हरियाणा शिक्षा विभाग ने शुरू की कर्मचारियों की पदोन्नति की तैयारियां, सीनियरटी पर काम शुरू

हरियाणा में लिपिकीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। विभाग ने लंबे समय से रुकी पदोन्नति की तरफ ध्यान देते हुए कर्मचारियों की पदोन्नति की तैयारियां शुरू कर दी है। संभावित यानी टेंटेटिव सीनियरटी लिस्ट तैयार कर ली गई है।

Manoj KumarTue, 27 Jul 2021 10:48 AM (IST)
हरियाणा के 6112 कर्मचारियों की संभावित लिस्ट तैयार, इसमें सेवानिवृत्त और देहांत हो चुके कर्मचारियों को भी किया शामिल

जागरण संवाददाता, हिसार। हरियाणा शिक्षा विभाग के लिपिकीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। विभाग ने लंबे समय से रुकी पदोन्नति की तरफ ध्यान देते हुए कर्मचारियों की पदोन्नति की तैयारियां शुरू कर दी है। संभावित यानी टेटेटिव सीनियरटी लिस्ट तैयार कर ली गई है। इसे वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है। अब आपत्तियां मांगी गई हैं। इसके बाद सीनियरटी लिस्ट फाइनल की जाएंगी। लिस्ट फाइनल होने के बाद पदोन्नति पर फैसला लिया जा सकता है।

शिक्षा विभाग के प्रदेश भर में 6 हजार से ज्यादा लिपिकीय कर्मचारी मुख्यालय और क्षेत्रीय कार्यालयों मे कार्यरत हैं। कर्मचारियों का कहना है कि लंबे समय से पदोन्नतियां नहीं हुई। पदोन्नति नहीं होने का मुख्य कारण कर्मचारियों की वरिष्ठता सूची पर विवाद था। कभी कोई कर्मचारी तो कभी कोई दूसरा कर्मचारी स्वयं को वरिष्ठ होने का दावा करता था। ऐसे में विवाद होने के कारण पदोन्नतियां नहीं हो पा रही थी। अब विभाग ने वरिष्ठता सूची तैयार करने का फैसला किया है।

टेंटेटिव लिस्ट तैयार, आपत्तियां दर्ज करने के लिए 15 दिन का दिया समय

शिक्षा निदेशालय ने मुख्यालय और क्षेत्रीय कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों की संभावित वरिष्ठता सूची तैयार कर ली है। इसमें 6112 कर्मचारियों को उनकी ज्वाइनिंग तारीख अनुसार शामिल किया गया है। इस लिस्ट में ना केवल उन कर्मचारियों काे शामिल किया गया है जो सेवानिवृत्त हो चुके हैं बल्कि उन कर्मचारियों काे भी शामिल किया गया है जिनका देहांत हो चुका है। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि वरिष्ठता को लेकर किसी भी तरह का विवाद ना रहे। साथ ही मुख्यालय ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों, सभी खंड मौलिक शिक्षा अधिकारियों, सभी खंड शिक्षा अधिकारियों और एससीईआरटी हरियाणा के निदेशक को भी पत्र जारी करके इसकी सूचना दे दी है। पत्र में कहा गया है कि वरिष्ठता सूची से यदि किसी को ऐतराज है तो वे संबंधिित पूरा दस्तादेज, प्रमाण के साथ अपनी टिप्पणी 15 दिन के भीतर निदेशालय भिजवा सकते हैं। ये अवधि समाप्त होने के बाद किसी भी प्रकार की आपत्ति स्वीकार नहीं की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.