Haryana Roadways: हिसार डिपो में टायरों के अभाव में खड़ी बसें पकड़ेंगी रफ्तार, यात्रियों मिलेगी सुविधा

केंद्रीय वर्कशाप कार्यलय हिसार सहित छह जिलों का हब है। इनमें फतेबाहाद सिरसा भिवानी रोहतक जींद व दादरी जिला शामिल है। इन सभी जिलों से टायर रिसोलिंग के लिए यहां आते है। जिस डिपो से टायर यहां आते है।

Naveen DalalSat, 04 Dec 2021 02:36 PM (IST)
केंद्रीय वर्कशाप कार्यलय हिसार प्लांट में टायरों पर की जा रही कोल्ड रिसोलिंग

हिसार, जागरण संवाददाता। हिसार डिपो के केंद्रीय वर्कशाप में बने रिसोल टायर प्लांट से हर साल टायरों की रिसोलिंग कर 500 टायर तैयार किए जा रहे है। इन टायरों की एक बार में चलने की क्षमता 48 हजार किलोमीटर तक होती है। इससे बसें टायरों के अभाव में खड़ी नहीं रहेगी। साथ ही यात्रियों की परेशानी भी खत्म होगी, क्योंकि बिना देरी के बसें वापस रूटों पर दौड़ सकेगी।

प्लांट से टायरों की रिसोलिंग कर रहे 500 टायर तैयार, 48 हजार किमी. की क्षमता

केंद्रीय वर्कशाप कार्यलय हिसार सहित छह जिलों का हब है। इनमें फतेबाहाद, सिरसा, भिवानी, रोहतक, जींद व दादरी जिला शामिल है। इन सभी जिलों से टायर रिसोलिंग के लिए यहां आते है। जिस डिपो से टायर यहां आते है, उन टायरों की रिसोलिंग कर वापस उन डिपो को वापस भेज दिए जाते हैं। अगर टायर की तारें न निकली तो उसकी दो रिसोलिंग की जा सकती है। तारें निकलने पर टायर कारगर नहीं रहता है। दो बार रिसोलिंग के बाद टायर 48-48 हजार किलोमीटर चलता है। यदि इससे कम किलोमीटर में टायल की रिसाेल फट जाती है तो वापस किया जा सकेगा। रिसाेल की गारंटी होती है, जो कंपनी से बदलाया जा सकता है।

2500 रुपये आता है खर्च

प्लांट में एक टायर की रिसोलिंग करने का खर्चा ढ़ाई हजार रुपये आता है। इसमें सिलोचन, रबड़, बाउंडिगिंग व बिजली खर्च शामिल है। नए टायर की लागत की बात करें तो नया टायर 15 से 20 हजार रुपये में आता है। नए टायर के मुकाबले आधे रेट से भी कम लागत में एक लाख किलोमीटर तक टायर को दोबारा से चलाया जा सकता है। नया टायर 60 किलोमीटर तक चलता है।

अब कोल्ड रिसोलिंग हो रही

प्लांट में अब कोल्ड रिसोलिंग हो रही है। इसमें पहले टायर को प्लेन तैयार करते है। इसके बाद सुलोचन लगाकर सुखाया जाता है और बाउंडिगिंग होती है। फिर ट्रेड रबड़ की बेल्ट चढ़ाई जाती है। पहले स्टीम रिसोलिंग की जाती थी।

हिसार डिपो के स्पेयर पार्टस एसिस्टेंट के अनुसार

हमारे पास हिसार के अलावा फतेहाबाद, सिरसा व भिवानी डिपो से भी टायर रिसोलिंग के लिए आते है। 400 से 500 टायरों की रिसोलिंग की जाती है। पहली रिसोलिंग के बाद टायर 48 हजार किलोमीटर तक चलता है। एक टायर पर करीब ढ़ाई हजार रुपये का खर्च आता है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.