Rohtak News: जिला नगर योजनाकार विभाग की अवैध निर्माण पर पहली बार बड़ी कार्रवाई, 21 महिलाओं सहित 45 पर केस दर्ज

रोहतक में सहायक जिला नगर योजनाकार की तरफ से पहली बड़े स्तर पर कार्रवाई की है। शहर के बाहरी छोर पर अवैध निर्माण के मामले में सहायक जिला नगर योजनाकार की तरफ से बड़ी कार्रवाई करते हुए 45 लोगों के खिलाफ सिटी थाने में केस दर्ज कराया गया है।

Naveen DalalFri, 17 Sep 2021 07:05 AM (IST)
रोहतक में अवैध निर्माण पर प्रशासन की कार्रवाई।

रोहतक, जागरण संवाददाता। रोहतक में के बाहरी छोर पर अवैध निर्माण के मामले में सहायक जिला नगर योजनाकार की तरफ से बड़ी कार्रवाई करते हुए 45 लोगों के खिलाफ सिटी थाने में केस दर्ज कराया गया है। खास बात यह है कि जिन लोगों पर केस दर्ज हुआ है, उसमें 21 महिलाएं भी शामिल है। अवैध निर्माण पर शिकंजा कसने के लिए सहायक जिला नगर योजनाकार की तरफ से पहली बार एक साथ इतने अधिक लोगों पर केस दर्ज कराया गया है। सभी के खिलाफ हरियाणा डवलपमेंट एंड रेगुलेशन आफ अर्बन एरिया एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ है।

इस तरह समझे मामला

अवैध निर्माण के इस मामले में सबसे अधिक जिम्मेदार प्रापर्टी डीलर होते हैं, लेकिन उनके खिलाफ कभी-कभार ही कानूनी कार्रवाई हो पाती। दरअसल, प्रापर्टी डीलर किसानों को कुछ ब्याना देकर उनकी जमीन खरीद लेते हैं, जिसके बाद उस जमीन पर प्लाट काटकर बेचना शुरू कर देते हैं। जब तक किसान को पूरी रकम नहीं मिलती तब तक जमीन किसान के नाम रहती है। इस प्रक्रिया के लिए प्रशासनिक स्तर पर भी कागजी कार्रवाई पूरी करनी होती है, लेकिन प्रापर्टी डीलर ऐसा नहीं करते।

इसी वजह से बिना कागजी कार्रवाई के जब उस जमीन पर निर्माण किया जाता है तो उसे अवैध माना जाता है। जिस व्यक्ति के नाम पर जमीन होती है उसके खिलाफ केस दर्ज कर दिया जाता है। इस पूरे झमेले में किसान और प्लाट खरीदने वाला लपेटे में आ जाता है। इनके खिलाफ केस दर्ज भी कराया जाता है और अवैध निर्माण भी तोड़ दिया या फिर सील कर दिया जाता है।

इनके खिलाफ हुआ केस दर्ज

अवैध निर्माण के मामले में जिन लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है उसमें रामफल, कंवर साहब, रामचंद्र, टेकराम, गोपाल, संतराम, चिमनलाल, टेकराम, रामलाल, वजीर सिंह, बिजेंद्र सिंह, उमेद सिंह, रामप्रकाश, मलकियत सिंह, कृष्ण, सन्नी, करनैल सिंह, जरनैल सिंह, मुख्तयार सिंह, सचिन, रामबीर, निशांत, अनिल कुमार और कपिल देव शामिल है। इसके अलावा महिलाओं में कुलविंद्र कौर, पोहली, चिंदी, गुड्डी, ममता, आकांशा, कमलेश, शशि, रोशनी, मनीषा, कमलेश, रशमी, किताबो, सोनिया, राजपति, सविता, बाला, रितू, गुंजन, कविता और कमलेश पर केस दर्ज किया गया है।

इन एरिया में हैं सबसे अधिक अवैध कालोनी

जिन कालोनियों को अवैध की श्रेणी में रखा गया है उसमें कुताना, बैयापुर, बालंद, सुनारिया कलां, डोभ, बोहर, चमारिया, खेड़ीसाध और खरावड़ गांव के आसपास है। अधिकारियों की मानें तो करीब 70 से अधिक कालोनी अवैध है। अवैध निर्माण को लेकर नगर निगम की टीम अभियान भी चला रही है। लोगों को हिदायत दी जा रही है अवैध कालोनियों में मकान का निर्माण ना करें।

जांच अधिकारी ने बताया कि सहायक जिला नगर योजनाकार की तरफ से शिकायत मिली थी, जिसके आधार पर 21 महिलाओं समेत 45 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.