हिसार में कोरोना वैक्सीन लगवाने को बुजुर्गों में जोश, हेल्थ विभाग और फ्रंटलाइन वर्कर को छोड़ा पीछे

हिसार में कोविशिल्ड और को-वैक्सीन दोनों भेजी गई है। लेकिन सिर्फ कोविशिल्ड का प्रयोग हुआ है।

हिसार में 16 जनवरी से टीकाकरण शुरू हुआ था। अब तक 41147 बुजुर्ग वैक्सीन लगवा चुके हैं। अब तक मात्र 11945 हेल्थ वर्कर तो 4363 फ्रंटलाइन वर्करों ने ही कोरोना से बचाव की डोज ली है। पिछले हफ्ते वैक्सीन लेने के बाद तीन मौतों का अभियान पर थोड़ा असर पड़ा।

Umesh KdhyaniSat, 10 Apr 2021 02:57 PM (IST)

हिसार, जेएनएन। जिले में वैक्सीनेशन के तीसरे फेज में वैक्सीन लगवाने में बुजुर्ग सबसे आगे रहे हैं। जिले में अब तक 41,147 बुजुर्गों ने वैक्सीन लगवा ली हे। इनमें से 386 दूसरी डोज भी लगवा चुके हैं। वैक्सीन लगवाने के मामले में बुजुर्गों ने हेल्थ विभाग और फ्रंटलाइन वर्करों को भी पीछे छोड़ दिया है।

हिसार में वैक्सीनेशन अभियान 16 जनवरी से शुरू किया गया था। अब तक पहले और दूसरे फेज में हेल्थ वर्कर और फ्रंटलाइन वर्कर को कोरोना से बचाव की डोज लगाई जा चुकी हैं। लेकिन इन दोनों फेज के मुकाबले तीसरे फेज में अधिक वैक्सीनेशन हुआ है। हालांकि पिछले सप्ताह वैक्सीन लेने के बाद तीन लोगों की मौत का असर रहा कि कुछ दिन वैक्सीनेशन कम भी हुआ। लेकिन, अब फिर से काेरोना से बचाव के लिए वैक्सीन लगवाने में आम जनता रुचि ले रही है और वैक्सीनेशन सुचारु रूप से चल रहा है।

क्या कहते हैं आंकड़े

विभाग की ओर से अब तक 11945 हेल्थ वर्कर को काेरोना से बचाव की डोज लग चुकी है। खास बात यह है कि इनमें से 7838 ने दूसरी डोज भी लगवा ली है। वहीं फ्रंटलाइन वर्कर में 4363 ने पहली और 2274 ने दूसरी डोज लगवाई है। इसके अलावा 45 से 60 वर्ष की आयु के गंभीर बीमारियों से ग्रस्त मरीजों और सामान्य लोगों में से 15994 को पहली डोज लगाई जा चुकी है। वहीं इनमें से 224 गंभीर बीमारियों के मरीजों ने दूसरी डोज भी लगवा ली है।

बढ़ाया गया दूसरी डोज का समय

अब कोविशिल्ड की दूसरी डोज पहली डोज लगने के 6 से 8 हफ्ते के दाैरान लगाई जाती है। हालांकि इससे पहले कोविशिल्ड वैक्सीन की पहली डोज के 28 दिनों बाद दूसरी डोज लगाई जाती थी। लेकिन सरकार द्वारा कोविशिल्ड की डोज पर रिसर्च के बाद इसकी पहली और दूसरी डोज के अंतराल को बढ़ाया गया था। जिले में हालांकि कोविशिल्ड और को-वैक्सीन दोनों ही वैक्सीन भेजी गई है। लेकिन अब तक यहां सिर्फ कोविशिल्ड का ही प्रयोग हुआ है। हालांकि को-वैक्सीन की भी 10 हजार डोज हिसार में भेजी गई थी। लेकिन विभाग की ओर से आर्मी और सिरसा को पांच-पांच हजार डोज लोन पर उपलब्ध करवाई गई थी।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ेंः Hisar KMP Jam live: 24 घंटे के लिए केएमपी जाम, लोगों के लिए खाने की व्यवस्था भी कर रहे किसान

 

यह भी पढ़ेंः बहन ने किया था सुसाइड का प्रयास, पता चलते ही दूसरी बहन ने लगा लिया फंदा

 

यह भी पढ़ेंः रोहतक में झोपड़ियों में आग के बाद 20 परिवार गायब, पुलिस को भी नहीं कोई भनक 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.