Hisar coronavirus Update: हिसार में कोरोना संक्रमण पर नहीं लग रहे ब्रेक, शुक्रवार को मिले 1143 नए केस

हिसार में काेरोना संक्रमण के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं, हालांकि स्‍वस्‍थ भी हो रहे हैं

हिसार में संंक्रमण के 37 हजार 256 मामलें सामने आ चुके हैं। इनमें से कुल 28 हजार 641 संंक्रमित कोरोना से रिकवर हो चुके हैं। जि़ले में अब 8 हजार 45 सक्रिय मरीज है। अभी तक कोरोना संक्रमण के कारण 570 लोगों की मृत्यु हुई है।

Manoj KumarFri, 07 May 2021 05:58 PM (IST)

हिसार, जेएनएन। हिसार में काेरोना संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा है। जि़ले में शुक्रवार को संंक्रमण के 1143 नए मामले सामने आए है। इसके साथ ही 953 संंक्रमितों को कोरोना से रिकवर होने पर डिस्चार्ज किया गया।  जि़ले में अभी तक 4 लाख 69 हजार 389 लोगों की टेस्टिंग में संंक्रमण के 37 हजार 256 मामलें सामने आ चुके हैं। इनमें से कुल 28 हजार 641 संंक्रमित कोरोना से रिकवर हो चुके हैं। जि़ले में अब 8 हजार 45 सक्रिय मरीज है। अभी तक कोरोना संक्रमण के कारण 570 लोगों की मृत्यु हुई है। जिले का रिकवरी रेट 75.16 प्रतिशत है।

कोरोना से सेना भर्ती कार्यालय चार जिलों के उम्मीदवारों के लिए 30 मई को होने वाली लिखित परीक्षा स्थगित

हिसार । सेना भर्ती कार्यालय द्वारा हिसार, सिरसा,जींद व फतेहाबाद के उम्मीदवारों के लिए आगामी 30 मई को होने वाली लिखित परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है। सेना भर्ती कार्यालय के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय सेना की ओर से कोरोना महामारी के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि हिसार सेना छावनी में सेना भर्ती कार्यालय द्वारा 20 फरवरी से 13 मार्च, 2021 तक हिसार, सिरसा,जींद व फतेहाबाद के उम्मीदवारों के लिए सैनिक, जनरल ड्यूटी तथा सैनिक, लिपिक/स्टोर कीपर तकनीकी श्रेणी के लिए भर्ती का आयोजन किया था, जिसकी लिखित परीक्षा 30 मई, 2021 को होनी थी, को आगामी आदेश तक स्थगित कर दिया गया है। लिखित परीक्षा की नई तिथि की सूचना समाचार पत्रों के माध्यम से दी जाएगी।

डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा कोरोना के गंभीर संक्रमित के लिए प्लाजमा डोनेट किया

हिसार। हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा ने कोरोना से रिकवर हो चुके लोगों से प्लाजमा डोनेट करने का आहन किया है, ताकि कोरोना की बीमारी से जुझ रहे संक्रमितों की जान बचाई जा सके। उन्होंने शुक्रवार को स्वयं भी मंगलम लैब पंहुच कर प्लाजमा डोनेट किया। पिछले दिनों उन्हें कोरोना का संक्रमण हुआ था, जिससे वे पूरी तरह रिकवर हो चुके है। शुक्रवार को एक निजी अस्पताल में दाखिल कोरोना के गंभीर संक्रमित के लिए उन्होंने निर्धारित अन्तराल व स्वास्थ्य मापदण्डों के अनुरूप अपना प्लाजमा डोनेट किया। डिप्टी स्पीकर ने कहा कि कोविड महामारी के इस दौर में कोरोना के जोखिम और गंभीर लक्षण वाले मरीजों के इलाज में प्लाजमा थैरेपी का इस्तेमाल किया जाता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार प्लाजमा रक्त का वह तरल भाग होता है जिसमें लाल और श्वेत रक्त कणिकाएं तथा प्लेटलैट भी होती है। इस तरल भाग में एंटीबॉडिज भी काफी संख्या में होती है। इसलिए इसे एंटीबॉडी थैरेपी कहा जाता है। प्लाजमा के जरिए ये एंटी बॉडी मरीज के शरीर में पहुंच जाती है जिससे वायरस का असर कमजोर होता है और मरीज के ठीक होने की संभावनाएं बढ़ जाती है। उन्होंंने विशेषकर उन युवाओं, जो कोरोना से रिकवर हुए है, को जरूरत मंदों के लिए प्लाजमा देने की अपील की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.