रिलीज से पहले ही विवादों में हरियाणवी फिल्म सेफ हाउस, अधिवक्ता ने भेजा कानूनी नोटिस

हरियाणावी फिल्म सेफ हाउस रिलीज से पहले ही विवादों में घिर गई है। अधिवक्ता दिग्विजय जाखड़ ने फिल्म के कलाकारों और प्रसारकों को लिग्ल नोटिस भेजा है। जाखड़ का आरोप है कि फिल्म में कुछ आपत्तिजनक सीन फिल्माए गए है।

Rajesh KumarFri, 26 Nov 2021 04:40 PM (IST)
तीन दिसंबर को रिलीज होनी है हरियाणवी फिल्म सेफ हाउस।

जागरण संवाददाता, रोहतक। प्रेमी-जोड़ों को लेकर बनाई हरियाणवी फिल्म सेफ हाउस रिलीज से पहले ही विवादों में आ गई। जिला कोर्ट में प्रेक्टिस करने वाले अधिवक्ता दिग्विजय जाखड़ ने सेफ हाउस के कलाकार और प्रसारकों को कानूनी नोटिस भेजा है। आरोप है कि फिल्म के अंदर भरी अदालत में जज के साथ अभद्रता का दृश्य दर्शाया गया है, जो अशोभनीय है।

तीन दिसंबर को रिलीज होनी है फिल्म 

अधिवक्ता ने बताया कि हरियाणवी फिल्म सेफ हाउस तीन दिसंबर को रिलीज होनी है। फिलहाल ऐप के माध्यम से इस फिल्म ट्रेलर दिखाया जा रहा है। ट्रेलर की स्ट्रीमिंग में जज, वकील समुदाय और न्यायिक प्रणाली के लिए आपत्तिजनक व अपमानजनक बातें कहीं गई है। फिल्म के एक दृश्य में जज को चप्पल मारते और गालियां देते हुए दिखाया गया है। जजों को लेकर इस तरह का संबोधन करना बर्दास्त होने लायक नहीं है। आम जनता की नजरों में कानून व्यवस्था, जज और वकीलों की छवि धूमिल करने का प्रयास किया गया है। स्टेज ऐप के वेब पोर्टल पर इस तरह की फिल्में व टीवी शो के माध्यम से बदनाम किया जा रहा है, जो मानहानि के दायरे में आता है। इस तरह की फिल्म देखकर युवा पीढ़ी व समाज के अन्य लोगों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

आपत्तिजनक सीन हटाने की मांग

अधिवक्ता दिग्विजय जाखड़ ने बताया कि इस मामले को लेकर स्टेज ऐप व सेफ हाउस हरियाणवी फिल्म के निर्माता, लेखक व निर्देशक रमेश चहल और कलाकार राममेहर मेहला व प्रसारकों को कानूनी नोटिस भेजा गया है। इसमें कहा गया है कि फिल्म से इस तरह के दृश्य और आपत्तिजनक बातों को हटाकर माफी मांगी जाए। साथ ही लीगल एड तथा बार काउंसिल आफ इंडिया को पांच करोड़ रुपये मानहानि के एवज में अदा करने के लिए कहा गया है। अगर एक सप्ताह के अंदर ऐसा नहीं किया गया तो आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

आनलाइन प्लेटफार्म के लिए भी होना चाहिए सेंसर 

अधिवक्ता ने मांग करते हुए कहा कि आनलाइन प्लेटफार्म पर भी सेंसर बोर्ड होना चाहिए। फिलहाल में जिस तरह का कंटेंट आ रहा है उसका बच्चों और युवा पीढ़ी पर गलत असर पड़ रहा है। वेब सीरिज हो या फिर कोई अन्य कार्यक्रम उसे परिवार के साथ बैठकर देखना भी मुश्किल हो गया है। ऐसे कंटेंट पर रोक लगनी चाहिए। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.