कृषि मंत्री बोले- कांग्रेस के एजेंडे में कभी नहीं रहा विकास, दस-दस रुपये के जारी होते थे चेक

हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कांग्रेस को घेरा। किसान आंदोलन के लिए विपक्षी दलों को जिम्मेदार ठहराया। कहा कि राजस्थान पंजाब व छत्तीसगढ़ के किसानों को सबसे कम सुविधा मिल रही है। वहां के सीएम खुद को किसान हितैषी बता रहे।

Umesh KdhyaniMon, 19 Jul 2021 08:09 PM (IST)
चरखी दादरी के बाढड़ा में किसानों को संबोधित करते कृषि मंत्री जेपी दलाल।

संवाद सहयोगी, बाढड़ा (चरखी दादरी)। प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने सोमवार को किसान आंदोलन को लेकर विपक्षी दलों पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि किसान व कृषि विकास कभी भी कांग्रेस के एजेंडे में नहीं रहा बल्कि आजादी से अब तक कांग्रेस का एजेंडा सदैव किसानों सहित देश के सभी वर्गों के शोषण का रहा है। यह बात उन्होंने गांव नांधा सीमा के पास किसानों से मुलाकात करते हुए कही। उन्होंने नहर की सफाई न होने पर अधिकारियों को से निरीक्षण रिपोर्ट तलब की। 

कृषि मंत्री ने कहा कि कांग्रेस शासन में किसान की भूमि को कौड़ियों के भाव खरीदा गया। वहीं प्राकृतिक आपदा के प्रभावितों काे दस से बीस रुपये का चेक वितरित किए गए। मौजूदा भाजपा सरकार ने इस पिछड़े क्षेत्र में नहरी पानी हो या पेयजल दोनों के लिए 12 सौ करोड़ का विशेष बजट जारी किया है। भाजपा सरकार ने क्षेत्र के लाखों बेरोजगारों को रोजगार दिलवाने व निर्माण सामग्री को सस्ता करने के लिए पहाड़ी खनन को शुरू करवाया। कृषि क्षेत्र में बंद टयूबवेल कनेक्शन शुरू करवा कर किसानों का सम्मान बढ़ाया।

मनोहर लाल किसान, नौजवान व व्यापारी के हितैषी

दलाल ने कहा कि प्रदेश के लोकप्रिय सीएम मनोहर लाल ही किसान, नौजवान कर्मचारी, व्यापारी वर्ग के सच्चे हितैषी हैं। उनके हितों के लिए कई योजनाएं संचालित की गई हैं। तीनों कृषि कानूनों को बहुत सोच समझकर व बीस सालों की रिपोर्ट के आधार पर बनाकर लागू किया। लेकिन फिर भी कोई कमी हुई है तो किसानों को केंद्र सरकार से संवाद करना चाहिए। किसानों के लिए सरकार सदैव उनके साथ खड़ी है।

आंदोलन के लिए कांग्रेस किसानों को उकसा रही

दलाल ने कहा कि कांग्रेस किसानों को आंदोलन के लिए उकसा रही है। राष्ट्रव्यापी सर्वे में सरकार की तरफ से संचालित होने वाली नीतियों में राजस्थान, पंजाब व छत्तीसगढ़ के किसानों को सबसे कम सुविधा मिल रही है। वहां के सीएम किसान हितैषी होने का दावा कर रहे हैं, जो किसानों से साथ छलावा है। केंद्र सरकार ने पीएम सम्मान योजना, सूक्ष्म सिंचाई योजना, बीज वितरण जैसी योजनाओं से किसान को लाभांवित किया वहीं शिक्षा क्षेत्र में लोकसभा क्षेत्र को आठ कालेज देकर सराहनीय कदम उठाया है।

भाकियू ने दिखाए काले झंडे

कृषि मंत्री जेपी दलाल दोपहर बाद नारनौल से धनासरी पंप हाउस पहुंचे। यहां मौजूद भाकियू अध्यक्ष धर्मपाल बाढड़ा, महासचिव हरपाल भांडवा, प्रताप हंसावास, रणधीर सिंह हुई, किसान नेता महेंद्र सिंह जेवली सहित आधा दर्जन पदाधिकारियों ने वहां पर काले झंडे दिखाकर विरोध किया। सांसदों, मंत्रियों व विधायकों को उनकी आवाज को केंद्र सरकार तक पहुंचा कर इन तीनों कृषि कानूनों को रद करवाने की मांग की। किसानों ने दावा किया कि भाजपा पूंजीपतियों के दबाव में किसान हितों को बलि चढ़ा रही है। डीएसपी अनिल डूडी व थाना प्रभारी राजकुमार ने गुस्साए किसानों को शांत किया। लेकिन काफी समय तक किसान अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी करते रहे।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.