Omicron virus: विदेश से लौटे युवक से क्वारंटाइन को लेकर बरत रहे लापरवाही, जानें बचाव के लिए क्या जरूरी

ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए हिसार में विदेश से लौटे युवक से क्वारंटाइन बारे पूछा तो बोला मास्क लगा रखा है वहीं दूसरा बोला आटो मार्केट में गाड़ी ठीक करवा रहा हूं। वहीं अगर बात करें रिपोर्ट की तो उसके लिए आठ दिन सैंपल जरूरी है।

Naveen DalalThu, 02 Dec 2021 09:16 AM (IST)
हिसार में विदेश से लौटे लोग नहीं दिखा रहे सक्रियता।

हिसार, जागरण संवाददाता। दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना के आमिक्रोन वैरियंट से बढ़ते खतरे को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयारियों में जुट गया है। इधर विदेशों से आए लोग आमिक्रोन के खतरे के बावजूद क्वारंटाइन नहीं हो रहे है। यह लोग कभी गाइडलाइन बारे अनभिज्ञता जता रहे है तो कभी मास्क लगाने का बहाना बना लेते है। विदेश से लौटे लोग सरकार की क्वारंटाइन की गाइडलाइन की धज्जियां उड़़ाते हुए होम क्वारंटाइन न होकर कोई गाड़ी ठीक करवा रहा है कोई शादियों में घुम रहा है तो कोई अपने निजी काम करने में व्यस्त है। बुधवार को जिले में विदेश से आए 20 लोगों की लिस्ट आई। जीव वैज्ञानिक डा. रमेश पूनिया ने बताया कि विदेश से आए 20 लोगों में से उन्होंने बुधवार को 10 लोगों से बात की, जिनमें से पांच लोग घर पर नहीं थे।

केस-1

डा. रमेश पूनिया ने बताया कि विदेश लौटे एक युवक को फोन कर कहा कि क्या वह क्वारंटाइन में है तो वह बोला की उसने तो मास्क लगा रखा है, उसे कोई खतरा नहीं है। जबकि गाइडलाइन के अनुसार इस युवक को सात दिन होम क्वारंटाइन में रहकर आठवें दिन सैंपल करवाना है।

केस - 2

वहीं विदेश से आए एक अन्य युवक को डा. पूनिया ने फोन कर पूछा की क्या वह क्वारंटाइन में है तो उसने बताया कि वह आटो मार्केट में गाड़ी ठीक करवा रहा है।

आठवें दिन सैंपल जरुरी

गाइडलाइन के अनुसार इन लोगाें के सैंपल आठवें दिन होंगे। तब तक इन्हें होम क्वारंटाइन रहना होगा। अगर आठवें दिन की रिपोर्ट में यह पाजिटिव मिलते है तो इनका चिकित्सक की देखरेख में उपचार किया जाएगा और जीनाेम सैंपलिंग की जाएगी। वहीं इससे पहले हिसार आए सभी 26 लोगाें के सैंपल ले लिए गए है। जिनमें से दो लोगों की रिपोर्ट आई है जो निगेटिव रही है।

इधर सिविल और निजी अस्पताल में तैयारियों के आदेश

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से आमिक्रोन के खतरे को देखते हुए जिले में सरकारी और निजी अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है। विभाग की ओर से आइसाेलेशन वार्ड, वेंटीलेटर और अन्य सुविधाओं को सुचारु करने की तैयारियां शुरु कर दी गई है। गौरतलब है दूसरी लहर में सिविल अस्पताल में 100 बेड का आइसोलेशन बेड तैयार किया गया था। इस वार्ड को अब डेंगू मरीजों के लिए प्रयोग किया जा रहा है। लेकिन आमिक्रोन के खतरे को देखते हुए अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड को दोबारा सूचारु रखने के आदेश दिए गए है।

स्वास्थ्य विभाग ने लिए 1480 सैंपल

स्वास्थ्य विभाग ने प्रतिदिन दो हजार सैंपल का टारगेट मिलने के बाद बुधवार को 1480 सैंपल किए। इनमें शहर के सिविल अस्पताल, शिक्षण संस्थानों और सीएचसी में सैंपल किए गए।

कोरोना संक्रमित को दिल्ली किया शिफ्ट

शहर के मिलगेट एरिया में कोरोना संक्रमित मिले 66 वर्षीय बुजुर्ग की हालत बिगड़ने पर उसे सीएमसी अस्पताल से दिल्ली के द्वारका के आकाश अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है। वहीं इनके घरवालों के तीन सैंपल किए गए है।

2541 लोगों को लगी वैक्सीन

जिले में बुधवार को 2541 लोगाें को वैक्सीन लगी है। इनमें से 60 से अधिक आयु वर्ग में 32 लोगाें को, 45 से 60 के आयु वर्ग में 61 लोगाें को तथा 18 से 44 के आयु वर्ग में 381 लोगों को पहली डोज लगी है। अब तक जिले में पहली डोज 1015825 लोगों को लग चुकी है, जबकि दूसरी डोज 414643 लोगाें को लगी है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.