top menutop menutop menu

गुरु पूर्णिमा दिवस विशेष : एक पिता ने गुरु बन बदल दी पांच फौगाट बहनों की जिंदगी

चरखी दादरी  [सचिन गुप्ता] द्रोणाचार्य अवार्डी महावीर फौगाट, एक ऐसा नाम है जो आज किसी परिचय का मोहताज नहीं है। ये वही महावीर फौगाट हैं, जिन्होंने लोगों के तानों को अनसुना कर छह बेटियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर का पहलवान बनाया। खुद पहलवान रह चुके महावीर फौगाट ने अपनी बेटी गीता, बबीता, रितू, संगीता के अलावा छोटे भाई की बेटी विनेश व प्रियंका फौगाट को कुश्ती के गुर सिखाए।

फौगाट सिस्टर्स गीता, बबीता, रितू व संगीता अपने पिता तथा विनेश व प्रियंका अपने ताऊ महावीर फौगाट से कुश्ती के मैट पर गुर सीखकर देश की झोली में कई पदक डाल चुकी है। दादरी जिले के गांव बलाली निवासी पहलवान महावीर फौगाट राष्ट्रीय स्तर के पहलवान रह चुके हैं। उन्होंने दिल्ली के चंदगीराम अखाड़े में कुश्ती की बारीकियां सीखी। लेकिन कुछ वर्ष बाद महावीर फौगाट वहां से वापिस आ गए। भले ही उन्होंने कुश्ती करना छोड़ दिया था, लेकिन मन में कुछ कर गुजरने का जुनून था।

जिस पर उन्होंने अपनी बेटियों को ही कुश्ती के मैट पर उतारने का फैसला कर लिया। उनके इस फैसले पर लोगों ने कुश्ती को पुरूष प्रधान खेल बताते हुए काफी ताने दिए। परिवार के लोगों ने भी ऐतराज किया। लेकिन उन्होंने केवल अपने मन की बात सुनी तथा बेटियों को कुश्ती के गुर सिखाने में व्यस्त रहे। नतीजा यह हुआ कि आज उनकी चार तथा भाई की दो बेटियां विश्वस्तरीय पहलवान हैं। इन बेटियों ने गुरु महावीर फौगाट से प्रशिक्षण लेकर ओलंपिक, कॉमनवेल्थ, एशियन के अलावा अन्य कई अंतरराष्ट्रीय व राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लिया तथा पदक भी जीते।

महावीर फौगाट की मेहनत को देखते हुए भारत सरकार द्वारा उन्हें वर्ष 2016 में द्रोणाचार्य अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है। महावीर फौगाट का कहना है कि वे उस पल का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं, जब उनकी बेटी ओलंपिक गेम्स में स्वर्ण पदक जीत कर देश का नाम ऊंचा करें।

तीन बेटियों की हो चुकी है शादी

महावीर फौगाट की बेटी गीता, बबीता तथा भाई की बेटी विनेश फौगाट की शादी हो चुकी है। उनकी बेटी संगीता फौगाट का रिश्ता अंतरराष्ट्रीय पहलवान बजरंग पूनिया से तय हो चुका है। बबीता फौगाट ने वर्ष 2019 में दादरी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की टिकट पर चुनाव भी लड़ा था। उनकी बेटी रितू फौगाट ने बीते वर्ष रितू कुश्ती को अलविदा कर मिक्सड मार्शल आर्टस में जाने का फैसला लिया था। एमएमए में रितू कड़ी मेहनत के दम पर दो फाइट जीत चुकी है। वहीं, गीता-बबीता फौगाट का छोटा भाई दुष्यंत फौगाट भी अपने पिता महावीर फौगाट से कुश्ती का प्रशिक्षण ले रहा है। दुष्यंत को भी अपने पिता और बहनों की तरह पहलवानी का शौक है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.