Crime in Charkhi Dadri: मां के साथ की गाली-गलौच तो बेटे ने चाचा को उतारा मौत के घाट, तीन आरोपित गिरफ्तार

चरखी दादरी में खेत में मारपीट कर हत्या करने के मामले में बाढड़ा थाना पुलिस ने मुख्य आरोपित सहित तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्याकांड को अंजाम देने वाले मुख्य तथा एक अन्य आरोपित मृतक व्यक्ति के सगे भतीजे हैं।

Rajesh KumarSat, 18 Sep 2021 04:47 PM (IST)
चरखी दादरी में हुए हत्याकांड के पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपित।

जागरण संवाददाता, चरखी दादरी। दादरी जिले के गांव अटेला कलां में बीती 10 सितंबर को खेत में गए व्यक्ति के साथ मारपीट कर हत्या करने के मामले में बाढड़ा थाना पुलिस ने मुख्य आरोपित सहित तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्याकांड को अंजाम देने वाले मुख्य तथा एक अन्य आरोपित मृतक व्यक्ति के सगे भतीजे हैं। मुख्य आरोपित ने योजना के अनुसार अपने साथियों के साथ मिलकर अपने चाचा की हत्या की थी। पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है।

खेत में घायल अवस्था में मिला था सुंदर सिंह

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि गांव अटेला कलां निवासी सुमन ने बाढड़ा थाने में शिकायत दी थी। जिसमें उसने बताया था कि 10 सितंबर को उसका पति सुंदर सिंह एक खेत में भेड़-बकरी चरा रहा था। जब उसके ससुर दरिया सिंह ने खेत में जाकर देखा तो उसका पति सुंदर सिंह खेत में घायल अवस्था में पड़ा हुआ था। उसको काफी चोटें लगी हुई थी। सुमन ने शिकायत में बताया था कि 10 सितंबर को उसके पति सुंदर के साथ उसके बड़े भाई सतपाल की पत्नी का झगड़ा हुआ था। ऐसे में उसने सतपाल, सतपाल के बेटे अनिल, सुंदर के भाई जनपाल, जनपाल के बेटे सुखविंद्र उर्फ धोलिया पर उसके पति की हत्या करने या करवाने का शक जताया था। जिस पर बाढड़ा थाना पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया था।

मृतक सुंदर सिंह की फाइल फोटो।

दो आरोपित गांव कुब्जा नगर से गिरफ्तार

बाढड़ा थाना पुलिस ने मामले में प्रभावी कार्रवाई करते हुए 15 सितंबर को गांव कुब्जा नगर से दो आरोपितों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की। आरोपितों की पहचान गांव गोकुल निवासी अजय व दलुराम उर्फ रवि के रूप में हुई। 16 सितंबर को पुलिस ने दोनों आरोपितों को न्यायालय में पेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की।

मां के साथ की थी गाली-गलौच, इसलिए उतारा मौत के घाट : आरोपित अनिल

मामले में गहनता से जांच करते हुए बाढड़ा थाना पुलिस ने 17 सितंबर को मुख्य आरोपित गांव अटेला कलां निवासी अनिल पुत्र सतपाल को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। आरोपित अनिल को भी न्यायालय में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया गया। रिमांड के दौरान पूछताछ करने पर आरोपित अनिल ने पुलिस को बताया कि 10 सितंबर को सुबह उसके चाचा सुंदर सिंह ने उसकी मां सावित्री के साथ गाली-गलौच की थी। इसी बात को लेकर उसने व उसके चचेरे भाई सुखविंद्र उर्फ धोलिया ने सुंदर के साथ मारपीट कर सबक सिखाने की योजना बनाई थी।

लोहे की राड से किया हमला

योजना के अनुसार उसने गांव गोकुल निवासी अजय व दलुराम उर्फ रवि तथा गांव सातौर निवासी आशीष, राहुल, साहिल को फोन कर बुला लिया। इस दौरान अजय व दलुराम उर्फ रवि कार लेकर आए थे। आरोपित अनिल ने बताया कि अजय, रवि, आशीष, राहुल व साहिल उसे गांव से बाहर मिले थे तथा सुखविंद्र उर्फ धोलिया ने उसे लोहे की राड दी थी। उसने बताया कि सुखविंद्र उर्फ धोलिया ने चाचा सुंदर सिंह की रेकी की थी और उसे बताया था कि सुंदर सिंह एक खेत में भेड़-बकरी चरा रहा है। जिस पर योजना अनुसार उन्होंने अजय, रवि, आशीष, राहुल व साहिल के साथ मिलकर सुंदर सिंह को चोट मारकर हत्या कर दी थी।

वारदात में प्रयोग की गई कार बरामद

पुलिस द्वारा आरोपित अजय के पास से वारदात में प्रयोग की गई स्वीफ्ट कार व आरोपित अनिल से लोहे की राड बरामद कर ली गई है। मामले में पुलिस द्वारा आरोपित सुखविंद्र उर्फ धोलिया निवासी अटेला कलां को 14 सितंबर को ही गिरफ्तार कर पूछताछ की जा चुकी है।

गहनता से जांच जारी : प्रवक्ता

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस द्वारा मामले में गहनता से जांच की जा रही है। पुलिस टीम के द्वारा गांव सातौर निवासी आरोपित आशीष, राहुल, साहिल की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.