Haryana Weather News: हरियाणा में धूप निकलने पर भी गलन का अहसास, 20 जनवरी तक और बढ़ेगी ठंड

रात्रि तापमान में लगातार गिरावट से राज्य में 18 से 20 जनवरी के बीच कहीं कहीं पाला पड़ सकता है

हरियाणा में 21 जनवरी तक मौसम खुश्क मगर परिवर्तनशील रह सकता है। इस दौरान दिन के समय तापमान में हल्की बढ़ोतरी मगर उत्तर पश्चिमी शीत हवाएं चलने की संभावना है। जिससें अब रात्रि तापमान में गिरावट होने की संभावना है।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 12:07 PM (IST) Author: Manoj Kumar

हिसार, जेएनएन। पहाड़ों में हुए बर्फवारी के बाद चली हवाओं ने मैदानी क्षेत्रों में ठिठुरन बढ़ा दी है। शीतलहर के कारण दिन का तापमान इतना कम हो गया है कि पहाड़ी क्षेत्रों के तापमान को भी फेल कर रहा है। वहीं रात्रि तापमान में भी बदस्तूर कमी जारी है। रविवार को दिन का तापमान सामान्य से सात डिग्री कम रहकर 13 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया तो न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम रहकर 3.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। वहीं दूसरी ओर अगर पहाड़ी क्षेत्रों में तापमान देखें तो शिमला में दिन के समय 18.4 डिग्री सेल्सियस तो मनाली में 17 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। मौसम विज्ञानियों की मानें आगामी कुछ दिनों में और भी अधिक ठंड पड़ सकती है जो आगे चलकर ठिठुरन बढ़ाएगी।

आगामी तीन से चार दिनों में पाला पड़ने की संभावना

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने बताया कि 21 जनवरी तक मौसम खुश्क मगर परिवर्तनशील रह सकता है। इस दौरान दिन के समय तापमान में हल्की बढ़ोतरी मगर उत्तर पश्चिमी शीत हवाएं चलने की संभावना है। जिससें अब रात्रि तापमान में गिरावट होने की संभावना है। हवा में नमी की मात्रा अधिक होने से अलसुबह या देर रात्रि धुंध छाई रह सकती हैं। रात्रि तापमान में लगातार संभावित गिरावट से राज्य में 18 जनवरी से 20 जनवरी के बीच कहीं कहीं पाला पड़ सकता है।

अल सुबह छाई धुंध, बाद में हुई साफ

शीतलहर और सर्दी बढ़ने से धुंध लगातार दो से तीन दिनों से बढ़ रही है। रविवार को अल सुबह धुंध छाई रही जिसके कारण वाहनों की गति पर ब्रेक लगे। अधिकांश धुंध अल समय दिखाई दी। आगामी दिनों में धुंध बढ़ सकती है।

प्रदेश में क्यों बढ़ी ठंड

मौसम विज्ञानी डा. मदन खिचड़ ने बताया कि मकर संक्रांति पर दो दिन तक पश्चिमी विक्षोभ पहाड़ों की तरफ से गुजरा जिससे पहाड़ों में बर्फवारी हुई। फिर वहां से चली उत्तर पश्चिमी हवाओं ने प्रदेश में शीतलहर चलाई, जिससे दिन और रात्रि दोनों तापमान में कमी आ गई। आगामी दिनों में कुछ इसी प्रकार का मौसम रहेगा।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.