फतेहाबाद में किसान ने झूठी रची थी साढ़े 7 लाख रुपये की लूट की वारदात, पुलिस ने किया खुलासा

किसान पर 25 लाख रुपये का कर्ज था, रुपये वापस ना देने पड़े इसलिए लूट की बनाई थी कहानी

किसान ने झूठी कहानी रची थी ताकि उसे कर्ज के रुपये वापस ना लौटाना पड़े। पुलिस को पहले ही दिन शक हो गया था। किसान ने बताया कि दो युवक पुलिस की वर्दी पहनकर आए और उसे कहा था कि आगे पुलिस है ऐसे में वह दूसरी तरफ चला जाए।

Manoj KumarMon, 17 May 2021 04:32 PM (IST)

फतेहाबाद, जेएनएन। फतेहाबाद के टोहाना खंड के गांव धारसूल के एक किसान से साढ़े 7 लाख रुपये लूट मामले का पुलिस ने पटाक्षेप कर दिया है। किसान ने झूठी कहानी रची थी ताकि उसे कर्ज के रुपये वापस ना लौटाना पड़े। पुलिस को पहले ही दिन शक हो गया था। किसान ने बताया कि दो युवक पुलिस की वर्दी पहनकर आए और उसे कहा था कि आगे पुलिस है ऐसे में वह दूसरी तरफ चला जाए। पुलिस ने इसी प्वाइंट को पकड़ा और जांच शुरू कर दी। किसानों से गहनता से पूछताछ की तो पूरी वारदात को बता दिया।

डीएसपी बिरम सिंह के नेतृत्व में थाना सदर टोहाना व सीआइए टोहाना की टीम द्वारा इस मामले में की गई गहन जांच के बाद लूट की यह वारदात झूठी पाई गई है। डीएसपी टोहाना बिरम सिंह ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि थाना सदर टोहाना पुलिस ने गांव धारसूल खुर्द निवासी किसान अजमेर सिंह की शिकायत पर उससे साढ़े 7 लाख रुपये लूट का मामला दर्ज किया था। किसान ने शिकायत में कहा था कि वह टोहाना के आढ़ती से साढ़े 7 लाख रुपये अकांवाली-धारसूल के बीच नहर की पटरी पर जा रहा था तो रास्ते में मोटरसाइकिल पर पुलिस वर्दी में आए दो युवकों ने उससे यह राशि लूट ली।

सूचना मिलते ही थाना सदर टोहाना, सीआइए की टीम व डीएसपी स्वयं मौके पर पहुंचे और किसान से पूछताछ की तो पुलिस को लूट का मामला संदेहजनक लगा। बाद में गहनता से की गई जांच में यह मामला झूठा पाया गया। डीएसपी ने बताया कि जांच में पता चला कि उक्त किसान पर 24-25 लाख रुपये का कर्ज है और उसे चिंता थी कि साढ़े 7 लाख में वह किस-किस का कर्जा उतारेगा।

इसी से बचने के लिए उसने लूट का ड्रामा रखा और टोहाना से आते समय गांव इंदाछोई में ठेके पर लिए खेत में जाकर उसने रुपये से भरा यह बैग दबा दिया और बाद में पुलिस को लूट की सूचना दी। डीएसपी ने बताया कि इस मामले कुलां चौकी इंचार्ज कपिल देव व जांच अधिकारी एएसआई अमरजीत ने जांच को आगे बढ़ाते हुए खेत में दबाई गई राशि को बरामद कर लिया है और किसान द्वारा दर्ज मामले को रदकर उसके खिलाफ पुलिस को गुमराह करने पर कार्रवाई की गई है।

यह था मामला

गौरतलब है कि धारसूल खुर्द निवासी किसान अजमेर सिंह बीते दिन शुक्रवार शाम को करीब तीन बजे टोहाना अनाजमंडी से अपने आढ़ती से गेहूं की साढ़े 7 लाख रुपए पेमेंट लेकर अपनी बाइक पर कुलां टोहाना मार्ग से वापिस लौट रहा था। रास्ते में ग्रीन वैली स्कूल के समीप पुलिसकर्मी बनकर एक बाइक पर आए दो अज्ञात लोगों ने षड्यंत्र रचकर अजमेर सिंह को आगे पुलिस द्वारा चालान काटने का भय दिखाते हुए वापिस लौटा दिया था। जिसके बाद अजमेर वापस लौटकर मुख्य सड़क से जाने की अपेक्षा रतिया ब्रांच नहर की पटरी से वापिस घर आ रहा था। बताया जा रहा कि नहर किनारे सलेमपुरी हैड के निकट उक्त लुटेरे उसे मिले और हाथापाई कर एवं हथियार के बल पर अजमेर सिंह से नकदी से भरा बैग छीनकर फरार हो गए थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.