटे के लिए जाम लगा दिया है। रविवार सुबह 8 बजे किसान जाम खोलेंगे। शनिवार को सवारी वाहन को किसानों ने निकलने दिए। लेकिन मालवाहक वाहन फंसे रहे। नेशनल हाईवे-9 से केएमपी पर जा रहे वाहनों को पुलिस ने डाइवर्ट किया।

Umesh KdhyaniSat, 10 Apr 2021 05:56 PM (IST)

बहादुरगढ़, जेएनएन। एक माह के अंतराल के बाद केएमपी एक्सप्रेस-वे पर फिर से आंदोलनकारियों का डेरा लगा। शनिवार सुबह आठ बजते ही इस मार्ग को अगले 24 घंटों के लिए प्रदर्शनकारियों ने जाम कर दिया। इससे सैकड़ों मालवाहक वाहन बीच रास्तों में फंस गए। निर्धारित समय से पहले केएमपी पर चढ़े सवारी वाहन तो बाहर निकाल दिए गए, मगर बाकी को नहीं जाने दिया गया।

दिन भर केएमपी पर ही कई जगह सभा और लंगर चलते रहे। कुंडली-पलवल की तरफ से आए माल वाहक वाहन ही नहीं बल्कि पंजाब और प्रदेश के दूसरे जिलों से वे वाहन भी फंसे रहे, जो केएमपी से होते हुए अन्य राज्यों में जाने वाले थे। इधर, केएमपी के एंट्री प्वाइंट से वाहनों को डाइवर्ट करने के लिए पुलिस भी तैनात रही। इस बार भी जाम लगाने को पंजाब के किसानाें ने अगुवाई की। केएमपी के मांडौठी टोल के पास बाकायदा माइक-लाउडस्पीकर लगाए थे। कई जगह टेंट लगे थे। ट्रैक्टर-ट्राली में मंच बना था। महिलाएं भी खूब तादाद में पहुंचीं। पंजाब की अलग-अलग जत्थेबंदियों ने सभाएं कीं। अब रविवार सुबह आठ बजे आंदोलनकारियों की ओर से केएमपी का जाम खाेला जाएगा।

केएमपी पर जाम के दौरान आंदोलनकारियों के लिए लंगर तैयार करतीं महिलाएं।

इस बार आंदोलनकारी भी छांव तलाशते रहे 

आंदोलन स्थल से काफी संख्या में किसान ट्रैक्टर-ट्राली लेकर पहुंचे थे। हरियाणा के किसान भी पीछे नहीं थे। मगर इस बार गर्मी के बीच केएमपी पर डटे रहना आसान नहीं था। सभा और लंगर के लिए टेंट लगाए गए थे। किसान ज्यादा थे, इसलिए वे इधर-उधर छांव तलाशते रहे। दूसरी ओर पुलिस ने नेशनल हाइवे-9 से केएमपी पर आने वाले वाहनों को रोककर दूसरे रास्तों से भेजा, ताकि कोई बीच रास्ते में केएमपी पर जाम में न फंसे।

गर्मी से परेशान किसान छांव में बैठकर आराम फरमाते हुए।

कई बार बदलना पड़ा रास्ता

जिन वाहन चालकों ने दूसरे रास्तों से गंतव्य तक पहुंचना चाहा, उन्हें कई बार रास्ता बदलना पड़ा। केएमपी पर जो वाहन फंसे थे, उनके चालकों के पास तो आगे बढ़ने के लिए कोई रास्ता नहीं था, मगर जो वाहन मांडौठी टोल से प्रवेश के लिए आए थे, वह भी इधर-उधर खड़े रहे। चालक भी परेशान दिखे। रविवार सुबह तक इंतजार करना उनकी मजबूरी थी।

केएमपी पर जाम के दौरान सभा में मौजूद किसान।

यूं बयां की परेशानी 

चेन्नई जाना है, एक दिन होगी देरी

पंजाब के राकेश ने बताया कि मैं बठिंडा से आया था। मुझे माल लेकर केएमपी के रास्ते पलवल व आगरा हाेते हुए चेन्नई जाना था। यहां आकर पता चला केएमपी पर जाम है। इसके बाद सुबह तक आसौदा मोड़ पर ही ट्राला खड़ा किया। अब माल भी एक दिन की देरी से पहुंचेगा।

दूसरे रास्ते से निकलना मजबूरी

अंसार खान ने बताया कि पंजाब से आया हूं। आगरा जाना था। केएमपी पर जाने लगा तो पुलिस ने रोका और बताया कि जाम है। इसके बाद दूसरा रास्ता सुझाया। पता नहीं वह कैसा होगा, मगर निकलना मजबूरी है।

गाड़ी वापस लेकर जा रहा भिवाड़ी 

हुकम सिंह ने बताया कि वह आसौदा के गैस प्लांट से सप्लाई लेकर भिवाड़ी के लिए चला था। मगर केएमपी पर जाने के लिए आया तो पुलिस ने बताया कि जाम है। इसके बाद वापस ही प्लांट में गाड़ी लेकर जा रहा है।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ेंः Hisar KMP Jam live: 24 घंटे के लिए केएमपी जाम, लोगों के लिए खाने की व्यवस्था भी कर रहे किसान

 

यह भी पढ़ेंः बहन ने किया था सुसाइड का प्रयास, पता चलते ही दूसरी बहन ने लगा लिया फंदा

 

यह भी पढ़ेंः रोहतक में झोपड़ियों में आग के बाद 20 परिवार गायब, पुलिस को भी नहीं कोई भनक

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.